जयपुर : RSS के पथसंचलन ने समुदाय विशेष की आबादी में पहुँचने किया बवाल, गाड़ियों में तोड़फोड़, पुलिस पर पथराव!

जयपुर : RSS के पथसंचलन ने समुदाय विशेष की आबादी में पहुँचने किया बवाल, गाड़ियों में तोड़फोड़, पुलिस पर पथराव!

Posted by

राजिस्थान की राजधानी जयपुर में आज कल संघ के स्वम सेवकों की भारी भीड़ जमा है यह लोग यहाँ आरएसएस के पथसंचलन कार्यक्रम में शामिल होने के लिए दूर दूर से आये हैं, संघ अपने कैंप और अन्य कार्यक्रम ऐसे राज्यों में अधिक करता है जहाँ बीजेपी सत्ता में होती है, इन राज्यों में आरएसएस को सभी ज़रूरी आवश्यक चीज़ें उपलब्ध हो जाती हैं|

जयपुर में आयोजित आरएसएस के पथसंचलन कार्यक्रम में हंगामा हुआ, हंगामा ऐसा बढ़ा कि कई गाड़ियों को तहसनहस कर दिया गया|
असामाजिक तत्वों ने एक बार फिर से सामुदायिक सौहार्द और शांति को बिगाड़ने का काम करते हुए एक शहर का माहौल खराब किया है।

जानकारी के अनुसार राजस्थान के पाली जिले में शुक्रवार देर रात आरएसएस के पथसंचलन के दौरान उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब संघ के जथों के साथ चल रहे उपद्रवियों ने एक समुदाय विशेष की आबादी में पहुँचने पर अनुचित नारेबाजी शुरू कर दी साथ ही, अपनी जेबों में छिपा कर लाये गए पत्थरों को अंधरे में पहुँच कर समुदाय विशेष के लोगों को निशाना बना कर मारना शुरू कर दिया| घटना पाली के नाडी मोहल्ले की है जहां समुदाय विशेष के लोगों पर आरएसएस के पथसंचलन में शामिल लोगों ने कथित रूप से हमला कर दिया।

हमले के बाद हुए बवाल में एक व्यक्ति के सिर में गंभीर रूप से घायल होने की भी जानकारी मिली है। घटना के बाद पूरे इलाके में तनाव की स्थिती बनी हुई है वहीं पुलिस प्रशासन के तमाम अधिकारी मौके पर जुटे हुए है। बीती रात हुई इस घटना में उपद्रवियों ने गाड़ियों के शीशे फोड़ दिए और माहौल पर नियंत्रण पाने के लिए पहुंची पुलिस पर भी पत्थरबाजी की।

गिरफ्तारी नहीं होने पर बंद का ऐलान
घटना के बाद संघ कार्यकर्ताओं ने पुलिस के साथ बहस दबाव बनाया कि समुदाय विशेष के लोगों को आरोपी बना कर कारवाही अगर तुरंत नहीं की गयी तो बंद किया जायेगा| आरएसएस ने समुदाय विशेष के लोगों की गिरफ्तारी की मांग की है वहीं कहा गया है कि यदि पुलिस आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार नहीं करती है तो पूरे शहर में बंद का आहृवान किया जाएगा। मामले को गंभीर लेते हुए पाली एसपी दीपक भार्गव ने आरएसएस दुवारा घोषित किये गए समुदाय विशेष के आरोपियों आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया है साथ ही प्रशासन ने लोगों से शांति बनाए रखने की भी अपील की है। फिलहाल इलाके में शांति बनाए रखने के लिए पुलिस का अतिरिक्त जाब्ता तैनात है वहीं प्रशासन दोनों पक्षों के बीच शांति वार्ता स्थापित करने की कोशिश जारी है।