वेलेंटाइन डे का विरोध करने वाले तोगड़िया बोले,,, ‘प्रेम नहीं करेंगे तो श्रष्टि नहीं चलेगी’

वेलेंटाइन डे का विरोध करने वाले तोगड़िया बोले,,, ‘प्रेम नहीं करेंगे तो श्रष्टि नहीं चलेगी’

Posted by

चंडीगढ़। फिल्म मुग़ले आज़म का एक डायलोग है ‘वक़्त ने बड़े बड़े सूरमाओं के घमंड तोड़े हैं’,,,अक्सर लोग ऐंठ, घमंड, किसी सदी हुई मानसिकता के कारण कट्टर पन की ओर रुख कर जाते हैं, जब वह अपने कट्टरपंथी विचारों के साथ जी रहे होते हैं तब उनकी भाषा समाज के अनरूप नहीं होती है, जब बोलते हैं तो विवाद पैदा करते हैं, ज़हर उगलते हैं, मगर सच्चाई यही है ‘ताज हुकूमत जिनका मज़हब उनके दिल में प्यार कहाँ, जिसके दिल में प्यार नहीं वह पत्थर हैं इंसान कहाँ””’मुहबत ऐसी ताकत है जिससे टकरा कर हर ताक़त हार जाती है|

‘ कभी संस्कृति का हवाला देकर वेलेंटाइन डे का विरोध करने वाले विश्व हिन्दू परिषद के अंतराष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया का कहना है कि वैलेंटाइन डे पर विरोध प्रदर्शन या हिंसा नहीं की जानी चाहिए।

चंडीगढ़ में विश्व हिन्दू परिषद के कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि अगर युवक और युवती प्रेम नहीं करेंगे तो सृष्टि नहीं चलेगी। उन्होंने कहा कि युवाओं को प्रेम करने का अधिकार है और वैलेंटाइन डे पर किसी तरह का विरोध या हिंसा नहीं होगी।

विहिप और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए तोगड़िया ने कहा, ‘प्रेम नहीं करेंगे तो विवाह नहीं होगा, विवाह नहीं होगा तो सृष्टि कैसे चलेगी? युवा और युवतियों को प्रेम करने का पूरा अधिकार है। वह अधिकार उन्‍हें मिलना चाहिए। मैंने संदेश दे दिया है कि हमारी बेटी को भी प्‍यार करने का हक है और हमारी बहन को भी प्‍यार करने का अधिकार है।’

प्रवीण तोगड़िया ने जम्मू कश्मीर में सेना के कैंप पर आतंकी हमले की घटनाओं पर कड़ी टिप्पणी करते हुए कहा कि सेना को पाकिस्‍तान के खिलाफ युद्ध छेड़ने का निर्देश दिया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हमारी सेना को युद्ध की तैयारी करते हुए पाकिस्‍तान पर अविलंब हमला कर देना चाहिए। पाकिस्‍तान का नाम नक्‍शे से हटा दिया जाना चाहिए। हमलोग कब तक सिर्फ बात करते रहेंगे। इस वजह से हमारे जवान शहीद हो रहे हैं।

तोगड़िया ने जम्मू कश्मीर की मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती की भी कड़ी आलोचना की है। उन्‍होंने कहा कि जो लोग हमारी सेना पर पत्‍थर बरसाते हैं सरकार उनके खिलाफ दर्ज मामलों को वापस कैसे ले सकती है।

बता दें कि अब से पूर्व विहिप तथा बजरंग दल वेलेंटाइन डे को पाश्चात्य सभ्यता बता कर इसका विरोध करते रहे हैं। प्रतिवर्ष मनाये जाने वाले वेलेंटाइन डे के अवसर पर कई राज्यों में हिन्दू संगठनों द्वारा लड़के लड़कियों से बदसलूकी के मामले भी सामने आते रहे हैं।

यह पहली बार ही है जब स्वयं विहिप के अंतराष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया स्वयं वेलेंटाइन डे पर हिंसा न होने तथा लड़के लड़कियों को मिलने की आज़ादी की बात कह रहे हैं।