अमेरिका को ईरान की ताक़त का बहुत अच्छे से अंदाज़ा है : ईरान के नौसेना प्रमुख

अमेरिका को ईरान की ताक़त का बहुत अच्छे से अंदाज़ा है : ईरान के नौसेना प्रमुख

Posted by

आईआरजीसी के नौसेना कमांडर ने कहा है कि ईरान के मुक़बाले में अमेरिका इतनी बार पराजित हुआ है कि अब उसको हमारी शक्ति का पूरा अंदाज़ा हो चुका है।

ईरान के इस्लामी संरक्षक बल के नौसेना प्रमुख एडमिरल अली फ़िदवी ने कहा कि ईरान के मिसाइल, ड्रोन और शक्तिशाली युद्धक समुद्री जहाज़ों ने फ़ार्स की ख़ाड़ी से लेकर स्ट्रेट ऑफ हुर्मुज़ तक, बल्कि ओमान सागर के बहुत से क्षेत्रों को भी कवर कर रखा है।

फ़ार्स की खाड़ी में ईरान की तटीय सीमा में प्रवेश होने वाली दो अमेरिकी युद्धक नावों को रोके जाने की सालगिरह पर अपने एक बयान में एडमिरल अली फ़िदवी ने कहा कि हमारे इस क़दम का सबसे महत्वपूर्ण संदेश ईश्वर के वादे को पहुंचाना था। उन्होंने कहा कि आईआरजीसी ने हमेशा ईश्वर द्वारा किए गए वादों को अपनी दृष्टि में रखते हुए दुश्मनों के ख़िलाफ़ कार्यवाही की है और उसमें सदैव कामयाबी प्राप्त की है।

एडमिरल अली फ़िदवी ने कहा की हमनें हमेशा ईश्वर पर भरोसा किया है और उसी भरोसे के साथ आगे बढ़ते जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज अमेरिका दिन प्रतिदिन ईरान के मुक़ाबले में मिल रही हार से अपमानित हो रहा है।

उल्लेखनीय है कि 12 जनवरी 2016 को फ़ार्स की ख़ाड़ी में दो अमेरिकी युद्धक नौकाओं ने अवैध रूप से ईरान की तटीय सीमाओं में प्रवेश किया था, जिन्हें आईआरजीसी के जियालों ने रोक कर दस अमेरिकी नौसैनिकों को गिरफ़्तार कर लिया था। यह साबित होने के बाद कि अमेरिकी नौकाओं ने ग़लती से ईरानी सीमा में प्रवेश किया था गिरफ़्तार अमेरिकी नौसैनिकों को रिहा कर दिया गया था।

आईआरजीसी के नौसेना प्रमुख एडमिरल अली फ़िदवी ने अमेरिका द्वारा अपने सैनिकों के रिहाई के लिए किए गए प्रयासों का उल्लेख करते हुए कहा कि इस्लामी क्रांति की सफलता के बाद के वर्षों की तरह इस बार भी अमेरिका के पास ईरान के सामने झुकने, अपमान स्वीकार करने और राजनयिक स्तर पर गिड़गिड़ाने के सिवा कुछ नहीं था।

ऐडमिरल फ़िदवी ने कहा कि ईरान आज क्षेत्र में अपनी पूरी शक्ति के साथ खड़ा है और हमारे दुश्मनों को हमारी ताक़त का भलीभांति अंदाज़ा है।