#व्हाट्सएप ग्रुप पर चल रहे चाइल्ड पॉर्नोग्राफ़ी मामले के बड़े रैकेट का पर्दाफाश!

#व्हाट्सएप ग्रुप पर चल रहे चाइल्ड पॉर्नोग्राफ़ी मामले के बड़े रैकेट का पर्दाफाश!

Posted by

नई दिल्ली।भूख दौलत की हो या शौहरत की या पेट की बढ़ जाती है तो अक्सर लोग जुर्म, गुनाह, पाप कर बैठते हैं, लोगों ने अपनी ज़रूरतों, खाहिशों, मकसदों को इतना अधिक बढ़ा लिया है कि इन को प्राप्त करने के चक्कर में कोई भी बुरा काम करने को बुरा नहीं समझ रहे हैं जबकि एक आदमी के लिए अच्छा जीवन यापन करने के लिए बहुत ज़यादा चीज़ों को ज़रूरत नहीं होती है| फिर भी हर कोई ‘कुछ पाना’ चाहता है, पता नहीं लोग क्या पाना चाहते हैं कि उसकी चाहत में जो मिल सकता है उसके भी मौके गँवा देते हैं और खुद के लिए मुसीबतें पैदा कर लेते हैं, ये ‘कुछ पाने’ की प्रवर्ति का बढ़ना लोगों को अपराध की तरफ धकेल रहा है, ‘कुछ’ का पाना इतना ज़यादा हो जाता है कि ‘कुछ’ भी हाथ नहीं आता है|

सीबीआई ने व्हाट्सएप ग्रुप पर चल रहे चाइल्ड पॉर्नोग्राफी मामले के बड़े रैकेट का पर्दाफाश किया है। न्यूज एजेंसी एएनआई से मिली जानकारी के मुताबिक सीबीआई जांच में पता चला है कि इस रैकेट के व्हाट्सएप ग्रुप में 40 देशों के 119 सदस्य थे। इनमें से 66 भारतीय, 56 पाकिस्तानी और 29 अमेरिकी समेत करीब 40 देशों के लोग शामिल थे।
ANI

Verified account

@ANI
Child Pornography Racket Case: CBI probe revealed that the Whats app group had 119 members from 40 countries. Maximum members were from India, followed by Pakistan and then USA. Forensic examination of electronic gadgets is being done by C-DAC Thiruvananthapuram

गौरतलब है कि इससे पहले इस मामले में फरवरी के तीसरे हफ्ते में व्हाट्सएप ग्रुप के पांच एडमिन पर केस दर्ज किया गया था। बता दें कि दो साल से चल रहे किड्स एक्स एक्स एक्स नाम के इस ग्रुप का हैंडलर उत्तर प्रदेश के कन्नौज का एक 20 साल का स्नातक बेरोजगार निखिल वर्मा है। करीब दो महीने की सघन जांच के बाद सीबीआई ने निखिल वर्मा को गिरफ्तार किया। इसके अलावा इसमें मुंबई का सत्येंद्र ओमप्रकाश चौहान, दिल्ली के निरंकारी कॉलोनी का नफीस राजा, दिल्ली के भैरों मार्ग निवासी जाहिद उर्फ जाकिर और नोएडा का आदर्श शामिल हैं।

सीबीआई के मुताबिक ये लड़के बच्चों की पोर्नोग्राफी लोड कर ग्रुप में हर रोज नए सदस्य जोड़ रहे थे। पूछताछ से ही पता चलेगा कि वे पोर्नोग्राफी की शूटिंग भी करते थे या दूसरे साइटों के वीडियो ग्रुप में शामिल करते थे। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर सीबीआई चाइल्ड पोर्नोग्राफी से जुड़े पांच मामलों की जांच कर रही है।