10 फ़रवरी का इतिहास : 23 जमादिउल अव्वल 1307 हिजरी क़मरी को भारत के प्रसिद्ध धर्मशास्त्री, धर्मगुरु सैयद मुहम्मद इब्राहीम का निधन हुआ

10 फ़रवरी का इतिहास : 23 जमादिउल अव्वल 1307 हिजरी क़मरी को भारत के प्रसिद्ध धर्मशास्त्री, धर्मगुरु सैयद मुहम्मद इब्राहीम का निधन हुआ

Posted by

10 फ़रवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
==============
1495 – इंग्लैंड में सर विलियम स्टैनली को मौत के घाट उतार दिया गया।
1616 – ब्रिटेन के राजदूत सर थॉमस रो मुग़ल शासक जहांगीर के दरबार अजमेर में आये।
1692 – कलकत्ता के संस्थापक जॉब चारनॉक का कलकत्ता में निधन।
1763 – पेरिस संधि के तहत फ़्रांस ने कनाडा ब्रिटेन को दे दिया।
1811 – रूसी सैनिकों ने बेलग्रेड पर कब्ज़ा किया।
1817 – ब्रिटेन, प्रसिया, आस्ट्रिया और रूस ने फ़्रांस से अपनी फ़ौजें हटाने की घोषणा की।
1818 – अंग्रेजों तथा मराठा के बीच तीसरा तथा अंतिम युद्ध रामपुर में लड़ा गया।
1828 – दक्षिण अमेरिकी क्रान्तिकारी साइमन बोलिवार कोलंबिया के शासक बने।
1846 – अंग्रेजों ने सोबरांव की लड़ाई में सिखों को पराजित किया।
1848 – फर्नीनांड प्रथम ने नया संविधान लागू किया।
1879 – अमेरिका के कैलिफोर्निया थियेटर में पहली बार रोशनी के लिए बिजली का इस्तेमाल किया गया।
1890 – रूसी लेखक बोरिस पेस्टरनाक का जन्म।
1904 – जापान तथा रूस ने युद्ध की घोषणा की।
1912 – ब्रिटेन के किंग जार्ज पंचम तथा क्वीन मैरी भारत से रवाना।
1916 – ब्रिटेन में सैन्य भर्ती शुरू हुआ।
1918 – सोवियत नेता लियो ट्रोटस्की ने रूस के प्रथम विश्व युद्ध से हटने की घोषणा की।
1921 -काशी विद्यापीठ का उद्घाटन गांधी जी ने किया।
1929 – जे.आर.डी. टाटा पायलट लाइसेंस पाने वाले पहले भारतीय बने।
1931 – दिल्ली भारत की राजधानी बनी।
1933 – जर्मनी के तानाशाह हिटलर ने मार्क्सवाद के समाप्त होने की घोषणा की।
1939 – जापानी सैनिकों ने हेनान द्वीप, चीन पर अधिकार कर लिया।
1947 – नीदरलैंडस रेडियो यूनियन की स्थापना।
1943 – द्वितीय विश्वयुद्ध में ब्रिटिश सैनिक टयूनिशिया की सीमा पर पहुँचे।
1959 – अमेरिका के सेंट लुईस में तूफान से 19 की मौत 265 घायल।
1961 – अमेरिका ने वेस्टइंडीज में अनेक स्थानों पर अपना दावा छोड़ा।
1966 – यूरोपीय देश बेल्जियम में हारमेल की सरकार ने इस्तीफ़ा दिया।
1969 – पश्चिम बर्लिन यात्रा पर जर्मन प्रतिबंध को अमेरिका, ब्रिटेन और फ़्रांस ने अस्वीकार कर दिया।
1972 – सोवियत संघ ने पूर्वी कजाखस्तान में परमाणु परीक्षण किया।
1974 – इराक ने सीमा संघर्ष में 70 ईरानी सैनिकों को मारने का दावा किया।
1979 – ईटानगर को अरुणाचल प्रदेश की राजधानी बनाया गया।
1981 – खगोलविद राय पेंथर द्वारा धूमकेतु की खोज।
1984 – सोवियत राष्ट्रपति यूरी आंद्रोपोव का देहांत।
1989 – अमेरिका ने नवादा परीक्षण-स्थल पर परमाणु परीक्षण किया।
1991 – पेरू में हैजे से 51 लोगों की मौत।
1992 – अंडमान और निकोबार द्वीप विदेशी पर्यटकों के लिए खुला।
1996 – आईबीएम सुपर कम्प्यूटर ‘डीप ब्ल्यू’ ने शतरंज में गैरी कास्परोव को हराया।
1998 – पर्यावरण सुधार कार्यक्रमों के लिए 35 देशों द्वारा ‘ग्लोबल इनवायरमेंट फ़ेसिलिटी’ पर अंतर्राष्ट्रीय समझौता सम्पन्न, पाक प्रधानमंत्री नवाज शरीफ़ द्वारा ‘पाकिस्तान-2000’ नामक कार्यक्रम की घोषणा।
2001 – होनोलूलू में अमेरिकी आणविक पनडुब्बी जापानी नौका से टकराई, 10 छात्र लापता।
2004 – बगदाद में पुलिस स्टेशन के बाहर हुए कार बम विस्फोट में 45 लोगों की मौत हो गई।
2005 – सुरक्षा परिषद की भारतीय दावेदारी के समर्थन में डेमोक्रेट सांसद फ़्रैंक पालोन ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में विधेयक पेश किया।
2006 – नेपाल के नगर-निगम चुनाव में राजा समर्थकों ने जीत दर्ज की।
2008 – श्रीलंका के उत्तर में सैनिकों व लिट्टे के बीच हुए संघर्ष में 42 विद्रोही मारे गये।
2009 – सोमालिया तट पर भारत-रुस की नौसेनाओं का संयुक्त अभ्यास प्रारम्भ हुआ। प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित भीमसेन जोशी को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारतरत्न से सम्मानित किया गया।
2013 – इलाहाबाद में कुंभ मेले के दौरान भगदड़ मचने से 36 लोगों की मौत हो गई जबकि 39 अन्य लोग घायल हो गए।

10 फ़रवरी को जन्मे व्यक्ति
1970 – कुमार विश्वास- हिन्दी मंच के एकमात्र ऐसे कवि, जिनकी कविता भारत के प्राय:सभी बड़े मोबाईल आपरेटरों के कॉलर ट्यून (काल करने वाले को सुनाई देने वाला ट्यून) में शामिल है।
1805 – कुरिआकोसी इलिआस चावारा – केरल के सीरियन कैथॉलिक संत तथा समाज सुधारक।
1915 – सुरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव -प्रसिद्ध लेखक थे।

10 फ़रवरी को हुए निधन
1995- गुलशेर ख़ाँ शानी- प्रसिद्ध साहित्यकार

==============

1763 में सात वर्षों तक जारी रहने वाले फ्रेंच- इंडियन युद्ध का अंत हुआ।
1846 अग्रेज़ों ने सिखों को पराजित किया।
1859 जनरल हास्फोर्ड ने अवध की बेगम हज़रत महल को पराजित किया
1921 महात्मा गांधी ने काशी विद्यापीठ का उद्धाटन किया।
1931 भारत की राजधानी पुरानी दिल्ली से नयी दिल्ली स्थानान्तरित कर दी गयी।
1962 में सोवियत युनियन की अमरीकी जासूस की रिहाई के समझौते पर अमरीका के साथ दस्तखत किये।
1992 अंडमान निकोबार द्वीप समूह को विदेशियों के लिए खोला गया।
1996 में ” डीप ब्लू” नामी आईबीएम कंम्यूटर, शतरंज में गैरी कास्पारोव को हरा कर शंतरज के चैम्पियन को हराने वाली पहली मशीन बना।

=================
10 फ़रवरी सन 1763 ईसवी को पेरिस में ब्रिटेन और फ़्रांस के बीच एक समझौते पर हस्ताक्षर हुए जिसे फ़्रांसीसी, पेरिस का अशुभ समझौता कहते हैं।क्योंकि इस समझौते के अनुसार फ़्रांस ने ब्रिटेन से वर्षों के युद्ध और खींचतान के बाद भारत और कैनेडा में अपने सारे साम्राज्यवादी लाभों और हितों से हाथ खींच लिया था। इस समझौते का कारण यह था कि फ़्रांस योरोप में बहुत से आंतरिक युद्धों के कारण कमज़ोर हो गया था और ब्रिटेन के साथ युद्ध को जारी रखने की सकत उसके पास नहीं थी। पेरिस समझौता इस बात का कारण बना कि फ़्रांस और ब्रिटेन के बीच वर्चस्ववादी और साम्राज्यवादी लड़ाई समाप्त हो तथा लंदन को अपने उप निवेशों को लूटने की खुली छूट मिल जाए।

=================

10 फ़रवरी सन 1947 ईसवी को द्वितीय विश्व युद्ध में घटक सरकारों और संयुक्त सेनाओं के बीच शांति समझौते पर हस्ताक्षर हुए। इस दिन अमरीका सोवियत संघ ब्रिटेन और फ़्रांस ने इस युद्ध में पराजय का सामना करने वाले देशों इटली फिनलैंड हॉलैंड हंग्री रोमानिया और बुलगारिया के साथ शांति समझौता किया। इस प्रकार इन छे देशों ने दोबारा अपनी स्वाधीनता प्राप्त की। अल्बत्ता चार देशों हॉलैंड हंग्री रोमानिया और बुलगारिया कि जिनपर द्वितीय विश्व युद्ध के अंतिम वर्ष में सोवियत संघ ने अधिकार कर लिया था, विवशत: कम्युनिस्ट शासन के अधीन रहे। संयुक्त देशों ने जर्मनी और जापान के बारे में अलग निर्णय लिए।

=================

10 फ़रवरी सन 1991 ईसवी को लिथवानिया की जनता ने इस देश को रुस से स्वाधीनता दिलाने के लिए भारी संख्या में वोट डाले। इस देश की संसद ने मार्च सन 1990 में स्वाधीनता की घोषणा की।

=================

10 फ़रवरी सन 1998 ईसवी को बांग्लादेश में मुक्ति वाहिनी छापामार गुट ने स्वाधीनता की लड़ाई को समाप्त करते हुए सरकार के समक्ष हथियार डाल दिए। इसके बाद इस देश की 25 वर्षीय हिंसा समाप्त हुई जिसमें हज़ारों 5 लोग मारे गये थे।

=================
21 बहमन सन 1357 हिजरी शम्सी को ईरान के अत्याचारी शासक शाह के जनरलों ने तेहरान में कर्फ़यू की अवधि बढ़ा दी। इस क़दम का लक्ष्य क्रान्ति में शामिल होने वाले वायु सेना के अधिकारियों तक जनता की सहायता पहुंचने से रोकना था कि जिन पर शाह के सुरक्षा कर्मियों ने धावा बोल दिया किंतु इमाम ख़ुमैनी ने दूरदर्शिता भरा क़दम उठाते हुए जनता से अपील की कि वो सैनिक राज की उपेक्षा करे।

जनता ने इमाम ख़ुमैनी का यह संदेश पाकर सड़कों पर प्रदर्शन आरंभ कर दिया। दूसरी ओर सेना भी जनता से भिड़ना नहीं चाहती थी और बहुत से सैनिक क्रान्तिकारियों के साथ जा मिले थे।

उधर शाह के प्रधान मंत्री शापुर बख़्तियार ने जिनके हाथ से परिस्थितियां पूरी तरह निकल चुकी थीं अपनी सरकार को बचाने के लिए अंतिम प्रयास किया।

किंतु इस्लामी क्रान्ति सफल हो कर रही।

=================

23 जमादिउल अव्वल सन 552 हिजरी क़मरी को इराक़ी सरकार के मंत्री इब्ने सदक़ा का निधन हुआ और उन्हें बग़दाद में दफ़्न किया गया। मंत्रालय का पद ग्रहण करने से पूर्व उन्होंने साहित्य और हदीस का ज्ञान प्राप्त किया। सन 542 हिजरी क़मरी में वे मंत्री बने और उन्हें क़ेवामुद्दीन की उपाधि दी गयी। वे अधिक समय तक मंत्री पद पर बने न रह सके। उनके विरोधियों ने उनके विरुद्ध बहुत प्रोपेगैंडा किया जिसके कारण दो वर्ष बाद ही उन्होंने मंत्री पद से त्यागपत्र दे दिया।

=================

23 जमादिउल अव्वल सन 1307 हिजरी क़मरी को भारत के प्रसिद्ध धर्मशास्त्री, धर्मगुरु सैयद मुहम्मद इब्राहीम का निधन हुआ। वे सैयदुल ओलमा के नाम से प्रसिद्ध थे। उन्होंने चौदहवीं शताब्दी के आरंभ में अपने पिता के निधन के बाद भारत के कुछ स्थानों पर धार्मिक ज्ञान के प्रसार व प्रचार में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई। धर्म के प्रचार व प्रसार के अतिरिक्त सैयदुल ओलमा ने कई महत्त्वपूर्ण व मूल्यवान पुस्तकें भी लिखी हैं।