सुशील गुप्ता ने कपिल मिश्रा और बीजेपी नेताओं को भेजा मानहानि का लीगल नोटिस

सुशील गुप्ता ने कपिल मिश्रा और बीजेपी नेताओं को भेजा मानहानि का लीगल नोटिस

Posted by

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के राज्यसभा प्रत्याशी सुशील कुमार गुप्ता ने बीजेपी नेताओं पर 5 करोड़ रुपये की मानहानि का दावा ठोकते हुए उन्हें लीगल नोटिस भिजवाया है। पश्चिमी दिल्ली से बीजेपी के सांसद प्रवेश वर्मा और बीजेपी के प्रवक्ता हरीश खुराना को ये नोटिस भेजे गए हैं। इन दोनों के अलावा सुशील गुप्ता ने आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा को भी मानहानि का नोटिस भेजा है। नवभारत टाइम्स से बातचीत में प्रवेश वर्मा ने कहा कि उन्हें अभी तक नोटिस नहीं मिला है, जबकि हरीश खुराना और कपिल मिश्रा ने नोटिस मिलने की बात स्वीकार की है।

बुधवार को आम आदमी पार्टी के राज्यसभा प्रत्याशियों के नामों का खुलासा हुआ। कुछ बीजेपी नेताओं ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर टिकटों की खरीद फरोख्त का आरोप लगाया था। खासतौर से कांग्रेस का दामन छोड़कर आम आदमी पार्टी के खेमे में जाने वाले सुशील गुप्ता पर करोड़ों रुपये देकर राज्यसभा का टिकट हासिल करने का आरोप लगाया गया था। नोटिस के मुताबिक, हरीश खुराना ने अपने बयान में कहा था कि सुशील गुप्ता को राज्यसभा का टिकट 70 करोड़ रुपये में बेचा गया है। गुप्ता को एक इंडस्ट्रियलिस्ट बताते हुए यह भी आरोप लगाया था कि वह पैसे इन्वेस्ट करके ब्लैक मनी को वाइट में बदलते हैं।

प्रवेश वर्मा को भेजे गए नोटिस के मुताबिक, वर्मा ने अपने बयान में अरविंद केजरीवाल पर 50-50 करोड़ रुपये लेकर राज्यसभा के टिकट बेचने का आरोप लगाया था। यह भी दावा किया था कि 6 महीने पहले दोनों प्रत्याशियों ने उन्हें इस बारे में बताया था, पर तब उन्होंने उनकी बात पर यकीन नहीं किया था। कपिल मिश्रा ने भी इसी तरह के आरोप लगाए थे, जिसके लिए उन्हें भी लीगल नोटिस भेजा गया है।

हरीश खुराना ने लीगल नोटिस मिलने की बात स्वीकारते हुए कहा, हम ऐसे नोटिसों से डरते नहीं हैं। हम कोर्ट में इसका जवाब देंगे, लेकिन इससे यह साफ हो गया है कि इन लोगों के अंदर कितना अहंकार आ गया है, जबकि अभी तो ये राज्यसभा पहुंचे भी नहीं है। अभी सिर्फ नॉमिनेशन फाइल किया है। नोटिस भेजकर ये हम लोगों की आवाज दबाने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन हम धमकियों से नहीं डरेंगे। उन्होंने यह भी दावा किया कि अपने बयान में उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया था, लेकिन इसके बावजूद सुशील गुप्ता ने उन्हें नोटिस भेज दिया। वहीं प्रवेश वर्मा ने कहा कि अभी उन्हें नोटिस नहीं मिला है। नोटिस पढ़ने के बाद उचित जवाब देंगे।

कपिल मिश्रा ने सोशल मीडिया के जरिए अपनी बात पर कायम रहते हुए एक ट्वीट कर कहा, ‘अगर सच कहने से इनके मान की हानि होती है तो मैं सौ बार मानहानि करूंगा। पूरा देश जानता है कि ऐसे लोग राज्यसभा में कैसे जाते हैं। मैं किसी मुकदमे से नहीं डरता। इनकी एकमात्र योग्यता है पैसा। इनके राज्यसभा में जाने से असली मानहानि दिल्लीवालों की हुई है।’ एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘सेठ जी, केजरीवाल की आंखों के महान दानदाता, डंके की चोट पर कहता हूं कि तुम्हारी एकमात्र योग्यता है पैसा। आंदोलन और पार्टी से तुम्हारा कोई लेना देना नहीं है। अपनी जेब में डाल लो अपने नोट भी और नोटिस भी। तुम जैसों से लड़ने ही तो राजनीति में आए हैं।