तो क्या मोदी नहीं जवाहरलाल नेहरू फ़िलिस्तीन जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री थे, जानिये!

तो क्या मोदी नहीं जवाहरलाल नेहरू फ़िलिस्तीन जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री थे, जानिये!

Posted by

नई दिल्ली।भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस वक्त तीन अरब देशों फिलिस्तीन, ओम्मान और यूएई की यात्रा पर हैं, प्रधानमंत्री आज फिलिस्तीन की यात्रा पर थे, उन्हें फिलिस्तीन में वहां की सरकार ने अपने देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया है, प्रधानमंत्री मोदी की फिलिस्तीन यात्रा वैसे तो बहुत महत्वपूर्ण है, यहाँ यह जानना ज़रूरी है कि अरब विशेष कर मध्य पूर्व में इस्राईल जैसे अवैध देश की आतंकवादी कार्रवाहियों की वजह से अशांति का माहौल है, प्रधानमंत्री मोदी की इस यात्रा के बाद वहां अमन की राह निकल सकती है, साथ ही भारत में मोदी की फिलस्तीन यात्रा को लेकर कहा गया है कि यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली फिलिस्तीन यात्रा है जो 9 फरवरी से शुरू हो चुकी है. उनके फिलिस्तीन दौरे को एेतिहासिक बताया जा रहा है, 5 फरवरी को विदेश मंत्रालय ने लिखा कि ”पहली” बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री फिलिस्तीन की यात्रा करेगा, लेकिन ट्विटर पर लोग विदेश मंत्रालय के दावे को खारिज कर रहे हैं उनका कहना था कि जवाहरलाल नेहरू फिलिस्तीन जाने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री थे.

इन्हीं लोगों में एक कांग्रेस समर्थक गौरव पंधी भी थे, जिन्होंने अपनी बात साबित करने के लिए साल 1960 की नेहरू की एक तस्वीर शेयर की. तस्वीर में नेहरू गाजा पट्टी में संयुक्त राष्ट्र की शांति सेना में तैनात भारतीय जवानों से मुलाकात करते नजर आ रहे हैं. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा, फिलिस्तीन जाने वाले पहले पीएम नरेंद्र मोदी को सलाम, क्योंकि नेहरू को गिना नहीं जाएगा. अब हम आपको बताते हैं कि पंधी के इस दावे में कितनी सच्चाई है.

जवाहरलाल नेहरू साल 1960 में गाजा पट्टी गए थे. उस वक्त वह लंदन में हुए कॉमनवेल्थ प्राइम मिनिस्टर्स कॉन्फ्रेंस से लौट रहे थे. नेहरू बीच रास्ते में लेबनान के बेरुत में उतरे और वहां से गाजा गए. गाजा में उन्होंने संयुक्त राष्ट्र आपातकालीन सेना (UNEF) से मुलाकात की. इसकी कमान भारतीय अफसर लेफ्टिनेंट जनरल आरएस ज्ञानी के पास थी. नेहरू का गाजा जाना भारतीय प्रधानमंत्री का राजकीय दौरा नहीं था इसलिए आधिकारिक तौर पर फिलिस्तीन जाने वाले पहले पीएम नरेंद्र मोदी ही हैं.

गौरतलब है कि 1947 में आजादी मिलने के बाद भारत ने फिलिस्तीन की आजादी की मांग की थी. लेकिन साल 1988 में फिलिस्तीन को देश का दर्जा मिला. इसका भी एेलान फिलिस्तीन ने खुद ही किया था. उस वक्त राजीव गांधी पीएम थे. लेकिन उससे पहले भारत ने फिलिस्तीन को देश का दर्ज नहीं दिया था.

Gaurav Pandhi

@GauravPandhi
Modi claims he is the first ever PM from India to visit Palestine.

Well, that’s just another lie! Here, pictures of Nehru in Gaza in 1960.

10:40 पूर्वाह्न – 9 फ़र॰ 2018

NEHRU IN PALESTINE.

Below is a photo of Jawaharlal Nehru in Gaza in 1960 with Indian troops serving with the UN peacekeeping mission. He was PM of India then and Gaza is part of Palestine. It makes him the first Indian PM to visit Palestine.

The respect and regard for Nehru in Palestine is such that even as our beloved Modiji was making his ” historic and first visit by an Indian PM” the Palestinians named a school after Nehru. They seem to be sending him a subtle message.

This is the MEA tweet of Feb 10, 2018.

“H.E. Mr Anil Wadhwa, Secretary, Ministry of External Affairs, Government of India alongwith Governor of Nablus and Deputy Minister of Education inaugurated Jawaharlal Nehru Secondary School for Girls in Asera al-Shamalyeh, Palestine.”