लड़कियों की इज़्ज़त करो ऐसा ना हो कि क़र्ज़ तुम्हारी बहन बेटी उतारे

लड़कियों की इज़्ज़त करो ऐसा ना हो कि क़र्ज़ तुम्हारी बहन बेटी उतारे

Posted by

Kavita Singh
===============
जब स्कूल मेें थी तो एक लड़के ने कहा -मेरी गर्लफ्रेंन्ड बन जाओ
कॉलेज गई तो कहा आईटम बन जाओ
यूनिवर्सिटी गई तो कहा पार्टटाईम पार्टनर बन जाओ
किसी ने ये नही कहा कि में तेरा हमसफर, तुम मेरी दुल्हन बन जाओ
मेरे बच्चो की जन्नत उनका पहला मदरसा बन जाओ
जिसने भी चाहा खिलौना बनाना चाहा
खेलने के लिए दिल बहलाने के लिए
कपड़े उतारने के लिए
हवस को संवारने के लिए
दिल लुभाने के लिए
में सोचती रह गई इसकी भी तो बहन होगी
हर अमल का दर अमल भी होता है
तो क्या भाई का बदला बहन देगी
भाई इज्जतों को उछालता रहेगा
बहन बदला चुकाती रहेगी
लेकिन फिर ख्याल आया नही नही
इसके आने वाले वक्त में बेटी भी होगी
जिससे ये इतना प्यार और मुहब्बत करता होगा
वो मासूम जान सब कर्ज चुकायेगी😢😢
बाप की जवानी के गुनाह माफ करवायेगी
लड़कियों की इज्जत करो ऐसा ना हो कि कर्ज तुम्हारी बहन बेटी उतारे.