ED ने कार्ति चिदंबरम के ठिकानों पर की छापेमारी, कांग्रेस ने कहा, ‘मोदी सरकार CBI, ED का इस्तेमाल विपक्ष के ख़िलाफ़ कर रही है!

ED ने कार्ति चिदंबरम के ठिकानों पर की छापेमारी, कांग्रेस ने कहा, ‘मोदी सरकार CBI, ED का इस्तेमाल विपक्ष के ख़िलाफ़ कर रही है!

Posted by

कल चार जजों ने प्रेस वार्ता कर अपनी तकलीफ बताई थी, देश में किया चल रहा है से सभी को अवगत कराया था| देश में क्या चल रहा है यह समझने के लिए बस इतना ही काफी है कि विपक्ष और विरोधी सरकार के निशाने पर हैं, बिहार में लालू यादव हों या फिर पूर्व वित्तमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही है। प्रवर्तन निदेशालय ने कार्ति के दिल्ली और चेन्नई में स्थित ठिकानों पर छापेमारी की है। एयरटेल-मैक्सिस डील में हुई धांधली के आरोप में ईडी की ओर से ये छापेमारी की गई।

बेटे के खिलाफ उठाए जा रहे कदमों पर पी चिदंबरम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि साजिश के तहत कार्रवाई को अंजाम दिया जा रहा है। चिदंबरम ने कहा कि मनी लॉन्ड्रिंग के तहत ईडी की ओर जांच का कोई मतलब नहीं बनता है, लेकिन फिर भी छापेमारी की जा रही है। उन्होंने कहा कि जोरबाग में स्थित बंगला कार्ति का नहीं मेरा है।

वहीं उन्होंने छापेमारी के दौरान कुछ भी नहीं मिलने की पुष्टि करते हुए कहा कि घर के किचन, ड्राइंग रूम और बाकी जगहों को तलाशा गया लेकिन ईडी को कुछ नहीं मिला।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरेजवाला ने कहा कि पी चिदंबरम और उनके बेटे के खिलाफ साजिश से मुझे हैरानी नहीं है। पीएम मोदी और उनकी सरकार सीबीआई और ईडी का इस्तेमाल विपक्ष के खिलाफ कर रही है।

ANI

@ANI
There is no FIR concerning a scheduled crime by CBI or any agency. I anticipated they’ll search premises in Chennai again but in a comedy of errors they came to Jor Bagh (in Delhi) & officers told me that they thought Karti is an occupant of this house but he is not-P.Chidambaram

12:08 PM – Jan 13, 2018
18 18 Replies 39 39 Retweets 83 83 likes

ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ईडी ने जिस वक्त छापेमारी की उस दौरान वहां कार्ति और पी चिदंबरम भी मौजूद थे।

ANI

@ANI
#FLASH ED raids being conducted at Karti Chidambaram’s premises in Delhi and Chennai over INX Media Case.

9:41 AM – Jan 13, 2018
19 19 Replies 93 93 Retweets 230 230 likes

क्या है मामला?

सीबीआई द्वारा विशेष अदालत में दाखिल चार्जशीट के अनुसार, मैक्सिस की सहायक कंपनी ग्लोबल कम्यूनिकेशन सर्विसेज होल्डिंग्स लिमिटेड ने एयरसेल में 800 मिलियन डॉलर के निवेश के लिए मंजूरी मांगी थी।

आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी इस मामले में अनुमति के लिए सक्षम थी। हालांकि तत्कालीन वित्त मंत्री चिदंबरम द्वारा इस संबंध में अनुमोदन प्रदान किया गया था। इस संबंध में आगे की जांच जारी है। इस मामले में कार्ति के शामिल होने का आरोप है।