तुम नीच ज़ात हो कह कर दलित महिला सरपंच को नही फैराने दिया झंडा : देखें वीडियो

तुम नीच ज़ात हो कह कर दलित महिला सरपंच को नही फैराने दिया झंडा : देखें वीडियो

Posted by

Sikander Kaymkhani
==============
कासगंज का एक सबक ये भी है कि सभी मुस्लिम भाई अपने मोहल्ले में सीसीटीवी लगवायें. ना सिर्फ ये आपको संघी आतंकवाद से बचायेगा बल्कि पुलिस से भी। पुलिस का रोल भी ये बदलेगा.
सस्ता भी है और आपके कंट्रोल में भी. और फिर आपकी जानमाल, इज्ज़त, और देश को दंगों से बचाने के लिए कोई भी कीमत हो मत देखिए. सभी मुस्लिम बस्तियों के मुख्य प्वाइंट्स को सीसीटीवी से कवर कीजिए, और कुछ भी बवाल संघी करें तो तुरंत वीडियो अपलोड कर लीजिए, सरकार के इंटरनेट काटने के पहले. मोबाइल कैमरा भी इस्तेमाल करें.

संघी तालिबानियों की सत्ता के दौरान मुसलमानों और बहुजनो का असली दोस्त और ताकत ये कैमरा ही है. इसे अधिकतम इस्तेमाल मे लाइये.

संघी आतंकवादियों के लिए कैमरे और इंटरनेट तीसरी सबसे ज्यादा डरावनी चीज है, पहले दो “बहुजन जागरूकता” और “मुस्लिम एकता यानी भारतीय एकता” है.

————-
प्रिय राष्ट्रवादी एंकर,
हमें बख्श दो। हमारे छोटे छोटे बच्चे हैं। घर पर बूढ़े मां बाप हैं। हम हिंदू मुसलमान बाद में हैं पहले तमाम तकलीफों से गुजरते आम इंसान हैं। स्टूडियो में बैठकर तुम जो नफरत का लाइटर रोज जलाते हो। उससे तुम्हारा तो कुछ नहीं बिगड़ेगा। हम आम इंसानों के घर पहले जलेंगे। छोटी छोटी दुकानें जलेंगी। हम छोटी मोटी नौकरी करने वालों की दुनिया उजड़ेगी। खुद को राष्ट्रवादी कहते हो और भूल जाते हो कि राष्ट्र तो हम आम लोगों के खून पसीने से बनता है। हम रोज जिंदगी खपाकर देश बनाते हैं। सड़क बनाने वाला और इमारतें खड़ी करने वाला मज़दूर तुमसे ज्यादा राष्ट्रवादी है। वो हल्ला नहीं करता राष्ट्रवादी और देशभक्त होने की ताल नहीं ठोकता वो चुपचाप देश को बुनता रहता है। हे स्वयंभू राष्ट्रवादी एंकर तुम टीवी पर हमारे सवाल गोल कर जाओ कोई बात नहीं। तुम हर मसले पर सरकार को बचाकर विपक्ष को घेरो ये भी तुम्हारी मर्जी। तुम पीएम के सामने हमारे नौजवानों की नौकरियों का पकौड़ा तलवाओ ये भी तुम्हारी मर्जी। लेकिन बंधु अपने भेजे में लगी नफरत की आग हमारे घरों तक तो न पहुंचाओ। हमें हमारे हाल छोड़ दो और कुछ कर सकते हो तो जाकर अपना इलाज़ कराओ।
तुम्हारे हॉरर शो का भुक्तभोगी

Subodh Rai

—————-

मुआवजा-
चंदन पांडे -50 लाख
चंदन सिंह -40 लाख
चंदन गुप्ता -20 लाख
चंदन यादव -10 लाख
चंदन पासी – 02 लाख
चंदन राम – 👍
चंदन अंसारी – देशद्रोही साला

—————
काकावाणी

@AliSohrab007
3h3 hours ago
More
दलित होने के कारण महिला सरपंच को नही फैराने दिया झंडा, ताऊ बता रहे थे कि देश का राष्ट्रपति भी दलिते है,…….