4 जुलाई का इतिहास : 4 जुलाई 1789 को ईस्ट इंडिया कंपनी ने पेशवा और निज़ाम के साथ टीपू सुल्तान के ख़िलाफ़ संधि की थी!

Posted by

4 जुलाई सन 1776 ईसवी को अमरीका के तत्कालीन 13 राज्यों के प्रतिनिधियों ने फिलाडेल्फिया नगर में इस देश की स्वतंत्रता के घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किये।

1776, अमरीकी स्वतन्त्रता की घोषणा।

1914, बर्दुन का युद्ध समाप्त हो गया।

1996, रूस के राष्ट्रपति बोरिस येल्तसिन फिर से चार वर्ष के लिए राष्ट्रपति चुने गए।

1997, अमरीकी यान ‘सोजर्नर’ मंगल ग्रह पर पहुँचा।

1998, जापान ने मंगल ग्रह के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए ‘प्लेनेट-बी’ नामक अपना पहला अंतराग्रहिक मिशन भेजा।

1998, ब्रिटेन के एक पावरबोट ‘द केवल एंड वायरलेस एडवेंचर’ ने 74 दिन 20 घंटे 38 मिनट में पृथ्वी की परिक्रमा कर सबसे तेज विश्व भ्रमण का रिकार्ड बनाया।

2001, भारत ने पाकिस्तान के बंदी नागरिकों को रिहा किया।

2003, पाकिस्तान में शिया मस्जिद में हुए बम धमाके में 44 लोग मारे गये।

2005, आस्ट्रेलिया में डॉल्फ़िन की एक नई प्रजाति स्नबफ़िन का पता लगाया गया।

2008, लगभग आठ साल बाद चीन और ताईवान के बीच सीधी विमान सेवा शुरु हुई। पहला विमान ताइवान के तायोयुआन अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर उतरा।
=============
4 जुलाई का इतिहास
1= 1698 – ब्रिटेन के थॉमस सेवरी ने पहले व्यवसायिक स्टीम इंजन का पेटेंट हासिल किया.

2= 1751 – स्वीडन के रसायनशास्त्री और खदान विशेषज्ञ फ्रेडरिक क्रोन्स्टलर निकेल नामक धातु का पता लगाने में सफल हुए.

3= 1760 – मराठा सेना ने दिल्ली पर कब्जा किया.

4= 1760 – मीर जाफर के बेटे मिरान की गंडक नदी के किनारे बिजली गिरने से मौत हुई.

5= 1776 – अमरीका के 13 राज्यों के प्रतिनिधियों ने फिलाडेल्फिया नगर में इस देश की स्वतंत्रता के घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर किये. इसी लिए इस दिन को अमेरिका की आजादी के तौर पर जाना जाता है.

6= 1778 – पर्शिया ने अर्जेटिना के खिलाफ युद्ध की घोषणा की.

7= 1789 – ईस्ट इंडिया कंपनी ने पेशवा और निजाम के साथ टीपू सुल्तान के खिलाफ संधि की.

8= 1819 – अमेरिका ने पहला बचत बैंक ‘बैंक ऑफ सेविंग इन न्यूयॉर्क’ शुरू हुआ.

9=1838 – ब्रिटेन में हसकर कोयला खान दुर्घटना में 26 बच्चों की मौत हुई.

10=1848 – फ्रांसवा शाटोब्रेयां नामक फ़्रांसीसी शायर का निधन हुआ। जिन्होने फ़्रांसीसी साहित्य की सराहनीय सेवा की है.

11= 1865 – मशहूर अंग्रेजी उपन्यास एलिस इन वंडरलैड का प्रकाशन हुआ.

12= 1879 – स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बासुदेव बलवंत फड़के को गिरफ्तार कर लिया गया.

13= 1883 – चेक गणराज्य के विख्यात लेखक फ्रैन्टस कैफ़का का जन्म हुआ.

14= 1884 – स्टॉक एक्सचेंज दाउ जोंस ने अपना पहला स्टॉक इंडेक्स प्रकाशित किया.

15= 1886 – कनाडा की पहली अंतरमहाद्यीपीय ट्रेन ब्रिटिश कोलंबिया के पोर्ट मूडी पहुंची.

16= 1886 – न्यूयॉर्क ट्रिब्यून छपाई मशीन का इस्तेमाल करने वाला पहला अखबार बना.

17= 1890 – इडाहो अमेरिका का 43वां प्रांत बना.

18= 1897 – इतावली वैज्ञानिक मार्कोनी ने लंदन में रेडियो का पेटेंट कराया.

19= 1914 – बर्दुन का युद्ध समाप्त हुआ.

20= 1928 – लंदन में पहली बार रंगीन टीवी कार्यक्रम का प्रसारण हुआ.

21=1934 – लियो जिलार्ड ने परमाणु बम के चेन रिएक्शन का पेटेंट ​कराया.

22= 1946 – द्वीप समूह फिलीपीन को अमरिका से स्वतंत्रता मिली.

23= 1947 – ब्रिटिश संसद के सामने भारतीय स्वतंत्रता बिल का प्रस्ताव रखा गया था. जिसके तहत देश का भारत और पाकिस्तान में बंटवारा हुआ.

24= 1952 – अमेरिकी कांग्रेस ने प्यूर्टो रिको के संविधान को मंजूरी दी.

25= 1962 – फ्रांस के राष्ट्रपति ने अलजीरिया की आजादी की घोषणा की.

26= 1968 – वियतनाम पर युद्ध में मारे गए अमेरिकी सैनिकों के आंकड़े जारी होने के बाद युद्ध बंद करने का दवाब बढ़ा.

27= 1970 – 105 यात्रियों वाला हवाई जहाज स्पेन में लापता हो गया.

28= 1971 – अमेरिकी रॉक बैंड ‘द डोर्स’ के प्रसिद्ध गायक जिम मॉरिसन अपने पेरिस स्थित घर में मृत पाए गए.

29= 1979 – दूसरे हावड़ा ब्रिज नाम से कोलकाता में मशहूर विद्यासागर सेतु का निर्माण शुरू हुआ.

30= 1990 – मक्का से मीना जाने वाली सुरंग में भगदड़ मचने से 1,426 हज यात्रियों की मौत हुई.

31=1996 – रूस के राष्ट्रपति बोरिस येल्तसिन पुन: चार वर्ष हेतु राष्ट्रपति निर्वाचित.

32= 1997 – अमेरिकी यान ‘सोजर्नर’ मंगल ग्रह पर पहुँचा.

33= 1998 – चेक गणराज्य की याना नावोत्ना ने विम्बलडन टेनिस का एकल ख़िताब जीता.

34= 1998 – ब्रिटेन के एक पावरबोट ‘द केवल एंड वायरलेस एडवेंचर’ ने 74 दिन 20 घंटे व 38 मिनट में यात्रा पूरी करके सबसे शीघ्र विश्व भ्रमण का रिकार्ड तोड़ा.

35= 1998 – जापान ने मंगल ग्रह के बारे में जानकारी हासिल करने के लिए ‘प्लेनेट-बी’ नामक अपना प्रथम अंतराग्रहिक मिशन भेजा.

36= 2001 – भारत द्वारा पाकिस्तान के नागरिकों (बंदियों) की रिहाई के निर्देश.

37= 2003 – पाकिस्तान में मस्जिद पर हुए हमले में 44 मारे गये.

38= 2005 – आस्ट्रेलिया में डाल्फ़िन की एक नई प्रजाति स्नबफ़िन खोजी गई.
=============
4 जुलाई
————-
भारत के लिए आज का दिन कभी न भुलाया जा सकने वाला है. 1947 में आज ही के दिन ब्रिटिश पार्लियामेंट के सामने भारतीय स्वतंत्रता बिल का प्रस्ताव रखा गया था. जिसके तहत देश का भारत और पाकिस्तान में बंटवारा हुआ.

जुलाई की 18 तारीख को भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम स्वीकृत हुआ और 15 अगस्त 1947 के दिन भारत दो हिस्सों में बंट गया. इस अधिनियम में भारत और पाकिस्तान के राजनीतिक प्रतिनिधियों को अपने अपने देशों के लिए संविधान तैयार करने की छूट दी गई थी.

भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम के तहत उत्तर पश्चिमी सीमावर्ती प्रांत, पश्चिमी पंजाब के प्रांत, सिंध, बलूचिस्तान और पूर्वी बंगाल के क्षेत्रों को मिलाकर पाकिस्तान बना और बाकी संयुक्त प्रांत भारत में आए. लक्षद्वीप और अंडमान और निकोबार के द्वीप भी भारतीय अधिकार में आए.

बिल में प्रस्तावित समझौता माउंटबेटेन प्लान भी कहलाता है. माउंटबेटेन भारत के अंतिम वायसरॉय थे और स्वतंत्र भारत के गवर्नर जनरल बने. पंडित जवाहरलाल नेहरू भारत के प्रथम प्रधानमंत्री बने और मुहम्मद अली जिन्ना पाकिस्तान के पहले गवर्नर जनरल.

*************

हज़ारों वर्ष से रेडइंडियन्स अमरीका में रहे थे यहॉ तक कि 15 वीं ईस्वी शताब्दी के अंत में योरोपियों ने इस भूमि पर क़दम रखा। योरोपीय देशों ने अमरीका के किसी न किसी भाग को अपने अधिकार में ले लिया। धीरे धीरे अमरीका की ओर योरोपियों का पलायन बढ़ता गया और वे अमरीका में अपने खेतों और कारखानों में काम करने के लिए बहुत से काले दासों को अपने साथ ले गये।

*************

18वीं ईसवी शताब्दी के आरंभ से अमरीका में स्वधीनता संघर्ष छिड़ा।

पलायन करके अमरीका पहुँचने वालों ने ब्रिटेन की सेना की सहायता से फ्रांस की सेना को अमरीका से बाहर निकाल दिया और कुछ समय बाद वे ब्रिटेन के विरुद्ध भी उठ खड़े हुए। और सन 1775 से दोनों पक्षों के बीच युद्ध आरंभ हो गया। 1778 में ब्रिटेन को पराजय हुई और व्यवहारिक रुप से उसने अमरीका की स्वतंत्रता को स्वीकार कर लिया। 19वीं शताब्दी में अमरीका की स्थिति मज़बूत हुई उन्नीसवी शताब्दी के अंतिम वर्षो से इस देश ने वर्चस्ववादी नीतियां अपना लीं। और विशेषकर द्वितीय विश्व युद्ध के बाद इस देश ने दूसरे देशों के मामलों में हस्तक्षेप और दूसरे क्षेत्रों पर अतिक्रमण आरंभ कर दिया जो अब तक जारी है।

*************

4 जुलाई सन 1848 ईसवी को फ्रांसवा शातेब्रेयां नामक फ़्रांसीसी शायर का निधन हुआ। वे सन 1768 ईसवी में उनका हुआ जन्में और शिक्षा प्राप्ति के बाद उन्होंने कुछ समय अमरीका और कुछ समय ब्रिटेन में बिताया वे फ़्रांस की क्रान्ति और नेपोलियन बोनापार्ट के समर्थकों में नही थे उन्होंने फ़्रांसीसी साहित्य की सराहनीय सेवा की है।

*************

4 जूलाई सन 1946 ईसवी को द्वीप समूह फिलीपीन को अमरिका से स्वतंत्रता मिली। स्पेन की सरकार के पिटठु पुर्तग़ाली खोजकर्ता माज़लान ने 1521ईसवी में पहले योरोपीय के रुप में इस भूमि पर क़दम रखा। इसके 50 वर्ष बाद स्पेन ने फिलीपीन पर अपना क़दम जमा लिया जो तीन शताब्दियों तक जारी रहा। बाद में फिलीपीन में स्वतंत्रता संग्राम की भावनाएं उभरीं दूसरी ओर अमरीकी युद्धपोतों ने स्पेन की सेना पर आक्रमण किया जिसके परिणाम स्वरूप स्पेन ने 12 लाख डॉलर में फिलीपीन को अमरीका के हाथों बेंच दिया। इसके बावजूद फिलीपीन की जनता ने स्वतंत्रता के लिए संघर्ष जारी रखा और सन 1941 ईसवी में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापान ने इस पर अधिकार कर लिया किंतु युद्ध के अंत में अमरीका ने पून: इसे हथिया लिया अंतत: सन 1946 में यह देश स्वतंत्रता प्राप्त करने में सफल हुआ।

*************

13 तीर सन 1350 हिजरी शम्सी को ईरान में साहित्य के विख्यात प्रोफेसर डॉक्टर मोहम्मद मोईन का निधन हुआ। उन्होंने फार्सी साहित्य और संस्कृति की सेवा में कई वर्षों तक कठिन परिश्रम किए। सन 1293 में उत्तरी ईरान के रश नगर में उनका जन्म एक धार्मिक परिवार में हुआ था।

उन्होंने अरबी साहिरत्य और दर्शनशास्त्र की भी शिक्षा प्राप्त की। सन 1321 हिजरी शम्सी में डॉक्ट्रेट की डिग्री प्राप्त करने के बाद वे तेहरान विश्व विद्यालय में साहित्य की शिक्षा देने लगे। उन्होंने हिकमते इशराक़ व फरहंगे ईरान आईनए इसकंदर आदि प्रसिद्ध पुस्तकें लिखी हैं।

*************

20 शव्वाल सन 817 हिजरी क़मरी को ईरान के शब्दकोष विशेषज्ञ मज़्दुद्दीन अबू ताहिर मोहम्मद बिन याक़ूब फिरोज़ाबादी का निधन हुआ। उन्होंने हदीस, तफ़सीर और दूसरे धार्मिक विषयों का व्यापक अध्ययन किया और इन विषयों से संबंधित कई पुस्तकें लिखीं। किंतु अधिकतर उनकी गतिविधियां शब्दकोष से संबंधित थीं। मज्दुद्दीन अबू ताहिर मोहम्मद बिन याक़ूब फिरोज़ाबादी ने क़ामूस नामक प्रसिद्ध अरबी शब्दकोष का संकलन किया।