Happy Birthday : पद्मिनी कोल्हापुरे के 50 वें जन्मदिन पर जानिए उनसे जुडी बातें

Happy Birthday : पद्मिनी कोल्हापुरे के 50 वें जन्मदिन पर जानिए उनसे जुडी बातें

Posted by

Sagar PaRvez
============
बॉलीवुड में 70 और 80 के दशक में कदम रखने वाली पद्मिनी कोल्हापुरे ने अपने अभिनय के बदौलत बेहद जल्द लोगों का दिल जीत लिया था। आज पद्मिनी का 50 वां जन्मदिन हैं। इस खास मौके पर हम उनके ज़िन्दगी से जुडी खुछ खास बाते आपको बताने जा रहे हैं। पद्मिनी के ज़िन्दगी से जुडी यह बातें आपने शायद ही पहले कभी सुनी होंगी।

जन्म:
खुबसूरत अदाकारा पद्मिनी कोल्हापुरे का जन्म 1 नंवबर, 1965 को महाराष्ट्रियन परिवार में हुआ था। उनके पिता पंढ़रीनाथ कोल्हापुरे शास्त्रीय संगीत के गायक थे, जबकि मां एक एयरलाइंस में काम करती थीं। लता मंगेशकर के पिता दीनानाथ मंगेशकर उनके रिश्तेदार थे। आज बॉलीवुड में अहम जगह बनानेवाली श्रद्धा कपूर की वो मौसी भी हैं।

बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट बॉलीवुड में रखा कदम:
पद्मिनी को बचपन से फिल्मो में अभिनय करने का शौक था।उन्होंने अपने बचपन में ही फिल्म ‘सत्यम शिवम सुन्दरम’ के ज़रिये बॉलीवुड में कदम रखा। इस फिल्म में उन्होंने छोटा किरदार निभाया था। इसके बाद ‘साजन बिना ससुराल’ और ‘थोड़ी सी बेवफाई’ जैसी फिल्मों में भी उन्होंने काम किया।
80 के दशक में बनी पहचान:

1980 में आई फिल्म ‘इंसाफ का तराजू’ से उनकी असल पहचान बनीं। 1982 में पद्मिनी ऋषि कपूर के साथ प्रेम रोग में दिखी। इस फिल्म में उनकी भूमिका काफी अहम थी और लोगों ने इसे सराहा भी। इन दोनो फिल्मो के लिए उन्हें इनाम भी मिले पर सबसे बड़ा इनाम था वो फैन्स के दिलों को जीतने में कामयाब हो गयीं थीं।

इसके बाद 82 और 83 में उन्होंने मिथुन चक्रवर्ती के साथ भी काम किया। मिथुन चक्रवर्ती के साथ आई उनकी फिल्म ‘प्यार झुकता नहीं’ हिट साबित हुई। इन दोनों की जोड़ी भी काफी हिट रही।

पद्मिनी की पर्सनल लव स्टोरी:
पद्मिनी की पर्सनल लव स्टोरी भी काफ़ी इंट्रेस्टिंग है। आप जानकर हैरान हो जाएँगे की पद्मिनि ने उस ज़माने में भाग कर शादी की थी। प्रोड्यूसर प्रदीप शर्मा के साथ उन्होंने भागकर शादी की थी। 1986 में दोनों की मुलाकात हुई थी और इश्क हो गया था। पर पद्मिनी के घरवालों को उनका रिश्ता मंज़ूर नहीं था। आखिर एक दिन पद्मिनी प्रदीप के साथ भाग गईं और 14 अगस्त 1986 को दोनों ने शादी कर ली।

विवादों से भी नाता जुड़ा:
बॉलीवुड में पद्मिनी का नाम कई बार विवादों में भी आया। पद्मिनी काफी बेबाक थीं एक बार 80 के दशक में प्रिंस चार्ल्स भारत आए थे। उस वक़्त प्रिंस चार्ल्स ज़ेड सिक्युरिटी से घिरे थे। बेहद कड़ी सुरक्षा के बावजूद पद्मिनी ने उनके साथ ऐसा किया की सब हैरान रह गए।पद्मिनिने सिक्युरिटी को ताक पर रखते हुए प्रिंस को किस कर दिया था। यह किस्सा कई दिनों तक चर्चा का विषय बना रहा।

फिल्मफेयर अवार्ड
सबसे पहले पद्मिनी ने 1980 में ‘इंसाफ का तराजू फिल्म’ के लिए सपोर्टिंग रोल के लिए फिल्मफेयर मिला फिर 1982 में ‘प्रेम रोग’ के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का अवार्ड मिला 1983 और 85 में भी उन्हें ‘सौतन’ और ‘प्यार झुकता नहीं’ फिल्म के लिए फिल्म फेयर मिला।
वैसे तो पद्मिनी का फ़िल्मी करियर छोटा रहा पर उन्होंने इस छोटे करियर में भी अपनी खास जगह बनाई यह वाकई काबिले गौर बात है।