मां-बाप को मम्मी_डैडी बोलना ‘बीमारी’ है : शिवराज सिंह चौहान

मां-बाप को मम्मी_डैडी बोलना ‘बीमारी’ है : शिवराज सिंह चौहान

Posted by

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज कल अपने बयानों को लेकर खूब चर्चा बटोर रहे हैं, अभी हाल ही में उन्होंने रानी पद्मावती को ‘राष्टमाता’ घोषित कर दिया था|

राष्ट्रगीत वंदे मातरम के सामूहिक गान कार्यक्रम में शिवराज सिंह चौहान ने एक बेतुका बयान देते हुए कहा कि पिता को ‘डैड’ कहा जाना अंग्रेजी के मोह से जुड़ी एक विकृति है।

मां-बाप को ‘मम्मी-डैडी’ बोलना एक विकृति है और इसे बदलने की जरूरत है। ये दिव्य ज्ञान दिया है मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने। शिवराज सिंह ने पिछले दिनों मलिक मोहम्मद जायसी की रचना की काल्पनिक पात्र रानी पद्मावती को राष्ट्रमाता भी घोषित किया है।

राष्ट्रगीत ‘वंदे मातरम’ के सामूहिक गान कार्यक्रम में शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि पिता को ‘डैड’ कहा जाना अंग्रेजी के मोह से जुड़ी एक विकृति है। उन्होंने इसकी निंदा करते हुए कहा कि देश में ‘मम्मी-पापा’ को माता-पिता कहा जाना चाहिए। उन्होंने कहा, “आजकल माता-पिता की जगह मम्मी-पापा का चलन कुछ ज्यादा हो गया है।

अंग्रेजी के मोह में हम भी कई बार पिता को ‘डैड’ कह देते हैं।”उन्होंने अपने बचपन का किस्सा सुनाते हुए कहा, ‘मेरे एक दोस्त के पिताजी का स्वर्गवास हो गया था और दोस्त अंग्रेजी प्रेमी था। दोस्त ने अंग्रेजी में मुझसे कहा कि उनके पिता ‘डेड’ हो गए। ‘डेड’ शब्द की आवाज ‘डैड’ की तरह आती है।’ उन्होंने कहा, “हमारे लिये माता-पिता पूजनीय हैं।

इस कार्यक्रम में शिवराज ने एक बार फिर चित्तौड़गढ़ की रानी पद्मिनी को एक बार फिर ‘राष्ट्रमाता’ करार दिया और कहा कि देश के स्वाभिमान की रक्षा के लिए अपना जीवन अर्पित करने वाले महापुरुषों का हमेशा सम्मान किया जाना चाहिए।