#कांग्रेस का #चुनाव आयोग से सवाल, क्या भाजपा सुपर चुनाव आयोग है, इस चुनाव आयोग पर कोई कैसे भरोसा करे?

#कांग्रेस का #चुनाव आयोग से सवाल, क्या भाजपा सुपर चुनाव आयोग है, इस चुनाव आयोग पर कोई कैसे भरोसा करे?

Posted by

कांग्रेस ने पांच राज्यों के चुनाव की तारीखें घोषित करने के समय को लेकर और पुराने कुछ फैसलों के उदाहरण देकर हुए उसकी स्वतंत्रता पर सवाल उठाया है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने चुनाव आयोग को संबोधित ट्वीट में पूछा है कि क्या भाजपा सुपर चुनाव आयोग है।

दरअसल चुनाव आयोग शनिवार को पांच राज्यों के चुनावी कार्यक्रम पहले दोपहर 12 बजे घोषित करने वाला था लेकिन अचानक समय बदलकर शाम तीन बजे कर दिया गया। इस पर कांग्रेस प्रवक्ता व पूर्व मंत्री रणदीप सिंह सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि तीन तथ्य हैं खुद निष्कर्ष निकालें। कांग्रेस का कहना था कि दोपहर एक बजे राजस्थान के अजमेर में प्रधानमंत्री मोदी जनसभा को संबोधित करेंगे इसलिए आयोग ने अचानक घोषणा का समय बदला। सुरजेवाला ने लिखा चुनाव आयोग की आजादी?

Randeep Singh Surjewala

@rssurjewala
3 Facts- Draw your own conclusions.

1. ECI announces a PC at 12.30 today to announce elction dates to the 5 states.

2. PM Modi is addressing a rally in Ajmer, Rajasthan at 1 PM today.

3. ECI suddenly changes the time of announcement and PC to 3 PM.

Independence of ECI?

पीएम मोदी घोषणाएं कर सकें इसलिए बदला समय : सुरजेवाला
चुनावी तारीखों की घोषणा के तुरंत बाद सुरजेवाला ने एक और ट्वीट किया। उन्होंने लिखा प्रिय चुनाव आयोग, भाजपा के आईटी सेल के राष्ट्रीय प्रमुख ने कर्नाटक चुनाव की तारीखें चुनाव आयोग से पहले ट्वीट कर दी थीं। चुनाव आयोग ने हिमाचल के साथ गुजरात चुनावों को हटा दिया ताकि पीएम मोदी कई घोषणाएं कर सकें। आयोग ने फिर से प्रधानमंत्री को राजस्थान में ऐसा करने में सक्षम बनाने के लिए तारीखों की घोषणा तय समय से स्थगित कर आगे बढ़ाया। क्या भाजपा सुपर चुनाव आयोग है?

Randeep Singh Surjewala

@rssurjewala
Dear ECI,

1.National BJP IT Cell Head tweeted election dates of Knt. even before ECI

2.ECI delinked Gujarat elections from Himachal to enable PM Modi to make a slew of announcements.

3.ECI again deferred PC to enable PM Modi to do the same in Rajasthan

Is BJP the ‘Super EC’?


काकावाणी ®
‏‏————-

@AliSohrab007
चुनाव आयोग 12.30 बजे
5 राज्यो के चुनाव तिथि की घोषणा करने वाला था
BJP ने कहा मोदी 1 बजे राजस्थान में रैली करेंगे
चुनाव आयोग फौरन अपनी प्रेस कांफ्रेंस का समय
बदल कर 3.30 कर दिया
ऐसा चुनाव आयोग देश के लिए
निष्पक्ष चुनाव करा सकता है?
चुनाव आयोग है या BJP का दलाल आयोग?
@ModiLeDubega


आपका रवीश
‏————-

@RavishKumar_
आ गया चुनाव, बिक गया चुनाव आयोग, घट गए पेट्रोल के दाम, उठ गए श्री राम, जाग गया हिंदुत्व, आ गए फर्जी रक्षक, खो गया विकास, फैल गया प्रोपेगेंडा

अब यही सब मुद्दा लेकर फिर जीतेगे देशद्रोही,

अब भी आग्रह करता हूँ जनता और विपक्ष से अपने लिए न सही देश के लिए बैन कर दो EVMs

एक विनती 🙏

Hardik Patel
‏‏————-
Verified account

@HardikPatel_
लोकतंत्र की मजबूती के लिए यह जरूरी है कि देश की आम जनता का भरोसा चुनावी प्रणाली में बना रहे।आज पूरे देश में ईवीएम मशीनों पर सवाल खड़े हो रहे हैं।ऐसी स्थिति में चुनाव के बाद एक एक महीने तक ईवीएम यूं ही कहीं पड़े रहे और उसकी गिनती एक महीने बाद हो,जनता का शक भरोसे में बदलने लगता हैं

द वायर हिंदी
‏‏————-
Verified account

@thewirehindi
क्या चुनाव आयोग भाजपा का चुनाव प्रभारी बन गया है?


Om Thanvi

@omthanvi
———————
क्या चुनाव आयोग भाजपा का चुनाव प्रभारी बन गया है?

– रवीश कुमार

इस चुनाव आयोग पर कोई कैसे भरोसा करे? ख़ुद ही बताता है कि साढ़े बारह बजे प्रेस कांफ्रेंस है। फिर इसे तीन बजे कर देता है।

MP Congress

Verified account

@INCMP
———————
क्या चुनाव आयोग भाजपा के हाथों की कठपुतली है..?

1- आयोग ने 12:30 बजे 5 राज्यों के चुनाव कार्यक्रम घोषित करने के लिये पत्रकार वार्ता बुलाई।

2- मोदी और पियूष गोयल को आज रैली में घोषणायें करना था इसलिये पत्रकार वार्ता का समय बदलकर 3:00 कर दिया गया।

ऐसे होंगे निष्पक्ष निर्वाचन..?

Dheeraj Gurjar

Verified account

@dgurjarofficial
———————
चुनाव आयोग ने सिर्फ मोदी जी की रैली के लिए अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस 1:00 बजे की जगह 3:00 बजे करने का निर्णय ले लिया , देश में अगर चुनाव आयोग तक सरकार के इशारों पर काम करता है आम जनता किस पर ही भरोसा करेगी ?

Wasiuddin Siddiqui

@WasiuddinSiddi1
———————
चुनाव आयोग ने फुल पेज का विज्ञापन देकर करोड़ों खर्च करके ये बताने की कोशिश कर रहा है कि ईवीएम सही है आखिर बैलेट पेपर से चुनाव करवाने में परेशानी क्यों विपक्ष आवाज़ उठाये वरना ईवीएम के हेर फेर का खेल जारी रहेगा और लोकतन्त्र का खून होता रहेगा
#EVMHataoModiBhagao #EvmKillsDemocracy