हमने खुद किया था वर्ल्ड ट्रेड सेन्टर पर हमला : पूर्व सीआईए एजेंट का ख़ुलासा

हमने खुद किया था वर्ल्ड ट्रेड सेन्टर पर हमला : पूर्व सीआईए एजेंट का ख़ुलासा

Posted by

शुक्रवार को न्यू जर्सी में अस्पताल से रिहा होने के बाद, 79 वर्षीय सेवानिवृत्त सीआईए एजेंट माल्कॉम हॉवर्ड ने कथित तौर पर आश्चर्यजनक दावों के साथ कुछ रहस्यों का खुलासा किया. उनका कहना है कि उसके पास रहने के लिए अब कुछ ही हफ्ते बाकी हैं. उनका कहना है कि वह वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के विध्वंस वाली साजिश में शामिल थे.

सीआईए एजेंसियों ने उनकी इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि और विध्वंस व्यवसाय में शुरुआती कैरियर के कारण परियोजना पर काम करने के लिए उन्हें टेप किया था, हावर्ड ने सीआईए के लिए एक ऑपरेटर के रूप में 36 वर्षों से काम किया है. सिविल इंजीनियर के रूप में प्रशिक्षित हावर्ड 1980 के दशक की शुरुआत में सीआईए में शामिल होने के बाद एक विस्फोटक विशेषज्ञ बन गए. उन्होंने कहा कि 1997 से 2001 के बीच सीआईए के संचालन में काम किया. सीआईए उस वक़्त ऊपर से आने वाले आदेशों पर काम कर रहा था.

वे उन 4 ऑपरेटरों के एक सेल का एक हिस्सा थे जो यह सुनिश्चित करने में कामयाब रहा था कि विध्वंस सफल रहा है.उन्होंने कहा कि वर्ल्ड ट्रेड सेण्टर का विध्वंस उनके जीवन का एकलौता अनोखा विध्वंस रहा है. उन्होंने कहा कि वे एक सच्चे देशभक्त हैं इसीलिए उन्होंने वाइट हाउस या सीआईए के निर्णयों पर कभी कोई सवाल नहीं उठाया. लेकिन अब उन्हें ऐसा लगता है कहीं कुछ ऐसा था जो सही नहीं था.

उन्होंने कहा कि यह विस्फोटकों के साथ एक क्लासिक नियंत्रित विध्वंस था. हमने विस्फोटकों के रूप में सुपर-फाइन लैंड ग्रेड नैनोथर्माइट कम्पोजिट सामग्री का इस्तेमाल किया. बिल्डिंग में हज़ारों पाउंड विस्फोटक, फ़्यूज़ और प्रज्वलन तंत्र ले जाना और लगाना सबसे मुश्किल काम था. लेकिन बिल्डिंग 7 में लगभग हर एक कार्यालय सीआईए, सीक्रेट सर्विस या सैन्य द्वारा किराए पर लिया गया था, जिसने इसे आसान बना दिया. ये सब काम एक महीने में किया गया.

11 सितंबर को जब उत्तर और दक्षिण टावर जला, तब वर्ल्ड ट्रेड सेंटर 7 में फ़्यूज़ जला दिया गया और नैनोथर्माइट विस्फोटों ने इमारत को खोखला कर स्टील की संरचना को नष्ट कर ईमारत को खोखला कर दिया जिससे ईमारत भरभरा कर गिर गयी. ये ध्यान देने वाली बात है कि वर्ल्ड ट्रेड सेण्टर 1 और 2 के विनाश के 7 घंटे बाद वर्ल्ड ट्रेड सेण्टर 7 स्वयं भरभरा कर गिर गया.

उन्होंने कहा कि इस ईमारत का गिरना बहुत सरल रूप से और बहुत जल्दी हुआ. इस ईमारत के विनाश में कोई हताहत नहीं हुआ. कोई दुखी नहीं था. सब इसका जश्न मना रहे थे. सब इसका रीप्ले बार-बार देख रहे थे कि तभी कुछ गड़बड़ लगी. ध्यान देने पर हमने देखा कि यह एक नियंत्रित विध्वंस की तरह दिख रहा है. हमले से गिरने वाली ईमारत की तरह नहीं. लोग इस पर सवाल उठा रहे थे. और फिर हमने सुना कि सड़क से लोग रिपोर्ट कर रहे थे कि उन्होंने दोपहर के दौरान विस्फोटों को सुना.

सरकार द्वारा जारी 9/11 के आधिकारिक रिपोर्ट के मुताबिक डब्ल्यूटीसी 7 ‘अनियंत्रित आग’ के कारण ढह गई जो डब्ल्यूटीसी 1 और 2 से फैली. अगर ये सच था तो वर्ल्ड ट्रेड सेण्टर दुनिया की पहली ऐसी गगनचुम्बी ईमारत हुई जो अनियंत्रित आग की वजह से गिर गयी. हमे लग रहा था कि जनता सब सच जान जाएगी और सब गड़बड़ हो जायेगा. राष्ट्रपति बुश को भी जाना होगा. लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ. जनता इस बारे में नहीं जान पाई और इस बाबत कोई सवाल नहीं उठा. सब ठीक रहा.

पूरा तंत्र ये साबित करने में सफल रहा कि इन हमलों के पीछे पूरी तरह से आतंकवादियों का हाथ था. उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में एक ही संगठन फैला है. और ये अल कायदा तो बिलकुल नहीं था. ये सीआईए है.

नीलोफर अनवर
==========

By WNA NewsDesk – July 14, 2017