सेक्स की ज़रूरत से ज़यादा दीवानगी आपको भारी पड़ सकती है!

सेक्स की ज़रूरत से ज़यादा दीवानगी आपको भारी पड़ सकती है!

Posted by

सेक्स को सेहत के लिए बेहद जरूरी माना गया है, लेकिन किसी भी चीज की अति बुरी होती है। सेक्स के मामले में भी ऐसा ही है। इसकी भी जरूरत से ज्यादा दीवानगी आपको भारी पड़ सकती है:-

जब टाइगर वुड्स को पब्लिक के बीच उनकी अजीब हर कतों की वजह से रिहेब में दाखिल करना पड़ा, तो इसके लिए उनके सेक्स एडिक्ट होने को ही जिम्मेदार माना गया था। इसी तरह कुछ साल पहले माइकल डगलस ने सेक्स में अपने अनहेल्दी इंट्रेस्ट से निजात पाने के लिए इलाज करवाया था।

फुटबॉलर जॉन टेरी भी कुछ इसी तरह की परेशानी का शिकार हो चुके हैं। जॉन के सेक्स एडिक्ट होने के बाद उनकी वाइफ टोनी उन्हें छोड़कर चली गई। मजे की बात यह है कि अमेरि कन सायकायट्रिक असोसिएशन ने सेक्सुअल एडिक्शन को ऐसी बीमारियों की लिस्ट में शामिल नहीं किया है, जिन्हें सही तरीके से डाइग्नोज किया जा सकता है। वैसे, दूसरे किसी भी एडिक्शन की तरह सेक्सुअल एडिक्शन का भी इलाज किया जा सकता है।
सेक्स एडिक्ट कौन?

एक्सपर्ट्स के मुताबिक उस इंसान को सेक्स का आदी कहा जा सकता है, जो अपने सेक्सुअल बिहेवियर को कंट्रोल नहीं कर पा रहा हो। फिर चाहे वह पब्लिक के बीच में हो या अनजान लोगों के बीच। उसको सेक्स की इतनी ज्यादा जरूरत महसूस होती है कि वह अपने शरीर में अजीब सी फीलिंग महसूस करता है और किसी भी हालत में सेक्स चाहता है। मस्टरबेशन की अति और पोर्न फिल्मों के पीछे पागल लोगों के भी कुछ मामले सेक्स एडिक्शन के हो सकते हैं। ऐसे इंसानों की परेशानी जब ज्यादा बढ़ जाती है, तो वे सोसायटी के नियमोंको तोड़कर और अपने पार्टनर को धोखा देकर असुरक्षित सेक्स की राह पर चल पड़ते हैं।

ऐसा क्यों होता है?

पर्सनैलिटी टाइप
============
अगर बच्चे अपने खिलौनों को लेकर हद दजेर् का आग्रही हो, तो यह उनकी ऑब्सेसिव पर्सनैलिटी को दिखाता है। ऐसे बच्चे अगर टूटे हुए परिवार में पल-बढ़ रहे हों और मां-बाप का प्यार भी उन्हें नहीं मिल रहा हो, तो वे प्यार की तलाश में मैटीरियल फैक्टर्स पर निर्भर हो जाते हैं। हालांकि इसका मतलब यह नहीं है कि ऐसे बच्चे आगे चलकर सेक्स एडिक्ट ही होंगे। हां, ऐसे बच्चों के सेक्स एडिक्ट होने के चांसेज ज्यादा होते हैं।

जींस
============
यह चीज जींस से भी एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में ट्रांसफर होती है। कई बार बच्चे अपने जींस की वजह से सेक्स एडिक्ट हो जाते हैं।

स्ट्रेस
============
अगर कोई इंसान बहुत ज्यादा तनाव में है, तो थोड़ी देर के लिए ही सही राहत महसूस करने के लिए वह सेक्स का सहारा लेगा। हालांकि, वह ऐसा इंटिमेसी के लिए नहीं, बल्कि खुद को ‘हाई’ महसूस करने के लिए करता है।

लक्षण
============
हर वक्त सेक्स की तैयारियों में बिजी रहना।
सेक्स की चाहत में अपने सोशल कॉन्टेक्ट खत्म कर लेना।
हेल्दी सेक्सुअल लाइफ के बावजूद ऐक्स्ट्रा सेक्स नहीं कर पाने पर असंतुष्ट, गुस्से या डिप्रेशन में नजर आना।
सेक्स के दौरान इंटिमेसी और संतुष्टि हासिल नहीं कर पाना।
एक से ज्यादा पार्टनरों के साथ सेक्स करना।
हर वक्त पोर्न फिल्में देखते रहना।

कैसे बचें
===================
कुछ दिनों तक सेक्सुअल एक्टिविटीज में हिस्सा ना लें या फिर कुछ तयशुदा दिनों में एक बार सेक्स करें। इस तरीके से आप आसानी से आइडिया लगा सकते हैं कि आप किस लेवल पर पहुंच चुके हैं। कोई एक्टिविटी तलाशे, सेक्स से बचने के लिए जिसमें आप मन लगा सकें। आप अपनी सारी एनर्जी उसी पर फोकस करें। इस तरह आपको अपनी परेशानी दूर करने में ज्यादा दिक्कत नहीं होगी और आप इसे एंजॉय करेंगे। अगर आपको लगता है कि आपके सेक्स एडिक्ट होने की वजह स्ट्रेस है, तो स्टेस की वजह ढूंढ कर उसका इलाज करें।

अगर आपका पार्टनर सेक्स एडिक्शन की परेशानी से गुजर रहा है, तो उससे लड़ाई-झगड़ा मत कीजिए और ना ही उसे ऐसा महसूस होने कराइए कि वह ज्यादा सेक्स का आदी हो गया है। इससे उनकी परेशानी और ज्यादा बढ़ सकती है। कोई प्रफेशनल हेल्प लेने से पहले आप लोगों को आपस में ही इस परेशानी का इलाज खोजने की कोशिश करनी चाहिए। इस परेशानी को सिर्फ ‘उनकी’ मानने की बजाय ‘आप दोनों’ की मानिए, तो इलाज जल्दी संभव हो पाएगा।