#कासगंज_अफ़वाह फैलाने, दंगा भड़काने वाले बीजेपी, विहिप के लोगों पर कब होगी कार्यवाही : वीडियो

#कासगंज_अफ़वाह फैलाने, दंगा भड़काने वाले बीजेपी, विहिप के लोगों पर कब होगी कार्यवाही : वीडियो

Posted by

उत्तर प्रदेश के कासगंज में पिछले दो दिन से हालत शांतिपूर्ण हैं, फिलहाल यहाँ लोग घरों से बहार आ जा रहे हैं, किसी तरह की कोई अप्रिय घटना की खबर नहीं है, प्रशासन की शांति सभाओं का भी असर दिख रहा है, हिन्दू मुस्लिम अपने इलाकों में लोगों को अमन के साथ रहने और कोई हंगामा न करने के लिए समझा रहे हैं|

कासगंज हिंसा के बाद बीजेपी और विहिप के नेताओं के भड़काऊ भाषणों पर अभी तक कोई कारवाही नहीं हुई है, जबकि एटा से बीजेपी के सांसद राजवीर सिंह राजू ने धारा 144 लगे होने के बावजूद मजमा जमा कर के लोगों को बदला लेने के लिए भड़काया था, राजवीर सिंह ने मीडिया को दिए अपने बयां में सीधे सीधे मुस्लिम समाज पर झूठा आरोप लगाया था कि मुसलमानों के मोहल्ले में पहुँचने पर हिन्दुओं को पाकिस्तान ज़िंदाबाद के नारे लगाने को कहा गया, राजवीर सिंह ने कहा था कि मुसलमानों ने पहले से तैयारी कर हिंसा की है, यही बातें कासगंज के सदर विधायक ने भी दोहराई थीं, साथ ही कासगंज के अन्य हिन्दू समाज के लोगों ने टीवी चैनलों पर AK-47 से गोली चलने की भी बात कही थी, यह सब मुस्लिम समाज के खिलाफ भगवा संगठन के लोगों का षड़यंत्र था, टीवी चैनल पर बहस करते हुए विहिप के प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा था ‘कि सभी मुस्लमान आतंकवादी हैं’,,,जब एंकर ने आपत्ति जताई तो उसने अपना बयां बदला था, सवाल यह है कि कासगंज की हिंसा मात्र एक हादसा सामान घटना है, और इस घटना में मुसलमानों का कोई दोष नहीं है, न ही वह कहीं चढ़ाई कर के गए थे, न उन्होंने तिरंगे का अपमान किया था और न किसी पर हमला किया फिर इस हिंसा की मार मुसलमानों पर क्यों पड़ रही है जबकि अफवाह फैलाने वाले, दंगा भड़काने वाले बीजेपी, विहिप के लोगों के खिलाफ अभी तक कोई कारवाही नहीं हुई है|

 

Shalini Jyothi
———————————
.
परीक्षा में 👨गब्बरसिंह का चरित्र चित्रण करने के लिए कहा गया-

😀😁
.
दसवीं के एक छात्र ने लिखा-😉

.

.

.
1. सादगी भरा जीवन-
:- शहर की भीड़ से दूर जंगल में रहते थे,
एक ही कपड़े में कई दिन गुजारा करते थे,
खैनी के बड़े शौकीन थे.😂
.
2. अनुशासनप्रिय-
:- कालिया और उसके साथी को प्रोजेक्ट ठीक से न करने पर सीधा गोली मार दिये थे.😂
.
3.दयालु प्रकृति-
:- ठाकुर को कब्जे में लेने के बाद ठाकुर के सिर्फ हाथ काटकर छोड़ दिया था, चाहते तो गला भी काट सकते थे😂
.
4. नृत्य संगीत प्रेमी-
;- उनके मुख्यालय में नृत्य संगीत के कार्यक्रम चलते रहते थे..
‘महबूबा महबूबा’,😂
‘जब तक है जां जाने जहां’.
बसंती को देखते ही परख गये थे कि कुशल नृत्यांगना है.😂😂
.
5. हास्य रस के प्रेमी-
:- कालिया और उसके साथियों को हंसा हंसा कर ही मारे थे. खुद भी ठहाका मारकर हंसते थे, वो इस युग के ‘लाफिंग बुद्धा’ थे.😂
.
6. नारी सम्मान-
:- बंसती के अपहरण के बाद सिर्फ उसका नृत्य देखने का अनुरोध किया था,😀😂
.
7. भिक्षुक जीवन-
:- उनके आदमी गुजारे के लिए बस सूखा अनाज मांगते थे,
कभी बिरयानी या चिकन टिक्का की मांग नहीं की.. .😂
.
8. समाज सेवक-
:- रात को बच्चों को सुलाने का काम भी करते थे ..

टीचर अब तक कोमा में है😁😂😂😂😂

*********************
Jitendra Narayan
———————————
देखो ये दीवानों ऐसा काम न करो…
हिन्दुत्व के नाम पर हत्यारों का बचाव न करो…

#हरेन_पांड्या
#सुहाराबुद्दीन_शेख
#कौसर_बी
#तुलसीराम_प्रजापति
#जस्टिस_लोया
#श्रीकांत_खंडालकर
#जस्टिस_प्रकाश_थोंबरे

*********************
यादवCPभाई 🇮🇳

@yadav4indian
———————————
वीडियो👇जिसमें भगवा झंडे को फहराने का दबाव दे रहे है !

*********************
काकावाणी

@AliSohrab007
———————————
#Budget2018: BJP के खिलाफ भयंकर विरोध प्रदर्शन!