रेबीज़ को मिटाने का संकल्प!

रेबीज़ को मिटाने का संकल्प!

Posted by

मुख्य रूप से कुत्ते के काटने से होने वाली बीमारी रेबीज़ की वजह से होने वाली मौतों को रोकने के लिए एक बड़ा अभियान चलाया गया है.

ये लक्ष्य पूरी दुनिया में साल 2030 तक हासिल किया जाना है.

ये ऐलान विश्व रेबीज़ दिवस के मौक़े पर किया गया.

इस योजना को लागू करने का काम विश्व स्वास्थ्य संगठन, जानवरों के स्वास्थ्य के लिए काम कर रहे विश्व संगठन, खाद्य और कृषि संगठन और Global Alliance for Rabies Control कर रहे हैं.

इस योजना को नाम दिया गया है – Zero by 30: The Strategic Plan. इस योजना का उद्देश्य कुत्ते के काटने से होने वाली बीमारी रेबीज़ को होने से रोकने के लिए बहुत मुस्तैदी से काम करना है.

साथ ही इंसानों और जानवरों के स्वास्थ्य के बारे में जागरूकता बढ़ाने के बारे में भी ध्यान दिया जाएगा.

डॉक्टरों का कहना है कि रेबीज़ को होने से पूरी तरह रोका जा सकता है.

रेबीज़ की वजह से हर साल दुनिया भर में क़रीब 60 हज़ार लोगों की मौत हो जाती है.

इन चार संगठनों द्वारा जारी एक वक्तव्य में कहा गया है कि आज पूरी दुनिया में रेबीज़ को पूरी तरह ख़त्म करने के लिए समुचित हुनर, ज्ञान, टैक्नोलॉजी और दवाएँ मौजूद हैं.

रेबीज़ को एक ऐसी बीमारी कहा जाता है जो ग़रीबी में और स्वास्थ्य के बारे में लापरवाही बरतने की वजह से होती है.

इस वजह से रेबीज़ से प्रभावित होने वाले लोग भी सबसे ज़्यादा ग़रीब ही होते हैं.