तीन पाकिस्‍तानी फौजी ढेर, LOC पार कर पाक से लिया जवानों की शहादत का बदला

तीन पाकिस्‍तानी फौजी ढेर, LOC पार कर पाक से लिया जवानों की शहादत का बदला

Posted by

File Pic.

भारत की ओर से की गई इस कार्रवाई का उद्देश्य यह संदेश देना था कि अगर पाकिस्तान से भारत पर हमला होगा, तो उसे उसी की भाषा में उचित जवाब दिया जाएगा।

भारतीय सेना के विशेष दस्ते ने एक बार फिर सीमा पार करके साथियों की शहादत का बदला लिया है। सेना के विशेष दस्ते से ताल्लुक रखने वाले 10 जवान सोमवार रात जम्मू-कश्मीर के पुंछ सेक्टर में लाइन ऑफ कंट्रोल पार करके गए और तीन पाकिस्तानी जवानों को मौत के घाट उतार दिया। न्यूज चैनल एनडीटीवी ने कहा है कि वरिष्ठ अधिकारियों ने इस ऑपरेशन की पुष्टि की है। भारत ने यह वार ऐसे वक्त में किया है, जब शनिवार को पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम ने घात लगाकर हमला किया, जिसमें भारतीय सेना के एक मेजर समेत 4 जवानों को अपनी शहादत देनी पड़ी। रिपोर्ट के मुताबिक, सूत्रों ने इस ऑपरेशन को ‘स्थानीय स्तर का ऑपरेशन’ करार दिया है। इसे क्षेत्र में तैनात एक स्थानीय एरिया कमांडर ने इस मिशन को अंजाम दिया है। हालांकि, सेना से जुड़े सूत्रों ने इस हमले को ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ का नाम देने से इनकार किया है।

भारतीय सेना की ओर से अंजाम दिए गए इस ताजा हमले में एक खास पाकिस्तानी चौकी को निशाना बनाया गया। ऑपरेशन के लिए लक्ष्य बेहद ‘सोच समझकर’ तय किया गया। बेहद खास मकसद को हासिल करने के लिए इस मिशन को अंजाम दिया गया। मिशन में किसी भी जवान को चोट नहीं आई है। हालांकि, ऑपरेशन से जुड़ी विस्तृत जानकारी अभी तक सामने नहीं आई है।

सूत्रों के हवाले से एनडीटीवी ने बताया है कि इस ऑपरेशन का मकसद दुश्मन को साफ संदेश देना था। संदेश यह कि अगर पाकिस्तानी सैनिक हमारे जवानों को निशाना बनाएंगे तो भारत भी चुप नहीं बैठेगा। बता दें कि शनिवार को पाकिस्तानी सैन्य टुकड़ी लाइन ऑफ कंट्रोल पार करके करीब 400 मीटर भारतीय सीमा में घुस आई थी। इसके बाद उन्होंने भारतीय जवानों पर घात लगाकर हमला किया। कायराना ढंग से इस हमले को अंजाम देने वालों में पाकिस्तानी बॉर्डर ऐक्शन टीम के सदस्य शामिल थे। इस पाकिस्तानी सैन्य टुकड़ी में सेना के जवानों के अलावा आतंकी भी होते हैं। इनका मकसद सीमा के इलाकों में गश्त कर रहे भारतीय जवानों को निशाना बनाना होता है।

भारतीय सेना की ओर से अंजाम दिए गए इस ताजा हमले में एक खास पाकिस्तानी चौकी को निशाना बनाया गया। ऑपरेशन के लिए लक्ष्य बेहद ‘सोच समझकर’ तय किया गया। बेहद खास मकसद को हासिल करने के लिए इस मिशन को अंजाम दिया गया। मिशन में किसी भी जवान को चोट नहीं आई है। हालांकि, ऑपरेशन से जुड़ी विस्तृत जानकारी अभी तक सामने नहीं आई है।

सूत्रों के हवाले से एनडीटीवी ने बताया है कि इस ऑपरेशन का मकसद दुश्मन को साफ संदेश देना था। संदेश यह कि अगर पाकिस्तानी सैनिक हमारे जवानों को निशाना बनाएंगे तो भारत भी चुप नहीं बैठेगा। बता दें कि शनिवार को पाकिस्तानी सैन्य टुकड़ी लाइन ऑफ कंट्रोल पार करके करीब 400 मीटर भारतीय सीमा में घुस आई थी। इसके बाद उन्होंने भारतीय जवानों पर घात लगाकर हमला किया। कायराना ढंग से इस हमले को अंजाम देने वालों में पाकिस्तानी बॉर्डर ऐक्शन टीम के सदस्य शामिल थे। इस पाकिस्तानी सैन्य टुकड़ी में सेना के जवानों के अलावा आतंकी भी होते हैं। इनका मकसद सीमा के इलाकों में गश्त कर रहे भारतीय जवानों को निशाना बनाना होता है।