शहीद चन्दन गुप्ता के हत्यारों का योगी ने किया वो हाल, देश के दंगाईयों के उड़े होश : मो. तारिक़

शहीद चन्दन गुप्ता के हत्यारों का योगी ने किया वो हाल, देश के दंगाईयों के उड़े होश : मो. तारिक़

Posted by

Mohammed Tarique
==============
भोपाल/कासगंज ! उत्तर प्रदेश के सीएम श्री योगी आदित्यनाथ ने हाल ही में हुए कासगंज के दंगे को लेकर जैसा सख्त एक्शन लिया काश ऐसा ही एकशन देश की स्वतंत्रता के बाद से ही व्हशतनाक हैवानों ने धर्म जात के नाम लगभग 37 हज़ार दंगा कर विश्व में मादर ए वतन भारत का शर्म से सर झुका दिया जो आज भी निरंतर जारी हैं ! जहां देश के प्रधानमंत्री सभी छोटे बड़े देशों में जा जाकर भारत को शांती अमन और विकसित देश बता रहें ताकी भारत में विदेशी निवेष हो तो देश में आर्थिक स्थिती बहतर सहित बेरोज़गारों को रोज़गार के आयाम खुले परंतु दंगाई अपना धर्म निभाने से पीछे हटने को त्यार नही ! वाह रे वाह पंडित नेहरू और जिन्ना तुमने क्या धर्माधारित बांटा मेरे मादर ए वतन भारत को जो आज भी धर्म जात आधार पर बंटा हुआ हर इंसान पटा हुआ हैं ! आज योगी भले ही धार्मिक चौला माध्यम से राजनीत मे प्रवेश कर मुख्यमंत्री बन गए लेकिन कासगंज दंगा पर एकशन देख देख कर देश के समस्त दंगाइयों का मनोबल टूट गया है जो धर्म जात के नाम पर दंगा फेलाते हैं वेसे उक्त एकशन निष्पक्षय नही एक पक्षिया हैं परंतु फिर भी अगली बार ऐसी कोई हरकत करने से पहले हजार बार सोचेंगे ! हालांकि प्रशासन में बैठे कुछ अधिकारियों पर शुरुआत में राईट एकशन लेने पर दंगाईयों के होसले पस्त हों गए थे बाद में दंगाईयों को खुश करने पुन: आदेश पर दंगाईयों के नाम पर मतदाता सूची की तरह सूची बनाई जा रही हैं और उन अधिकारियों की फ़ज़िहत तो तय हैं जिनहोने निष्पक्षयता बरती और असल दंगाईयों को नामज़द कर मीडीया को सच्चाई बतलाई ! मगर सीएम के आदेश के बाद अब दंगाईयों के नाम फ़र्ज़ी नाम भी जोड़ मतदाता सूची की तरह सूची त्यार की जा रही हैं ! वेसे कुछ भी कहों यह दंगाईयों के खिलाफ लिया गया ऐतिहासिक एक्शन है।
*मुज़फ़फरनगर दंगा समय अल्पसंख्यक हितेषी उत्तरप्रदेश मे तो मुलायम सिंह यादव के स्पूत अखिलेश सिंह यादव की सरकार थी तो उसने योगी सरकार की तरह एकशन नही लिया बल्की उस शासन में तो दोनो पक्षो को ढील मिली हुई थी भले योगी सरकार में एक पक्ष को !*

अब देखिये योगी सरकार ने क्या-क्या किया है अब तक, जानिए …
“संपत्ति बेचकर करेंगे दंगे की भरपाई !”

150 से ज्यादा दंगाईयो को हिरासत में लिया जा चुका है. साथ ही कासगंज हिंसा के आरोपियों की संपत्ति को जब्त करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं. जिन-जिन दंगाईयों ने दंगा किया, सार्वजनिक संपत्ति को नुक्सान पहुंचाया, उन सभी की चल-अचल संपत्ति बेचकर नुक्सान की भरपाई की जायेगी। मंगलवार को मामले में फरार चल रहे तीन मुख्य अभियुक्तों समेत 18 आरोपियों के घर पर संपत्ति की कुर्की जब्ती का नोटिस चस्पा दिया गया। ये नोटिस सभी आरोपियों के घर मुनादी कराकर चस्पाए गए हैं, सभी आरोपियों को एक मार्च तक कोर्ट में हाजिर होने को कहा गया है। कोर्ट में पेश नहीं होने पर इन सभी आरोपियों की संपत्ति को कुर्क कर लिया जाएगा।

आरोपियों पर लगेगा रासुका-सलीम, वसीम, नसीम, जाहिद उर्फ जग्गा, आसिफ कुरैली उर्फ हिटलर, असलम कुरैशी, असीम कुरैशी, नसरुद्दीन, अकरम, तौफिक, खिल्लन, शबाव, राहत, सलमान, मोहसिन, आसिफ जिम वाला, सादिक और बबलू जैसे कई जिहादियों के खिलाफ केस दर्ज किया जा चुका है. इन आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 147, 148, 149, 341, 336, 307, 302, 504, 506, 124A के तहत मामले दर्ज किए गए हैं इनके अलावा कोई और दंगाई नही ! आरोपियों पर रासुका देशद्रोह लगाने की तैयारी हो रही है ताकि लम्बे वक़्त तक जेल की सलाखों के पीछे ही रहे ! शहीद चंदन गुप्ता का हत्यारा हत्या गिरफ्तार किया जा चूका है 2 और को गिरफ्तार करने के लिए एसटीएफ़ पूरी ताकत झोंक दी है ! आगरा-अलीगढ़ मंडल की पुलिस भी उनकी तलाश में जुटी है ! सीएम योगी के सख्त आदेश हैं कि जब तक दंगे में शामिल एक-एक दंगाई को गिरफ्तार नहीं कर लिया जाता, तब तक पुलिस टीमें, सेना, अर्धसैनिक बल आईज कासगंज में डेरा जमाये रहेंगे।

इससे पहले मामले में गठित की एसआईटी ने आरोपियों के घर का ताला तोड़कर तलाशी ली। आईजी लोक शिकायत विजय सिंह मीना ने बताया कि कासगंज में तलाशी के दौरान एक डबल बैरल, एक देशी सिंगल बैरल बन्दूक, 6 कारतूस और आठ खोखे बरामद किए गए हैं ! सीसीटीवी, ड्रोन की सहायता ली गयी, आरएएफ की तैनाती की गयी और जिहादी तत्वों को घरों से घसीट निकाला गया। 500 से ज्यादा दंगाई की जमकर धुनाई की गई। मिडिया को खदेड़ दिया गया और दंगाई के दरवाजे तोड़ तोड़कर उनको वो सबक सिखाया के अस्पताल जाने लायक भी नही रहे ! केवल 48 घंटों के अंदर ऐसा सख्त एक्शन लिया गया, जैसा आज तक नहीं देखा गया था !

*योगी आदित्यानाथ की चुनी सरकार सनातन धर्मानुयाईयों ने तो योगी सरकार का दायित्व बनता है उनकी रक्षा करें यही धर्म कहता हैं ! कम से कम योगी आदित्यानाथ अधर्मी तो नहीं मुलायम अखिलेश, मायावती या कांग्रेसियों की तरह जो वादा कर लें वोट और पीछे से देते रहें चौट ! शहीद चन्दन गुप्ता के परिवार को 20 लाख का चेक दिया गया है ! परिवार के सदस्यो को पुलिस सुरक्षा दी गई है ! परिवार के एक सदस्य को सरकारी नोकरी का आश्वासन साथ ही योगी जी ने ये भी कहा कि उनके बेटे के हत्यारों को ऐसा दंड दिया जाएगा कि दंगे के बारे में सोच कर भी दंगाईयों की रूह कांपेगी। यह सबक़ आमौज़ ख़बर को इतना फैला दों की देश की स्वतंत्रता के बाद से ही हुए धार्मिक और जातिगत दंगों की धूल खा रही या दीमक खा रही फाइलो में छुपी अनुशंसाओं को बिल से बाहर निकाला जाएं जिसमे कृष्ण आयोग रिपोर्ट सहित गुजरात में 1961 से 2002 तक के दंगों देश में लगभग 37 हज़ार हुए दंगे या देश में जजों की हो रही हत्याओं पर जशन नही तो कम से कम भूलाया तो न जाए कि सेकुलर दलदल पट्टेधारी वोट बेंक अल्पसंख्यक समुदाए को लगी हर चौट का एहसास हो जाए ज़ख्म न्या हो या पुराना कौम के नाम कर रहे राजनीत के चेहरा बे-नकाब तो हो जाए !*

*”अब तो फिर यह वैचारिक द्वंद हैं !*
*मो. तारिक़*
*(स्वतंत्र-लेखक)*