शरीर को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूरी करें यह वयायाम

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूरी करें यह वयायाम

Posted by

सेक्स एक ऐसा सब्जेक्ट है जिसके सम्बन्ध में स्कूल में भी बहुत कम पढ़ाया जाता है, आज कल सेक्स के सम्बन्ध में लोग स्कूल से अधिक गूगल आदि साइट्स पर जान लेते हैं फिर भी सेक्स का पूरा और सही ज्ञान नहीं मिल पाता है, झिझक के कारण इस सम्बन्ध में आदमी किसी और के सामने अपनी समस्याओं का कहता भी नहीं है|

जाने सुरक्षित सेक्स के सम्बन्ध में कुछ उपयोगी बातें

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए वयायाम बहुत आवशयक होता है, वयायाम के आलावा शरीर की मालिश करने से सेहत अच्छी बानी रहती है, मालिश या मसाज के लिए आज के समय में बहुत से साधन उपलब्ध हैं, बड़े शहरों में मसाज पार्लर होते हैं जहाँ कई प्रकार के मसाज किये जाते हैं, छोटे शहरों में भी मालिश करने वाले लोग आसानी से मिल जाते हैं|

क्या आप जानते हैं कि हमारे शरीर में कई वासनोत्तेजक (कामुक्ता) पार्ट होते है और जिन्हें मसाज के बाद शरीरिक और मानसिक स्तर पर एनर्जी मिलती है। नियमित मालिश से आपको पीठ और गर्दन के दर्द में आराम पड़ सकता है, लेकिन इरोटि मसाज आपको एक कदम आगे ले जाती है

इस दौरान शरीर के अधिकांश हिस्सों में तेल से मसाज की जाती है जो धीरे-धीरे यौन दबाव को जगाता है। इरोटिक मालिश से महिलाओं के स्तन और पुरुषों के जननांगों के जोड़ों में कामुक उ त्तेजना बढ़ाते हैं। ऐसा नहीं है ये थेरेपी सिर्फ कामेच्छा बढ़ाने में मददगार है, बल्कि इससे कई स्वास्थ्य लाभ भी मिलते हैं।

इसके बाद सिर्फ आलस और नकारात्मकता ही दूर नहीं होती ख्, बल्कि आपको शरीरिक और मानसिक रुप से आराम मिलता और शरीर में एक नई एनर्जी का संचार होता है।

यह मांसपेशियों और हड्डियों को पुनर्जीवित करने में लाभकारी है। इरोटिक मालिश से मन ताजगी महसूस करता है, जबकि तांकत्रक मालिश पूरे शरीर में एक नई ऊर्जा का संचार करती है।

इसके अलावा भी इरोटिक मसाज के फायदे हैं..

– तनाव से मुक्ति

– मनोवैज्ञानिक लाभ

– रक्त के प्रवाह को नियंत्रित करता है

– मांसपेशियों को आराम

– उर्वरता को बढ़ावा देता है

– संबंधों का मजबूती मिलती है
इस मालिश के बाद युगल जोड़े शीरिरक आराम और एक-दूसरे के प्रति प्यार महसूस करेंगे।