सीरिया में तुर्की के सैन्य अभियान का मूल उद्देश्य किया है?

सीरिया में तुर्की के सैन्य अभियान का मूल उद्देश्य किया है?

Posted by

तुर्क राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोगान ने कहा है कि उत्तरी सीरिया में तुर्क सेना के सैन्य अभियान का उद्देश्य, आतंकवादियों को ख़त्म करना है।

अर्दोगान ने तुर्की की राजधानी अंकारा में एक भाषण देते हुए कहा, सीरिया में तुर्क सेना का ऑप्रेशन का उद्देश्य सीरियाई इलाक़ों पर क़ब्ज़ा करना नहीं है, बल्कि इसका मूल उद्देश्य आतंकवादियों को सफ़ाया करना है।

तुर्क राष्ट्रपति ने सीरिया में आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई की बात ऐसी स्थिति में कही है कि जब तुर्की पर सीरिया में सक्रिय आतंकवादी गुटों के समर्थन के आरोप लगते रहे हैं। मीडिया में ऐसे कितने ही दस्तावेज़ सामने आ चुके हैं, जिनसे यह साबित होता है कि अंकारा, दाइश और नुस्रा फ़्रंट जैसे आतंकवादी गुटों का समर्थन करता रहा है और तुर्क सरकार अभी तक इन दस्तावेज़ों को ग़लत साबित नहीं कर सकी है।

इन वास्तविकताओं के मद्देनज़र, तुर्क राष्ट्रपति का यह दावा कि तुर्क सेना सीरिया में आतंकवादियों के सफ़ाए लिए गई है, सफ़ेद झूठ लगता है।

इसके अलावा, हालिया दिनों में तुर्की ने आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में रूस और ईरान के साथ खड़े होने के संकेत दिए थे, लेकिन शनिवार को सीरिया पर अमरीका, ब्रिटेन और फ़्रांस के हवाई हमलों का समर्थन करके एक बार फिर अपनी नीयत स्पष्ट कर दी है।

इस संदर्भ में राजनीतिक मामलों क विशेषज्ञ अली बाला हुसैन ओफ़ का कहना है कि तुर्की द्वारा सीरिया पर अमरीका के हमले का समर्थन, अप्रत्याशित नहीं था। इसलिए कि नाटो का सदस्य होने के कारण, वह पश्चिमी देशों का समर्थन करने के लिए मजबूर है।

हालांकि तुर्की की विपक्षी पार्टियों एवं राजनीतिक टीकाकारों ने सीरिया पर अमरीकी हमले के लिए तुर्क सरकार के समर्थन की कड़ी आलोचना की है और इसे अतार्किक क़दम और राष्ट्रीय हितों के ख़िलाफ़ क़रार दिया है।

=======

Alka Lamba

Verified account

@LambaAlka

शर्म से झुका है सिर इस चमन का ,
बेटियां मुल्क़ की बेआबरू हो रही हैं ,

बाद अपहरण के भी महफूज़ थी सीता ,
कैसी शराफत उस दौर के रावण में थी…….✍🏻