7 फ़रवरी का इतिहास : 20 जमादिउल अव्वल 737 हिजरी क़मरी को विख्यात धर्मगुरू अबू अब्दुल्लाह मोहम्मद बिन मोहम्मद अब्दरी फ़ासी का निधन हुआ

7 फ़रवरी का इतिहास : 20 जमादिउल अव्वल 737 हिजरी क़मरी को विख्यात धर्मगुरू अबू अब्दुल्लाह मोहम्मद बिन मोहम्मद अब्दरी फ़ासी का निधन हुआ

Posted by

7 फ़रवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
============
-प्रुशिया एवं आस्ट्रेलिया ने 1792 में फ़्रांस के ख़िलाफ़ एक समझौते पर हस्ताक्षर किये।
-यूरोपीय देश बेल्जियम ने 1831 में संविधान स्वीकार किया।
-अमेरिका के बाल्टिमोर में 1904 में जबरदस्त आग लगने से पन्द्रह सौ इमारतें जल कर खाक।
-चलती ट्रेन से 1915 में पहली बार भेजा गया वायरलेस संदेश रेलवे स्टेशन को प्राप्त हुआ।
-ब्रिटेन में रेलवे का राष्ट्रीयकरण 1940 में हुआ।
-यूनाइटेड किंगडम ने थाईलैंड के खिलाफ युद्ध की घोषणा 1942 में की।
-अमेरिका, ब्रिटेन, और रूस ने 1945 में द्वितीय विश्व युद्ध के अंतिम चरण पर चर्चा की।
-अरब और यहूदियों ने 1947 में फिलीस्तीन को विभाजित करने के ब्रिटेन के प्रस्ताव को खारिज किया।
-क्यूबा से सभी तरह के आयात पर अमेरिका ने 1962 में रोक लगाई।
-जर्मनी की एक कोयला खदान में 1962 में हुए विस्फोट से लगभग 300 मज़दूरों की जान गयी।
-अमेरिका ने 1965 में उत्तरी वियतनाम में लगातार हवाई हमले शुरु किये।
-1983 में कोलकाता में ईस्टर्न न्यूज एजेंसी की स्थापना।
-जापान द्वारा 1987 में अफ़्रीकन नेशनल कांग्रेस (ए.एन.सी) को मान्यता।
-1999 में जार्डन के शाह हुसैन की मौत, अब्दुला नये शाह बने।
-महाराष्ट्र के राज्यपाल एससी जमीर ने 2009 में स्वतंत्र भारत की 12वी तथा पहली महिला राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को डी॰ लिट् की उपाधि से नवाजा।

7 फ़रवरी को जन्मे व्यक्ति – Born on 7 February
============
-डॉ. भीमराव आम्बेडकर की पत्नी रमाबाई आम्बेडकर का जन्म सन 1898 में हुआ।
-प्रमुख क्रान्तिकारी तथा लेखक मन्मथनाथ गुप्त का जन्म सन 1908 में हुआ।
-भोजपुरी और हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध अभिनेता सुजीत कुमार का जन्म सन 1934 में हुआ।
-मार्क्सवादी नेता एस. रामचंद्रन पिल्लै का जन्म सन 1938 में हुआ।
-भारत के प्रसिद्ध बैडमिंटन खिलाड़ी किदम्बी श्रीकान्त का जन्म सन 1993 में हुआ।

7 फ़रवरी को हुए निधन – Died on 7 February
============
-1942 में भारत के प्रसिद्ध क्रांतिकारी शचीन्द्रनाथ सान्याल का निधन।
-2010 में पंजाबी के प्रसिद्ध आलोचक डा. टी आर विनोद का निधन।

7 फ़रवरी वर्ष 1999 को जार्डन के शाह हुसैन की मृत्यु हुई और अब्दुलाह नये शाह बने।

7 फ़रवरी वर्ष 1792 को आस्ट्रेलिया एवं प्रुशिया ने फ़्रांस के ख़िलाफ़ एक समझौते पर हस्ताक्षर किये।

7 फ़रवरी वर्ष 1831 को बेल्जियम में संविधान लागू हुआ।

7 फ़रवरी वर्ष 1856 को नवाब वाजिद अली शाह द्वारा अवध राज्य का ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी में शांतिपूर्ण विलयन हुआ।

7 फ़रवरी वर्ष 1904 को अमेरिका के बाल्टिमोर में ज़बरदस्त आग लगने से पन्द्रह सौ इमारतें जल कर खाक हो गयीं।

7 फ़रवरी वर्ष 1915 को चलती ट्रेन से पहली बार भेजा गया वायरलेस संदेश रेलवे स्टेशन को प्राप्त हुआ।

7 फ़रवरी वर्ष 1940 को ब्रिटेन में रेलवे का राष्ट्रीयकरण हुआ।

7 फ़रवरी वर्ष 1942 को यूनाइटेड किंगडम ने थाईलैंड के खिलाफ़ युद्ध की घोषणा की।

7 फ़रवरी वर्ष 1945 को ब्रिटेन, अमेरिका और रूस ने द्वितीय विश्व युद्ध के अंतिम चरण पर चर्चा की।

7 फ़रवरी वर्ष 1947 को अरब और यहूदियों ने फ़िलीस्तीन को विभाजित करने के ब्रिटेन के प्रस्ताव को खारिज कर दिया।

7 फ़रवरी वर्ष 1959 को फिदेल कास्त्रो ने क्यूबा के नये संविधान की घोषणा की।

7 फ़रवरी वर्ष 1962 को अमेरिका ने क्यूबा से सभी तरह के आयात पर रोक लगा दी।

7 फ़रवरी वर्ष 1962 को जर्मनी की एक कोयला खदान में विस्फोट से 298 मज़दूरों की मौत हुई।

7 फ़रवरी वर्ष 1962 को 7 फ़रवरी वर्ष 1965 को अमेरिका ने उत्तरी वियतनाम में लगातार हवाई हमले शुरु किये।

7 फ़रवरी वर्ष 1983 को कोलकाता में ईस्टर्न न्यूज़ एजेंसी की स्थापना हुई।

7 फ़रवरी वर्ष 1987 को जापान द्वारा अफ़्रीकन नेशनल कांग्रेस ए.एन.सी को मान्यता मिली।

7 फ़रवरी वर्ष 1992 को स्वदेशी तकनीक से निर्मित पहली पनडुब्बी आईएनएस शाल्की को भारतीय नौसेना में शामिल किया गया।

7 फ़रवरी वर्ष 1997 को संयुक्त राज्य अमेरिका के स्टीफ़न स्क्यूवैल अगले तीन वर्ष हेतु अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के अध्यक्ष चुने गये।

7 फ़रवरी वर्ष 1999 को जार्डन के शाह हुसैन की मृत्यु हुई और अब्दुलाह नये शाह बने।

7 फ़रवरी वर्ष 2000 को भारत और संयुक्त राज्य अमरीका के बीच गठित संयुक्त आतंकवाद विरोधी दल की प्रथम बैठक वाशिंगटन में शुरू हुई।

7 फ़रवरी वर्ष 2001 को ज़ायोनी प्रधानमंत्री एहुद बराक चुनाव में पराजित हुए और एरियल शेरोन नए प्रधानमंत्री बने।

7 फ़रवरी वर्ष 2003 को फ़्रांस के प्रधानमंत्री ज्यां पियरे रैफ़रिन भारत यात्रा पर नई दिल्ली पहुँचे।

7 फ़रवरी वर्ष 2006 को नेपाल में स्थानीय निकायों हेतु मतदान सम्पन्न हुए।

7 फ़रवरी वर्ष 2008 को केन्द्र सरकार ने सिमी पर प्रतिबन्ध की अवधि बढ़ाई।

7 फ़रवरी वर्ष 2008 को इक्वेडोर का तंगुराही ज्वालामुखी फटा।

7 फ़रवरी वर्ष 2009 को राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को महाराष्ट्र के राज्यपाल एससी ज़मीर ने डी॰ लिट् की उपाधि से सम्मानित किया।।

================

7 फ़रवरी वर्ष 2010 को दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित 19वाँ अंतर्राष्ट्रीय पुस्तक मेला समाप्त हो गया। नौ दिनों तक चले इस पुस्तक मेले में लगभग दो हज़ार प्रकाशकों ने भाग लिया।
================

7 फ़रवरी सन 1862 ईसवी क ब्रिटेन के साहित्याकार और अध्ययनकर्ता एडवर्ड ब्राउन का जन्म हुआ। उन्होंने अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद अरबी फ़ार्सी और तुर्की भाषाएं सीखीं। उन्हें फ़ार्सी भाषा और साहित्य से गहरा लगाव था। इसी लिए वे लम्बे समय तक ईरान में रहे और फ़ार्सी साहित्य के बारे में गहन अध्ययन के बाद ब्रिटेन लौटे। वहॉ वे कैम्ब्रिज विश्व विद्यालय में फ़ार्सी के प्रोफ़ेसर हुए। उन्होंने ईरान की सविधान क्रान्ति की घटनाओं को शब्दों का रूप दिया। इसी प्रकार उन्होंने ईरानी साहित्य का इतिहास और तबरिसतान का इतिहास आदि पुस्तकें लिखीं। सन 1925 ईसवी में एडवर्ड ब्राउन का निधन हुआ।

================

7 फ़रवरी सन 1974 ईसवी को केंद्रीय अमरीका महाद्वीप में स्थित छोटे देश ग्रेनाडा को स्वतंत्रता मिली। स्पेन के खोजकर्ता क्रिस्टोफ़र कोलम्बस ने इस द्वीप की सन 1498 ईसवी में खोज की जिसके बाद यह देश स्पेन के अधीन हो गया किंतु स्पेन के राजा का पतन आरंभ होने के बाद फ़्रांस और ब्रिटेन के बीच ग्रेनाडा पर अधिकार को लेकर खींचतान आरंभ हो गयी और अंतत: 1674 ईसवी में फ़्रांस ने इस देश पर अधिकार कर लिया। इसके लगभग एक शताब्दी बाद सन 1783 ईसवी में ब्रिटेन ने इस देश को अपना उपनिवेश बना लिया और दो शताब्दियों तक इस स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया और 1974 ईसवी में इसे स्वतंत्रता मिली। पॉच वर्ष बाद मोरिस बिशप ने एक शांत विद्रोह करके इस देश में धर्म निरपेक्ष सरकार की स्थापना की तथा इस प्रकार की शासन व्यवस्था वाले देशों विशेषकर क्यूबा से उनके निकट संबंध हो गये। अमरीका ने जो इस स्थिति से क्रोधित था सन 1982 में इस देश पर अधिकार कर लिया और मूरिस बिशप की हत्या कर दी। अमरीका ने इस देश से निकलने तक इसकी बागडोर अपनी पिट्ठू सरकार के हवाले कर दी।

================

7 फ़रवरी सन 1999 ईसवी को जार्डन के नरेश हुसैन बिन तलाल का कैंसर के रोग में निधन हुआ। वे सन 1935 ईसवी में जॉर्डन की राजधानी अम्मान में जन्में थे। उन्होंने ब्रिटेन के सैनिक विश्व विद्यालय में अपनी शिक्षा पूरी की। हुसैन बिन तलाल 17 वर्ष के थे कि जॉर्डन की सत्ता उनके हाथ में आ गयी। उनके दादा अब्दुल्ला की हत्या के बाद उनके पिता तलाल ने शासन संभाला किंतु वे कुछ ही महीनों तक शासन कर सके जिसके बाद सन 1952 में हुसैन बिन तलाल ने सत्ता संभाल ली। उनके शासन काल में बहुत से विद्रोह हुए तथा उनकी हत्या की कई बार कोशिशें की गयीं। उन्हें ज़ायोनी शासन के अतिक्रमण का भी सामना करना पड़ां इसी प्रकार 1970 में जार्डन में फ़िलिस्तीनियों का जनसंहार भी उनके शासन काल की मुख्य घटनाओं में है। वे अमरीका के अरबों तथा इस्राईल के बीच तथाकथित शांति स्थापना की योजना का बढ़ चढ़कर समर्थन करते थे और सन 1994 में उन्होंने ज़ायोनी शासन के साथ एक समझौता पर हस्ताक्षर भी किये। शाह तलाल के बाद उनके पुत्र अब्दुल्लाह ने 37 वर्ष की आयु में जार्डन की सत्ता संभाली।

================

20 जमादिल अव्वल सन 682 हिजरी क़मरी को इस्लामी जगत के विख्यात धर्मगुरू और अध्ययनकर्ता मोहम्मद बिन हसन हिल्ली का इराक़ के हिल्ला नगर में जन्म हुआ। वे फ़ख़रुल मोहक़्क़ेक़ीन की उपाधि से प्रसिद्ध थे। उनकी शिक्षा-दीक्षा उनके पिता अल्लामा हिल्ली के निरीक्षण में हुई जो स्वयं भी एक वरिष्ठ धर्मगुरू थे। फ़ख़रुल मोहक़्क़ेक़ीन को जितनी ख्याति ज्ञान के कारण मिली उतनी ही प्रसिद्धी उन्हें उनके सदकर्मों और त्यागी जीवन के चलते भी प्राप्त हुई। उन्होंने तफ़सीर, फ़िक़ह, उसूले फ़िक़ह और कलाम आदि इस्लामी विषयों में बहुत मूल्यवान अध्ययन और शोध कार्य किये। तहसीलुन्नजात और, अलकाफ़िया आदि उनकी विख्यात पुस्तकें हैं। वर्ष 771 हिजरी क़मरी में उनका निधन हुआ।

================

20 जमादिउल अव्वल सन 737 हिजरी क़मरी को विख्यात धर्मगुरू, अबू अब्दुल्लाह मोहम्मद बिन मोहम्मद अब्दरी फ़ासी का निधन हुआ। वे इब्ने हाज की उपाधि से विख्यात थे। उन्होंने आरंभ में वर्तमान मोरक्को देश के फ़ास नगर में शिक्षा ग्रहण की फिर वे क़ाहेरा चले गए और जीवन के अंतिम क्षणों तक वहीं रहे। उन्होंने क़ाहेरा के महान विद्वानों से ज्ञान अर्जित किया और फिर वहीं अध्यापन में लीन हो गए। इब्ने हाज की सबसे महत्वपूर्ण पुस्तक का नाम अलमदख़ल है। उन्होंने इस पुस्तक में आर्थिक, धार्मिक और नैतिक विषयों के बारे में विस्तार से लिखा है।