नागोर के सपूत नवाब ख़ान को मिला पुलिस सेवा मे डीजीपी शेखावत के हाथो उत्तम सेवा चिन्ह

नागोर के सपूत नवाब ख़ान को मिला पुलिस सेवा मे डीजीपी शेखावत के हाथो उत्तम सेवा चिन्ह

Posted by

।अशफाक कायमखानी।जयपुर।नागोर जिले मे सत्तावनी के नाम से विख्यात डीडवाना तहसील के गावं सूदरासन के साधारण कायमखानी परीवार के वतन की सीमा पर रक्षा कर दिल को सुकून महसूस करने वाले एक फौजी हासम खां नामक कर्तव्यनिष्ठ, इमानदाराना व हक्रप्रस्ती पर हर हाल मे जीवन जीने वाली शख्सियत के घर जन्म लेने वाले नवाब खान ने 1990 मे पुलिस सेवा मे सब इंसपेक्टर SI के पद पर जोईन करके हमेशा हक्र व ईमानदारी के अलावा समय की पाबंदी के साथ पुलिस विभाग मे सेवा करने का परीणाम ही है कि टोंक मे पुलिस विभाग की तरफ से आयोजीत एक कार्यक्रम मे डायरेक्टर जनरल आफ पुलिस, राजस्थान DGP अजीत सिंह शेखावत ने उन्हे आदम्य साहस व सराहनीय कार्य करने पर “उत्तम सेवा चिन्ह” अवार्ड देकर सम्मानीत किया है।

सीकर-नागोर स ड़क पर दोनो जिलो की सीमा पर मोजूद डीडवाना तहसील के गावं सूदरासन निवासी नवाब खान बाल्यकाल से ही चंचल व पढने मे होशियार होने के कारण वो शुरु से ही परीवार व गावं वासियो के चहते थे। लेकिन 1980 मे अचानक पिता का साया सिर से उठ जाने के बावजूद बडे भाई अल्लादीन खान व खानदान की मदद से पढाई को जारी रखकर नवाब खान ने पुलिस विभाग की सब इंसपेक्टर की परीक्षा मे सफल होकर 1990 मे सरकारी सेवा मे जाने के बाद आज तक अपनी डयूटी की जिम्मेदारी व सोसायटी के प्रति अपने कर्तव्य मे कभी किसी तरह की चूक नही की है।

नवाब खान अपने पुलिस विभाग के सेवा काल मे विभिन्न थानो मे थानेदार रहते हुये हमेशा अपनी डयूटी को पावर ना मानते हुये केवल कर्तव्य मानते हुये सेवा के नियमो का पूरी तरह पालन करने व उसूलो के साथ साथ इंसानीयत को सर्वोपरी बनाये रखा है। पिछले दिनो नवाब खान विभागीय तरक्की पाकर उप पुलिस अधीक्षक पद पर चयनीत होने के बाद विभिन्न जगह पोस्टेड रहते हुये वर्तमान मे दौसा जिले के बांदीकुई सर्किल मे उप पुलिस अधीक्षक Dy.SP पद पर पोस्टेड है। नवाब खान के दो पुत्र है।जिनमे छोटा पुत्र इरफान खान मेडीकल MBBS की पढाई कर रहा है। तो बडा बेटा सिविल मे बी.टेक करने के बाद अब दिल्ली मे भारतीय प्रशासनीक सेवा परीक्षा की तैयारी कर रहा है। वेसे बेटे मनफूल खान ने असिसटेंट कमांडेट पद के लिये होने वाली परीक्षा को भी पास कर लिया है।

कुल मिलाकर यह है कि नागोर जिले मे कायमखानी बीरादरी की सत्तयानी के नाम से मशहूर डीडवाना क्षेत्र की यह भुमि हमेशा से ही जरखेज रही है। इस पावन धरती से आर्मी, सिविल सेवा, न्यायीक सेवा के अलावा अन्य क्षेत्र मे कायमखानी बीरादरी के अनेक आला शख्सियत बतोर अधीकारी रहे है।जिनमे सूदरासन के पास के गावं के कर्नल अलीम खां के बेटे कुवंर सरवर खान पुलिस सेवा मे इंसपेक्टर जनरल आफ पुलिस, राजस्थान IGP व झाड़ोद गावं के कमांडैंट मरहूम बक्सू खां के बेटे भंवरु खां राजस्थान हाई कोर्ट मे जस्टीस रह चुके है। उक्त दोनो आला शख्सियतो के अलावा अनेक लोग फौज व सीविल मे आला अधीकारी रह चुके है। एवं अनेक आज भी सेवा मे कार्यरत है।