9 फ़रवरी का इतिहास : 22 जमादिउल अव्वल 1211 हिजरी क़मरी को खगोलशास्त्री और गणितज्ञ मिर्ज़ा हुसैन दोस्त मुहम्मद इस्फ़हानी का जन्म हुआ

9 फ़रवरी का इतिहास : 22 जमादिउल अव्वल 1211 हिजरी क़मरी को खगोलशास्त्री और गणितज्ञ मिर्ज़ा हुसैन दोस्त मुहम्मद इस्फ़हानी का जन्म हुआ

Posted by

9 फ़रवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ
==============
1667 – रूस और पोलैंड के बीच शांति समझौते पर हस्ताक्षर किये गये।
1788 – आस्ट्रिया ने रूस के ख़िलाफ़ युद्ध की घोषणा की।
1801 – फ्रांस और आस्ट्रिया ने लुनेविल्लै शांति समझौते पर हस्ताक्षर किये।
1824 – उन्नीसवीं सदी के प्रसिद्ध बंगाली कवि और नाटककार माइकल मधुसूदन दत्ता ने ईसाई धर्म अपनाया।
1931 – भारत में पहली बार किसी व्यक्ति के सम्मान में चित्र समेत डाक टिकट जारी किया गया।
1941 – ब्रिटिश सेना ने लीबिया के तटीय शहर अल अघीला पर कब्जा किया।
1951 – स्वतंत्र भारत में पहली जनगणना करने के लिये सूची बनाने का कार्य शुरु किया गया।
1962 – अमेरिका ने नेवादा में परमाणु परीक्षण किया।
1973 – बीजू पटनायक उड़ीसा की राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता चुने गए।
1979 – अफ्रीकी देश नाइजीरिया में संविधान बदला गया।
1991 – लिथुआनिया में मतदाताओं ने स्वतंत्रता प्राप्ति के लिए मतदान किया।
1999 – यूगांडा में एड्स के टीके ‘अलवाक’ का परीक्षण, भारतीय निर्देशक शेखर कपूर की फ़िल्म ‘एलिजाबेथ’ आस्कर पुरस्कार हेतु नामित।
2001 – शिवानतरा थाइलैंड के नए प्रधानमंत्री निर्वाचित, चीन-तिब्बत रेलामार्ग को मंजूरी, तालिबान का पाक से प्रत्यर्पण संधि से इंकार।
2002 – अफ़ग़ानिस्तान की पूर्व तालिबान सरकार के विदेश मंत्री मुत्तवकील का आत्मसमर्पण।
2007 – पाकिस्तान की विपक्ष पार्टी जमायती उलेमा इस्लामी ने जिन्ना को स्वतंत्रता सेनानी की सूची से हटाया।
2008-प्रख्यात सामाजिक कार्यकर्ता व दीन-दुखियों के देवता बाबा आम्टे का निधन।
2009- सर्वोच्च न्यायालय ने ताज व उसके आसपास अवैध निर्माण पर यू॰ पी॰ सरकार को नोटिस दिया।
2010- भारत सरकार ने बीटी बैंगन की व्यावसायिक खेती पर अनिश्चित काल के लिए रोक लगाई।
2016 – जर्मनी के बवारिया प्रांत में दो ट्रेनों की टक्कर में 12 लोगों की मौत और 85 अन्य घायल।

9 फ़रवरी को जन्मे व्यक्ति
1993 – परिमार्जन नेगी – भारतीय ग्रैंड मास्टर खिलाड़ी हैं।
1968 – राहुल रॉय – भारतीय फ़िल्म अभिनेता
1922 – सी. पी. कृष्णन नायर – भारत के प्रसिद्ध होटल उद्योगपति तथा ‘होटल लीला समूह’ के संस्थापक।
1945 – श्याम चरण गुप्ता – भारतीय जनता पार्टी के राजनीतिज्ञ।

9 फ़रवरी को हुए निधन
1760 – दत्ताजी शिन्दे – मराठा सेनापति थे।
1984 – टी. बालासरस्वती – ‘भरतनाट्यम’ की सुप्रसिद्ध नृत्यांगना।
1899 – बालकृष्ण चापेकर – स्वतन्त्रता सेनानी थे।
2006 – नादिरा – भारतीय फ़िल्म अभिनेत्री (जन्म- 1932)
2008 – बाबा आम्टे – विख्यात सामाजिक कार्यकर्ता, मुख्‍यत: कुष्‍ठरोगियों की सेवा के लिए विख्‍यात।
2012 – आे पी दत्ता – भारतीय निर्देशक, निर्माता और पटकथा लेखक।
2016 – सुशील कोइराला – नेपाल के 37वें प्रधानमंत्री।

=============

9 फ़रवरी सन 1649 ईसवी को ब्रिटेन में लोकतांत्रित शासन का आरंभ हुआ और ओलिवर क्रोमवेल इस देश के राष्ट्रपति बना वे ऐसी सेना के कमांडर थे जिसे संसद के समर्थकों ने इस लिए बनाया था कि वे ब्रिटेन के नरेश चार्ल प्रथम के अत्याचार पर विरोध करते हुए उनसे मुकाबला कर सकें।

चार्ल प्रथम की सेना संसद की सेना के साथ लड़ाई में पराजित हो गयी और सन 1649 में संसद के आदेश पर चार्ल की गर्दन उड़ा दी गयी। ब्रिटेन की संसद ने इसी प्रकार आज के दिन राजशाही व्यवस्था को समाप्त करके उसके स्थान पर लोकतांत्रित शासन व्यवस्था को स्थापित किया तथा क्रोमवेल को राष्ट्रपति चुना किंतु क्रामवेल ने सन 1653 में संसद को भंग करके ब्रिटेन में अत्याचार पर आधारित शासन आरंभ कर दिया। सन 1653 में क्रोमवेल का निधन हो गया और फिर उनके पुत्र ने उनका स्थान संभाला किंतु 8 महीने के बाद उन्हें आंतरिक विरोध और अपनी अयोग्यता के कारण त्यागपत्र देना पड़ा। इस प्रकार ब्रिटेन में फिर से राजशाही शासन व्यवस्था बहाल हो गयी। क्रोमवेल ने अपने 9 वर्षीय शासन काल में कई युद्ध किये जिनमें सबसे भीषण आयर लैंड पर होने वाला आक्रमण और वहॉ की जनता का जनसंहार था।

=============

9 फ़रवरी सन 1984 ईसवी को पूर्व सोवियत संघ के नेता यूरी एंड्रोपोव का निधन हुआ वे सोवियत संघ की गुप्तचर सेवा केजीबी के प्रमुख भी रह चुके थे। वे 15 महीनों से कुछ कम समय तक सत्ता में रहे।

=============

9 फ़रवरी सन 1992 ईसवी को अलजीरिया के संसदीय चुनावों में इस्लामी प्रवृत्ति वाले धड़े की भारी सफलता के बाद इस देश में सत्तासीन सैनिकों ने चुनावों के परिणामों को निरस्त और अलजीरिया इस्लामी मुक्तिमोर्चे को गैर कानूनी घोषित कर दिया। कुछ समय बाद इस देश के कई नेताओं को गिरफ़तार भी कर लिया गया। सेनाधिकारियों के इस क़दम से इस देश में हिंसा का क्रम आरंभ हुआ जिसमें बहुत सारे लोग मारे जा चुके हैं।

=============

20 बहमन सन 1357 हिजरी शम्सी को ईरान की वायु सेना के अधिकारियों द्वारा इस्लामी क्रान्ति के प्रति अपने समर्थन और इमाम ख़ुमैनी के प्रति अपने आज्ञापालन की घोषणा के बाद शाह के पिटठु सुरक्षाकर्मियों ने तेहरान में वायु सेना की एक छावनी पर आक्रमण किया इसकी सूचना बहुत तेज़ी से तेहरान में फैली जिसके नतीजे में कोने कोने से लोग वायु सेना की सहायता के लिए निकल पड़े। जनता ने जिसके पास हथियार के नाम पर कोई विशेष चीज़ नहीं थी अपने दृढ़ संकल्प द्वारा शाह के पिटठू सुरक्षाकर्मियों को पराजित कर दिया। इस प्रकार शाह के पतन का अंतिम चरण आरंभ हो गया।

=============

20 बहमन सन 1364 हिजरी शम्सी को इराक़ द्वारा थोपे गये युद्ध के दौरान ईरानी जियालों ने वलफ़ज्र 8 नामक सैनिक कार्रवाई शुरू की। यह कार्रवाई दोनों देशों की सीमा के दक्षिणी बिंदु पर हुई। इसमें हज़ारों ईरानी सैनिक तूफ़ानी नदी अरवंद के उस पार गये और इराक़ के दक्षिण पूर्वी नगर फ़ाव को जीत लिया। यह कार्रवाई इतनी अनापेक्षित जटिल और सफल थी कि विश्व के सैन्य मामलों के विशेषज्ञ और इराक़ी सरकार इससे आश्चर्यचकित रह गये। यह कार्रवाई सददाम पर युद्ध रोकने के लिए दबाव बनाने हेतु की गयी थी। इसमें इराक़ के लगभग हज़ारों सैनिक हताहत और घायल हुए थे।

=============

22 जमादिउल अव्वल सन 1211 हिजरी क़मरी को मुसलमान खगोलशास्त्री और गणितज्ञ मिर्ज़ा हुसैन दोस्त मुहम्मद इस्फ़हानी का जन्म हुआ। उनको खगोलशास्त्र और कैलेन्डर बनाने में दक्षता प्राप्त थी। उन्होंने 87 वर्षीय एक कैलेन्डर तैयार किया था। दोस्त मुहम्मद इस्फ़हानी का 81 वर्ष की आयु में निधन हुआ और इराक़ के पवित्र नगर नजफ़ में उन्हें दफ़्न किया गया।