अमेरिका में तेज़ी से फैल रहे इस्लाम मज़हब की वजह जानिये : देखें वीडियो

अमेरिका में तेज़ी से फैल रहे इस्लाम मज़हब की वजह जानिये : देखें वीडियो

Posted by

अमेरिका में तेज़ी से फैल रहे इस्लाम मज़हब की वजह का हुआ खुलासा, हर साल इतने लोग बन जाते हैं मुसलमान….
अमेरिका को जहाँ एक तरफ गंदे फैशन को अपनी तहजीब समझता है वहीँ दूसरी तरफ वहां इस्लाम बहुत तेजी से फैल रहा है. इस बात का खुलासा एक मैगजीन ने अपनी रिपोर्ट में किया है.रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका में इस्लाम के अपनाने वालों का कोई अंदाजा नहीं लगाया जा सकता मगर यह संख्या हर साल लाखों में पहुच जाती है और इस संख्या में हर साल इज़ाफ़ा हो रहा है.
इस्लाम के नेगेटिव प्रचार ने किया लोगों को मजबूर…
इस्लाम के खिलाफ हुए दुष्प्रचार ने लोगों को इस्लाम को करीब से जानने के लिए मजबूर कर दिया. जिसके वजह से मुसलमानो के प्रति नफरत बड़ी है उतना ही लोगो के अंदर इस्लाम को जानने और पड़ने का शौक लोगों के अंदर बड़ा है.इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है की इस्लाम बहुत तेजी से फैल रहा है. ऐसा नहीं है की लोगों के लिए इस्लाम कुबूल करने के लिए कुछ दिया गया है हाल ही में इस्लाम को अपनाने वाले लोगों से पूछा गया तो उन्होंने इस्लाम को एक अच्छा मजहब बताया.
अपनी मर्ज़ी से कर रहे हैं कबूल…
रिपोर्ट में कहा गया है कि इस्लाम को अपनाने के लिए उन्हें किसी ने कोई जोर जबरजस्ती नहीं की न मजबूर किया गया उन्होंने अपनी मर्जी से इस्लाम की जानकर इस्लाम को अपनाया है. आपको बता दें कि अमेरिका में अधिकतम लोग पढ़े लिखे होते हैं.
**************

Sikander Kaymkhani
==============
इस्लाम में ग़ुस्ल करने (नहाने) का सही तरीका, जाने ग़ुस्ल की नियत कैसे करें!
सिर्फ नाहा लेने से इन्साफ पाक साफ़ नहीं होता है बल्कि उनके लिए एक मख़सूस तरीक़ा बताया गया है जिसे हम ग़ुस्ल कहते हैं!
ग़ुस्ल की नियत…
नीयत करता हु मैं नहाने की जनाबत के ग़ुस्ल से नापाकी दूर करने के लिए!
जुमा के ग़ुस्ल की नीयत…
‘नवैतो-अन-अग-तसीला मीन ग़ुस्लल जुमअते-ले-राफेइल”
तर्जुमा- नीयत करता हु मैं नहाने की जुमअ के ग़ुस्ल से नापाकी दूर करने की!
ग़ुस्ल का तरीका…
जब ग़ुस्ल करने का इरादा हो तो पहले दोनों हाथ गट्टो तक धोवे फिर इस्तंजा करे और ज़ाहिरी नापाकी किसी जगह लगी हो तो उसे धो डाले फिर वुज़ू करते है! खूब मुंह भर कर कुल्ली करे रोज़ा न हो तो गरारा भी कर ले और नाक मैं खूब ख्याल कर के पानी डाले अगर पत्थर या पक्की ज़मीन पर ग़ुस्ल करे दोनों पाँव भी इसी वुज़ू मैं धो ले वुज़ू के बाद थोड़ा सा पानी ले कर सारे बदन को, फिर तीन मर्तबा सर पर पानी डाले और उसके बाद दाहिने कंधे पर फिर बायें कंधे पर तीन बार पानी डाले और हर जगह पानी पंहुचा देवे, बाल बराबर भी कोई जगह सुखी रह जाएगी तो ग़ुस्ल न होगा, फिर इस जगह से हट जावे और पाँव धो लेवे, अगर वुज़ू के वक़्त पाँव धो लिए थे तो अब पाँव धोने की हाजत नही है!
मसला- अगर ग़ुस्ल के बाद याद आये के फला जगह पानी नही पंहुचा था तो फिर से पूरा ग़ुस्ल करने की जरुरत नही बल्कि ख़ास उसी जगह को धोले अगर कुल्ली करना या नाक मैं पानी डालना भूल जाए तो ख़ास कमी को पूरा करने से ग़ुस्ल पूरा हो जायेगा!
मसला- ग़ुस्ल करते वक़्त जो वुज़ू किया है इससे नमाज़ पड़ सकते है!