#पायल से #आरिफ़ा बनी युवती को अदालत ने भेजा शौहर के घर!

#पायल से #आरिफ़ा बनी युवती को अदालत ने भेजा शौहर के घर!

Posted by

जयपुर।इश्क़ का रुतबा इश्क़ ही जाने, इश्क़ और मुश्क़ छिपाये नहीं छिपते और न ही आशिक़ किसी की परवाह करते हैं,,,,मुहब्बत की हो तो जानो,,,,तुमने पी हो तो जानो,,,,जिसने मुहब्बत ही न की हो वह क्या समझेगा इश्क़ क्या होता है|

पायल से आरिफा बनी एक युवती को आज कोर्ट ने सुनवाई के बाद कड़ी सुरक्षा में उसके शौहर के घर भिजवा दिया। इस दौरान कोर्ट के बाहर काफी हंगामा हुआ।

राजस्थान के इस चर्चित प्रकरण को लेकर राजस्थान हाईकोर्ट की जोधपुर खंडपीठ में दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण याचिका पर आज सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान पुलिस ने कड़ी सुरक्षा के बीच युवती पायल उर्फ आरिफा को भी कोर्ट में पेश किया। जहां सरकार की ओर से धर्म परिर्वतन पर अपना जवाब पेश किया गया। सुनवाई के दौरान युवती ने नारी निकेतन और अपने माता—पिता के घर जाने से इंनकार कर दिया।

इस पर कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिए कि युवती को उसकी इच्छानुसार पुलिस सुरक्षा के बीच जहां वह चाहती है पहुंचा दिया जाए।

कोर्ट में जैसे ही इस मामले में सुनवाई पूरी हुई तो विभिन्न संगठनों ने हाईकोर्ट परिसर में हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान मुख्य गेट पर जमकर नारेबाजी की और अपना विरोध दर्ज करवाया।

इसके बाद पुलिस ने कड़ी सुरक्षा के बीच युवती को हाईकोर्ट के पीछे से बाहर निकाला और उसे उसके पति के घर पहुंचा दिया। मामले की गंभीरता को देखते हुए एहतियात के तौर पर युवक के घर के आसपास भी पुलिस के जवान तैनात किए है। वहीं प्रतापनगर थाना पुलिस भी इलाके में नियमित रूप से गश्त कर रही है। जिससे किसी भी तरह की अप्रिय घटना नहीं हो।

युवती को उसके पति के घर भेजने के बाद एकबारगी प्रतापनगर थाने के सामने लोगों का जमावड़ा लग गया। एहतियात के तौर पर थाने के बाहर भी पुलिस के जवान तैनात किए गए। पुलिस की समझाइश के बाद मामला शांत हो गया।

कोर्ट में युवती को उसकी इच्छानुसार भेजने के निर्देश के बाद हाईकोर्ट परिसर में लोगों ने हंगामा किया और युवक के वकील के साथ दुर्व्यवहार किया। दुर्व्यवहार के बाद वकीलों ने भी घटना के विरोध में हाईकोर्ट और अधीनस्थ न्यायालयों में आधे दिन का कार्य बहिष्कार कर घटना का विरोध दर्ज करवाया।