ट्रम्प के नस्लभेदी बयान पर मचा बवाल, क्यूबा ने की निंदा

ट्रम्प के नस्लभेदी बयान पर मचा बवाल, क्यूबा ने की निंदा

Posted by

क्यूबा के विदेशमंत्रालय ने लैटिन अमरीका और कुछ अफ़्रीक़ी देशों के विरुद्ध अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की अपमान जनक और नस्लभेदी टिप्पणी की आलोचना की है।

फ़्रांस प्रेस की रिपोर्ट के अनुसार क्यूब के विदेशमंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान जारी करके अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प की हैती, एलसलवाडोर और कुछ अफ़्रीक़ी देश की जनता के विरुद्ध नस्लभेदी और अपमानजनक टिप्पणी की निंदा की।

क्यूबा के विदेशमंत्रालय ने यह बयान करते हुए कि डोनल्ड ट्रम्प के बयान ने इन देशों की जनता की भावनाओं को आहत किया है जबकि इतिहास में हैती और अफ़्रीक़ी जनता की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है।

दूसरी ओर अफ़्रीक़ी देशों के एक समूह ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के नस्लभेदी बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए उनसे अपना बयान वापस लेने और माफ़ी मांगने की मांग की है।

ट्रम्प की टिप्पणी पर विचार के लिए एक आपात सत्र के बाद संयुक्त राष्ट्र संघ में अफ्रीक़ी राजदूतों के एक समूह ने कहा कि वे इस महाद्वीप को नीचा दिखाने तथा लोगों की निंदा कर अफ़्रीक़ा तथा वहां के लोगों के प्रति अमेरिकी प्रशासन के रवैये से चिंतित हैं। इस बयान में ट्रम्प से टिप्पणी वापस लेने और माफ़ी की मांग करते हुए कहा गया है कि समूह बहुत ही निराश है और वह अमेरिका के राष्ट्रपति की घृणित, नस्लवादी और दूसरे देश के लोगों के प्रति नफ़रत भरी टिप्पणियों की कड़ी निंदा करता है।

ज्ञात रहे कि डोनल्ड ट्रम्प ने हैती और अफ्रीकी देशों के प्रवासियों की रक्षा करने के कुछ अमेरिकी सांसदों के प्रयासों को लेकर निराशा व्यक्त करते हुए पूछा कि अमेरिका को इन ‘मलिन अर्थात शिटहोल देशों के नागरिकों को क्यों स्वीकार करना चाहिए।