कृपया ब्लॉक स्तर पर जाकर विकास कार्यों की समीक्षा करें : अधिकारियों को नीतीश की सलाह

कृपया ब्लॉक स्तर पर जाकर विकास कार्यों की समीक्षा करें : अधिकारियों को नीतीश की सलाह

Posted by

पटना।देश की राजनीती में नितीश कुमार को सुशासन बाबू के नाम से जाना जाता है, महागठबंधन बना कर बिहार की सत्ता में आये नितीश कुमार ने हलाकि अब बीजेपी के साथ सत्ता संभाल रखी है फिर भी जनता उनसे विकास की उम्मीद करती है| बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बुधवार को फिर से अपने सेवा यात्रा पर निकल गये और इस क्रम में उन्होंने सासाराम और गया में अधिकारियों, जन प्रतिनिधियों के साथ समीक्षा बैठक की. साथ ही सीएम नीतीश ने अपने सेवा यात्रा के दौरान विकास के काम तेज करने के लिए सबको कई सुझाव दिए.

1. नीतीश कुमार ने जिला अधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को ब्लाक स्तर पर जाकर लोगों की समस्या सुनने के लिए कहा. नीतीश कुमार का तर्क है कि जब वो खुद जिला स्तर पर जाकर समीक्षा कर सकते हैं, तब उनके जिला अधिकारी ब्लॉक स्तर पर जाकर ऐसा क्यों नहीं कर सकते हैं?

2. नीतीश कुमार के सात निश्चय का एक मुख्य अंग हैं ‘बारहमासी सड़क’. लेकिन इसके निर्माण की गति पर चिंता व्यक्त करते हुए उन्होंने जिला अधिकारियों को गांव में जाकर प्रयास करने के लिए कहा.

3. जन प्रतिनिधियों और मुखिया से भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सीधे विकास के कामों में मदद लेने की आवश्यकता बताते हुए ज़िला अधिकारियों को निर्देश दिया कि उन्हें सीधे अप्रोच करें और एक प्रैग्मैटिक रवैया अपनाएं.

4. शौचालय निर्माण में नीतीश ने साफ किया कि जब तक एक प्रतिशत काम बाकी हो तब तक पूरे जिले को ओडीएफ घोषित करने की जल्दबाजी ना करें. नीतीश को इस बात का अंदाजा हैं कि अधिकारियों के उत्साह में कभी-कभी कई घर में निर्माण कार्य आधा अधूरा रह जाता है.

5. अंत में नीतीश ने माना कि बिहार में बीमारियों के समाधान का एक ही रास्ता है कि अधिक से अधिक शौचालय का निर्माण. मगर देखना यह है कि नीतीश कुमार के समीक्षा का असर उनके यात्रा के बाद कितना दिखता है.