दिल्ली में अगले साल से मिलेगी 25 फ़ीसद सस्ती बिजली!

दिल्ली में अगले साल से मिलेगी 25 फ़ीसद सस्ती बिजली!

Posted by

दिल्ली को जल्द ही विंड एनर्जी मिल सकती है. जल्द ही आपको विंड एनर्जी से जगमग दिल्ली नजर आएगी. इतना ही नहीं विंड एनर्जी बिजली के दूसरे साधनों के मुकाबले सस्ती मिलेगी. विंड एनर्जी आने के बाद से दिल्ली में बिजली 25 प्रतिशत तक सस्ती होने की उम्मीद है.

जानकारों की मानें तो समुद्र के किनारे हवा से बनने वाली बिजली को विंड एनजी कहा जाता है. दिल्ली के लिए 150 मेगावॉट विंड एनर्जी खरीदे जाने की उम्मीद है. 100 मेगावाट बीएसईएस राजधानी और 50 मेगावाट बीएसईएस यमुना खरीदेगी.

जानकारों का कहना है कि विंड एनर्जी प्रोजेक्ट गुजरात या तमिलनाडु या अन्य समुद्री इलाकों में लगाए जाएंगे. हाल ही में विंड एनर्जी की दरों में कमी आई है. जिसके चलते बिजली कंपनी ने रुचि दिखाई है. इससे पहले भी कंपनी ने मई में पावर ट्रेडिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड से 100 मेगावाट बिजली खरीदने के लिए समझौता किया था. कंपनी को 3.46 रुपए प्रति यूनिट की दर से 25 साल तक विंड एनर्जी प्रोजेक्ट से पैदा बिजली मिलेगी.

यह बिजली दिल्लीवालों को 18 नवंबर 2018 से मिलनी शुरू होगी. कंपनी ने आरपीओ (रिन्युएबल पावर ऑब्लिगेशन) के लक्ष्य को पूरा करने के लिए विंड एनर्जी से पैदा बिजली खरीदने की तैयारी की है. विंड एनर्जी एक्सपर्ट बताते हैं कि इससे पहले विंड एनर्जी का रेट 3.46 रुपए प्रति यूनिट से घटकर 2.64 रुपए प्रति यूनिट हो गया था. फिर भी बिजली कंपनियों ने बिजली खरीद में रुचि नहीं ली थी.

कोयला आधारित बिजली संयंत्रों के विपरीत विंड एनर्जी प्लांट पॉल्यूशन फ्री होती है. गुजरात, तमिलनाडु, राजस्थान, एमपी, आंध्रप्रदेश के समुद्री इलाकों में विंड एनर्जी का उत्पादन होता है. ट्रांसमिशन लाइन के जरिए ये बिजली दिल्ली लाई जाएगी. एनर्जी लॉ एक्सपर्ट राजसिंह निरंजन कहते हैं कि विंड एनर्जी ग्रीन एनर्जी के अंदर आती है.