2019 के चुनाव नज़दीक हैं, मोदी को लगता है पाकिस्तान के साथ दोस्ती का हाथ बढ़ाने से उनके वोट कट जाएंगे : पाक का आरोप

Posted by

पाकिस्तान के सूचना मंत्री फ़वाद चौधरी का कहना है कि पाकिस्तान की सरकार और सेना दोनों शांति बहाली के लिए तत्पर हैं पर भारत की तरफ़ से अब तक कोई सकारात्मक जवाब नहीं आया है।

प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान के सूचना मंत्री फ़वाद चौधरी ने कहा कि पाकिस्तान जल्द ही भारत से करतारपुर सीमा के ज़रिए सिख तीर्थयात्रियों को बिना वीज़ा के पाकिस्तान आने देने का फ़ैसला लेने वाला है। उन्होंने कहा कि हज़ारों की संख्या में भारत से सिख समुदाय के लोग पाकिस्तान में गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन करने आते हैं। इस गुरुद्वारे का सिख समुदाय में काफ़ी महत्व है। गुरुद्वारा, रावी नदी के तट पर पाकिस्तान के नारोवाल ज़िले के करतारपुर में है।

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक़, गुरुद्वारा दरबार साहिब, डेरा दरबार साहिब रेलवे स्टेशन से केवल चार किलोमीटर की दूरी पर है। फ़वाद चौधरी ने कहा कि इसके लिए एक तंत्र विकसित किया गया है और कुछ महीनों के भीतर ही एक सुनिश्चित समय के लिए सिख श्रद्धालुओं को बिना वीज़ा के इस धार्मिक स्थल के लिए एंट्री मिलेगी। उन्होंने कहा कि चुनाव जीतने के बाद से ही पाक प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने भारत को कई सकारात्मक संकेत दिए हैं। फ़वाद चौधरी ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री और सेना के प्रमुख दोनों इस बात को मानते हैं कि बिना शांति और स्थिरता के कोई भी देश प्रगति की राह पर नहीं आगे नहीं बढ़ सकता है।

पाकिस्तान के सूचना मंत्री फ़वाद चौधरी का कहना था कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बातचीत भी की थी, लेकिन भारत ने अपनी प्रतिक्रिया में कोई गर्मजोशी नहीं दिखाई। चौधरी ने भारत के प्रधानमंत्री पर यह भी आरोप लगाय कि, मोदी के साथ समस्या यह है कि उन्होंने पाकिस्तान विरोधी अभियान चला रखा है। भारत में एक बार फिर से चुनाव नज़दीक हैं इसलिए उनकी पार्टी बीजेपी को लगता है कि पाकिस्तान के साथ दोस्ती का हाथ बढ़ाने से उसके वोट कट जाएंगे।