पहले इसके नाक के बाल कटवाओ

पहले इसके नाक के बाल कटवाओ

Posted by

Izhar Sayyed Arif
===============
एक बार किसी पत्रकार ने राजकुमार से पूछा के आपकी नज़र में सबसे अच्छा एक्टर कौन है तो उन्होंने जवाब दिया ” जितेंद्र ”
ये सुनकर पत्रकार को आश्चर्य हुआ होगा लेकिन तभी राजकुमार ने ठहाका लगाते हुए कहा ” क्योंकि वो खुद कहता है के मुझे एक्टिंग नहीं आती”
जितेंद्र को बॉलीवुड में में “जंपिंग जितेंद्र” के अलावा ” चॉकलेटी हीरो ” भी कहा जाता था . उन्होंने फिल्म ” गीत गया पत्थरों ने ” ( १९६४ ) से फिल्मो में क़दम रखा . उनकी इस पहली फिल्म की हेरोइन थी ” राजश्री” जो फिल्म ” अराउंड दा वर्ल्ड ” के बाद फिल्मे छोड़कर ” ग्रेग चैपमैन ” से विवाह करके लॉस एंजलिस में बस गयी थी. जितेंद्र को जिस दिन पहली बार कैमरा फेस करना था वो सीन राजश्री के साथ था. राजश्री जब कैमरे के सामने जितेंद्र के पास पहुंची तो उन्हें देखकर बड़ी ज़ोर से मराठी में चिल्लाई और वापिस जाकर अपनी कुर्सी पर बैठ गयी . मराठी के जानकारों ने बताया के वो कह रही है के ” इस आदमी के नाक में तो लम्बे लम्बे बाल है जो नाक से बाहर निकले हुए है, पहले इसके नाक के बाल कटवाओ.” खैर फ़ौरन नाई बुलवाकर उनकी नाक् के बाल साफ कराये गए उसके बाद शूटिंग शुरू हुई .”

1964 से लेकर ओम शांति ओम ( 2007 ) जिसमे उन्होंने अभिनय किया कुल 53 में उन्हें लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड्स तो कई मिले मगर ” फिल्मफेयर “अवार्ड ” एक भी नहीं मिला लेकिन उनकी सफलता पर कोई प्रश्नचिन्ह नहीं लगाया जा सकता .
वो बेहद सफल थे मगर श्रेष्ठ नहीं .