सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के बयान की जम्मू-कश्मीर के शिक्षा मंत्री ने की कड़ी आलोचना

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत के बयान की जम्मू-कश्मीर के शिक्षा मंत्री ने की कड़ी आलोचना

Posted by

भारत प्रशासित जम्मू-कश्मीर के शिक्षा मंत्री अल्ताफ़ बुख़ारी ने भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि वह कोई शिक्षाविद नहीं हैं जो हमें शिक्षा पर भाषण देंगे।

जनरल रावत ने शुक्रवार को सैन्य दिवस के अवसर पर कहा था कि “जम्मू-कश्मीर के सरकारी स्कूलों में शिक्षा प्रणाली भ्रष्ट हो गई है, क्लासों में दो नक़्शे लगे होते हैं, एक भारत का और एक जम्मू-कश्मीर का।”

भारतीय सेना प्रमुख के बयान की निंदा करते हुए बुख़ारी ने कहा कि जनरल रावत कोई शिक्षाविद नहीं हैं, शिक्षा प्रणाली राज्य से संबंधित विषय है और हम जानते हैं कि हमें सकूल कैसे चलाने हैं।

जम्मू-कश्मीर के शिक्षा मंत्री का कहना था कि राज्य में दो संविधान हैं, एक ख़ुद राज्य का और एक भारत का, बिल्कुल इसी तरह हर स्कूल में दो नक़्शे होते हैं, ताकि छात्रों को राज्य के इतिहास के बारे में बताया जा सके।

जनरल रावत ने जम्मू-कश्मीर में कथित चरमपंथ में वृद्धि के लिए सोशल मीडिया और स्कूल शिक्षा प्रणाली को ज़िम्मेदार ठहराया था। उन्होंने इसी के साथ कहा था कि राज्य की शिक्षा प्रणाली की समीक्षा किए जाने की ज़रूरत है।

बिपिन रावत के आरोपों का जवाब देते हुए शिक्षा मंत्री सैय्यद अल्ताफ़ बुख़ारी ने कहा कि राज्य में तो दो झंडे भी हैं।