एक और बेटे की राजनीति में एंट्री, शिवराज पुत्र कार्तिकेय चौहान ने किया पिता का गुणगान

एक और बेटे की राजनीति में एंट्री, शिवराज पुत्र कार्तिकेय चौहान ने किया पिता का गुणगान

Posted by

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय सिंह चौहान पहली बार बुधनी विधानसभा क्षेत्र से बाहर किसी का प्रचार करने निकले।

कोलारस में मुख्यमंत्री चौहान स्वयं कई सभाएं कर चुके हैं, रविवार को उनके बेटे ने मोर्चा संभाला। (Photos: Twitter/RavindrJain/ImDeepakY)

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय सिंह चौहान की रविवार (7 जनवरी) को विधिवत राज्य की राजनीति में लांचिंग हो गई। उन्होंने पिता के बुधनी विधानसभा क्षेत्र के बाहर पहली बार एक जनसभा को संबोधित किया। कार्तिकेय ने अपने पिता और उनकी सरकार का गुणगान किया। मुख्यमंत्री के बेटे ने शिवपुरी जिले के कोलारस में धाकड़ समाज के सम्मेलन में हिस्सा लिया। इस क्षेत्र में जल्द ही विधानसभा उपचुनाव होना है। यह क्षेत्र कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के संसदीय क्षेत्र में आता है। सिंधिया का तीन दिवसीय दौरा रविवार को ही खत्म हुआ है। कोलारस में मुख्यमंत्री चौहान स्वयं कई सभाएं कर चुके हैं, रविवार को उनके बेटे ने मोर्चा संभाला। कार्तिकेय ने ज्योतिरादित्य का नाम लिए बिना कहा, “एक सांसद मेरे पिता को भगाने की बात कहते हैं। उन्हें और मंत्रियों को कौरव कहते हैं। यह बहुत ही निम्न दर्जे की राजनीति है। जनता यह सब देख रही है और जनता ही इसका जवाब देगी।”

सांसद सिंधिया ने शनिवार को कोलारस में हुई एक जनसभा में मुख्यमंत्री शिवराज और उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को ‘कौरव’ बताया था और उन्हें सत्ता से भगाने की बात कही थी। कोलारस का उपचुनाव भाजपा व कांग्रेस दोनों के लिए अहम है। मतदान की तारीख की घोषणा हालांकि अभी नहीं हुई है, मगर भाजपा संगठन और सरकार प्रचार अभियान में पूरा जोर लगाए हुई है। दूसरी ओर, कांग्रेस की तरफ से सिंधिया अकेले मोर्चा संभाले हुए हैं।