जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में सत्र 2018-19 के लिए दाख़िले की प्रक्रिया शुरू!

जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में सत्र 2018-19 के लिए दाख़िले की प्रक्रिया शुरू!

Posted by

नई दिल्ली। जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में सत्र 2018-19 के लिए दाखिले की आवेदन प्रक्रिया शुक्रवार को शुरू हो गई। छात्र जामिया में अलग-अलग विषयों में दाखिले के लिए सात मार्च तक आवेदन कर सकते हैं। आठ मार्च से 12 मार्च तक छात्र अपने आवेदन में सुधार कर सकते हैं। इसके बाद अप्रैल से दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षाएं शुरू हो जाएंगी। इच्छुक छात्रों को जामिया की वेबसाइट http://jmicoe.in/ पर जाकर आवेदन करना होगा। पिछले वर्ष की तरह इस साल भी पूरी आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन रखी गई है। जामिया मिल्लिया में छात्र-छात्राएं परास्नातक, स्नातक, डिप्लोमा, एडवांस डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स के लगभग 195 पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन कर सकेंगे। बीटेक और बीआर्क में दाखिले के इच्छुक के छात्रों के लिए जामिया ने पहले ही आवेदन प्रक्रिया शुरू कर दी है।

जामिया के परीक्षा नियंत्रक डॉ ए .फैजी ने बताया कि इस बार पूरी तरह से प्रवेश परीक्षा को पारदर्शी बनाया जाएगा। इसके अलावा ऑनलाइन आवेदन में छात्रों को कोई दिक्कत न हो इसके लिए भी विश्वविद्यालय ने पुख्ता इंतजाम किए हैं। उन्होंने कहा कि जामिया की दाखिला प्रक्रिया ऑनलाइन होने से इस बार दाखिलों में देरी नहीं होगी।

ये नए पाठ्यक्रम शुरू करेगा जामिया
जामिया मिल्लिया इस्लामिया में सत्र 2018-19 में कई नए पाठ्यक्रम के लिए दाखिले लिए जाएंगे। इनमें स्नातकोत्तर और पीएचडी के पाठ्यक्रमों से लेकर सर्टिफिकेट और डिप्लोमा तक शामिल हैं। इनमें स्नातकोत्तर के दो पाठ्यक्रम हैं। इनमें आपदा प्रबंधन और जलवायु स्थिरता अध्ययन में एमएससी, लाइब्रेरी और सूचना विज्ञान में स्नातकोत्तर और स्नातक के पाठ्यक्रम शामिल हैं। ये दोनों स्वयं वित्त पोषित पाठ्यक्रम हैं। इसके अलावा जामिया के विधि संकाय में दो पीजी डिप्लोमा पाठ्यक्रम शुरू होंगे। इनमें पीजी डिप्लोमा लेबर लॉ और पीजी डिप्लोमा एयरोस्पेस लॉ शामिल हैं। ये भी स्वयं वित्त पोषित पाठ्यक्रम हैं। इस साल टूरिज्म विभाग की ओर से चार नए डिप्लोमा पाठ्यक्रम शुरू किए जाएंगे। इनमें टूर गाइडिंग, एयर टिकेटिंग, मेडिकल टूरिज्म और टूर मैनेजमेंट के पाठ्यक्रम शामिल हैं। इन सभी पाठ्यक्रमों में 30 सीटें होंगी। इसके अलावा इसी विभाग की ओर से टूरिज्म एवं हॉस्पिटेलिटी में पीएचडी का पाठ्यक्रम दोबारा शुरू किया जा रहा है। वहीं संस्कृत विभाग की ओर से एक सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम शुरू किया जाएगा।

महत्वपूर्ण तिथियां

02 फरवरी से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं

07 मार्च आवेदन की अंतिम तिथि है

08 मार्च से 12 मार्च तक छात्र अपने आवेदन में सुधार कर सकते हैं

29 मार्च को एमफिल और पीएचडी में आवेदन करने वालों के एडमिट कार्ड मिलेंगे

08 अप्रैल से 13 अप्रैल तक अन्य छात्रों के एडमिट कार्ड दिए जाएंगे

17 जुलाई से कक्षाएं शुरू हो जाएंगी।

पीएचडी के छात्रों के लिए विशेष पोर्टल

जामिया के कुलपति प्रोफेसर तलत अहमद ने शुक्रवार को एक पीएचडी के छात्रों और गाइड के लिए एक नया पोर्टल भी शुरू किया। इस पोर्टल के जरिए गाइड छात्रों के शोध पर नजर रख सकेंगे। कुलपति तलत अहमद ने कहा कि पोर्टल से पीएचडी के छात्रों और उनके गाइड के बीच बेहतर संवाद स्थापित हो सकेगा। अगर छात्रों के गाइड किसी कारणवश विश्वविद्यालय आने में असमर्थ हैं तो वे इस पोर्टल से ही छात्रों के शोध पर नजर रख पाएंगे। साथ ही वे उन्हें ऑनलाइन परामर्श भी दे सकेंगे। इस पोर्टल पर छात्रों के शोध पत्र अपलोड करने के बाद उन्हें एक सक्रिय कोड और पासवर्ड दिए जाएंगे। पोर्टल के जरिए ही छात्र और शिक्षक यह भी पता लगा सकेंगे कि बाहर से आने वाले परीक्षक ने विश्वविद्यालय को शोध के संबंध में अपनी रिपोर्ट भेज दी है या नहीं। सभी संकायों के डीन को कहा गया है कि वे अपने विभागों में शिक्षकों और पीएचडी के छात्रों को पोर्टल इस्तेमाल करने के लिए प्रशिक्षण भी दें।