प्रधानमंत्री थोड़ा अमित शाह के बेटे के भ्रष्टाचार के बारे में भी बोलिए : राहुल गाँधी

प्रधानमंत्री थोड़ा अमित शाह के बेटे के भ्रष्टाचार के बारे में भी बोलिए : राहुल गाँधी

Posted by

रायचूर।गुजरात चुनावों के समय से ही कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गाँधी बीजेपी को घेरने के लिए सीधे हमले नरेंद्र मोदी, मोदी सरकार और बीजेपी के अध्यक्ष पर कर रहे हैं, बीजेपी के लिए यह कहथिन इस्थिति है, राहुल गाँधी को पप्पू कहने वाली पार्टी अब उनके सवालों के जवाब देने से बचती है घबराती है|

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपने तीखे हमलों को जारी रखते हुये कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज कहा कि उन्हें भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बेटे पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों के बारे में बोलना चाहिए. चुनावी राज्य कर्नाटक में अपनी जनाशीर्वाद यात्रा के तीसरे दिन गांधी ने कहा कि भ्रष्टाचार के बारे में बोलने से पहले प्रधानमंत्री को अपने दाएं और बाएं देखना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप भ्रष्टाचार के बारे में बात करना चाहते हैं तो थोड़ा अमित शाह के बेटे के भ्रष्टाचार के बारे में भी बोलिए. कैसे उन्होंने तीन महीने में 50 हजार रूपये से 80 करोड़ रूपये बना लिए. आपको देश को यह भी बताना चाहिए.’’ अमित शाह ने अपने बेटे पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को खारिज किया था और उस समाचार पोर्टल के खिलाफ मानहानि का मामला भी दर्ज किया था, जिसने कहा था कि भाजपा के 2014 में सत्ता में आने के बाद उनकी संपत्ति में काफी बढ़ोतरी हुई.

हैदराबाद-कर्नाटक क्षेत्र में अपनी यात्रा शुरू करने से पहले उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुये गांधी ने प्रदेश के भाजपा नेताओं पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘‘मोदीजी आप भ्रष्टाचार की बात करते हैं. मोदीजी भूतकाल के बारे में बात करने के बाद आपके पास कुछ समय बच जाए तो अपने दाहिनी और बाएं तरफ भी देखिए. एक तरफ (बीएस) येदियुरप्पा जो जेल जा चुके हैं. दूसरी तरफ चार (पूर्व) मंत्री जो जेल गए हैं और अब भी वहीं हैं, 11 नेताओं को भ्रष्टाचार के आरोपों में इस्तीफा देना पड़ा.”


गांधी ने कहा कि मोदी रोजगार सृजन और किसानों की परेशानियों को दूर करने में ‘‘विफल” रहे हैं. उन्होंने कहा, ‘‘मोदीजी, इस देश के लोगें ने आपको काम दिया, किसानों ने आपको काम दिया, युवाओं ने आपको बताया कि हमारा मुकाबला चीन से है. चीन ने 24 घंटे में 50,000 रोजगार दिये. मोदीजी आप विफल हो गए.” रायचूर जिले में एक नुक्कड़ सभा को संबोधित करते हुये कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि किसानों ने मदद की गुहार लगाई थी. उन्होंने कहा, ‘‘मैं व्यक्तिगत रूप से वहां गया था और उनसे किसानों की कर्ज माफी का अनुरोध किया, लेकिन उन्होंने एक शब्द भी नहीं कहा और चुप रहे.” उन्होंने कर्नाटक सरकार द्वारा की गई कर्ज माफी की घोषणा के संदर्भ में कहा कि वह कांग्रेस पार्टी थी जिसने ऐसा किया.

उन्होंने कहा, ‘‘युवाओं को रोजगार देना शुरू कीजिए, किसानों की कर्ज माफी कर उनकी मदद करना शुरू कीजिए. आपके पास ज्यादा समय नहीं है. एक साल बचा है. सुना है आप समय से पहले चुनाव की भी योजना बना रहे हैं. बहाने बनाना छोड़िए, काम शुरू कीजिए.”