मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों से मुरली मनोहर जोशी आहत, संघ प्रमुख से की शिकायत!

मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों से मुरली मनोहर जोशी आहत, संघ प्रमुख से की शिकायत!

Posted by

भारतीय जनता पार्टी में अब अन्दर से चल रहे विद्रोह को रोकना मुशील हो गया है, यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी के बाद बीजेपी के उच्च नेता मुरली मनोहर जोशी ने मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों सहित अन्य मामलों में संघ को पत्र लिखा कर अपनी नारजगी ज़ाहिर की है\

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और अटल अडवाणी जोड़ी के तीसरे साथी डॉ मुरली मनोहर जोशी ने भोपाल पहुंचकर संघ प्रमुख मोहन राव भागवत से मुलाकात कर उन्हें एक पत्र भी सौंपा है। बताया जा रहा है कि अपने अनुभवों के आधार पर जोशी ने संघ प्रमुख के सामने सरकार के नाकामियों का पुलिंदा रखा है।

सरकार की आर्थिक नीति को लेकर जोशी भी आहत बताए जा रहे हैं। भागवत से जोशी की मुलाकात को स्वीकार करते हुए दत्तात्रय होसबोले ने कहा है कि वे भागवत से मिले जरूर थे। लेकिन लिखित शिकायतों के सवाल पर होसबोले ने कहा कि जोशी यहां अलग कारण से आए होंगे। वे भाजपा में हैं अगर कोई बात होगी तो वहां रखेंगे। मगर सूत्र बताते हैं कि पत्र के जरिए जोशी ने भागवत के सामने सरकार की नाकामियों का पुलिंदा पेश किया है।

क्या है अमित शाह के पुत्र जय शाह के खिलाफ मामला

एक खबरिया साइट ने दावा किया था कि जय शाह ने एक ही साल में अपने बिजनेस टर्नओवर को 50,000 से बढ़ाकर 80 करोड़ किया है। लेकिन भाजपा ने दावे को गलत बताया है। बल्कि जय ने खबर चलाने वाली वेबसाइट के खिलाफ 100 करोड़ का मानहानी का केस कर दिया है। मगर विपक्ष को भाजपा के खिलाफ एक बड़ा सियासी औजार हाथ लग गया है।