22 साल बाद इस गॉंव में निकली पहली बारात, वजह जान कर हैरान रह जायेंगे!

Posted by

Sagar_parvez
===========
धौलपुर-राजस्थान : आपको सुनकर हैरानी हो सकती है लेकिन ये सच है। राजस्थान का एक गांव ऐसा है जहां करीब 22 साल बाद कोई शख्स दूल्हा बना है। 22 साल बाद इस गांव से कोई बारात निकली है। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि इस गांव में मूलभूत सुविधाओं का बेहद अभाव था। यहां पानी, बिजली की सप्लाई और सड़क की सुविधा नहीं होने की वजह से कोई भी इस गांव में अपनी बेटी की शादी नहीं करता था। हालात ऐसे हो गए कि यहां पिछले दो दशक में कोई बारात नहीं निकली। हालांकि इस बार जब इस गांव से बारात निकली और शहनाई बजी तो लोगों ने जमकर खुशी मनाई।

मामला धौलपुर के राजघाट गांव का
पूरा मामला धौलपुर के राजघाट गांव का है। ये गांव धौलपुर जिला मुख्यालय से महज 5 किलोमीटर दूर है। बावजूद इसके प्रशासन की अनदेखी की वजह से यहां के लोगों को खासी परेशानी उठानी पड़ती है। इस गांव में मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। यही वजह है कि राजघाट गांव में कोई भी लड़की वाला अपनी बेटी की शादी नहीं करना चाहता। इस गांव के लोग अपने लड़कों की शादी के लिए दूसरे गांव में जाते हैं लेकिन जैसे उन्हें गांव की स्थिति का पता चलता है वो लोग शादी से इंकार कर देते हैं।

22 साल बाद गांव में गूंजी शहनाई
जानकारी के मुताबिक गांव में बिजली, पानी, चिकित्सा और सड़क जैसी मूलभूत सुविधाओं का अभाव है। इस गांव में एक सरकारी हैंडपंप है, लेकिन उसमें से खारा पानी आता है। इतना ही नहीं गांव तक जाने के लिए सीधा सड़क संपर्क भी नहीं है। यही वजह है कि इस गांव में कोई भी अपने बेटी की शादी नहीं करना चाहता। हालांकि करीब 22 साल बाद 23 वर्षीय पवन कुमार पहले शख्स बने, जिनकी बारात इस गांव से निकली।

ग्रामीणों ने जमकर मनाया जश्न
29 अप्रैल, 2018 को पवन कुमार की शादी थी। इसकी तैयारी काफी जोर-शोर से की गई थी। पवन कुमार दूल्हा बनकर घोड़ी पर बैठे और जब शहनाइयां बजीं तो दूर-दूर तक गांव के लोगों जमकर जश्न मनाया। पवन कुमार की शादी मध्य प्रदेश में हुई है। इससे पहले 1996 में पिछली बारात इस गांव में शादी हुई थी।