कश्मीर : सुरक्षाबलों के साथ हुई झड़प में हिज़्बुल कमांडर मारा गया

कश्मीर : सुरक्षाबलों के साथ हुई झड़प में हिज़्बुल कमांडर मारा गया

Posted by

भारत प्रशासित कश्मीर में हिज़्बुल मुजाहेदीन के एक वरिष्ठ कमांडर के मारे जाने की सूचना है।

भारतीय सूत्रों के अनुसार उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा के हंदवाड़ा क्षेत्र में भारतीय सुरक्षा बलों के साथ हुई भीषण झड़प में घाटी में सक्रीय सबसे बड़े छापामार संगठन हिज़्बुल मुजाहेदीन का एक वरिष्ठ कमांडर अपने एक साथी के साथ मारा गया है।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, भारत प्रशासित कश्मीर के हंदवाड़ा क्षेत्र में गुरुवार को भारतीय सुरक्षा बलों और हिज़्बुल मुजाहेदीन के छापामारों के बीच भीषण झड़प हुई जिसमें हिज़्बुल मुजाहेदी के वरिष्ठ कमांडर मन्‍नान वानी के अपने एक साथी के साथ मारे जाने की सूचना है। इस मुठभेड़ की ख़बर फैलते ही स्थानीय लोगों ने ज़ोरदार प्रदर्शन किया, जिसके कारण प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच भी झड़पें हुईं। इन झड़पों में भारतीय सुरक्षा बलों ने एक बार फिर पैलेट गन का इस्तेमाल किया जिसके कारण कई प्रदर्शनकारी गंभीर रूप से घायल हुए हैं जिनमें एक प्रदर्शनकारी की स्थिति चिंताजनक बताई गई है।

रिपोर्ट के अनुसार हिज़्बुल मुजाहेदीन के मारे गए कमांडर मन्नान वानी जनवरी 2017 में छापामार संगठन में शामिल हुए थे और वह जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा ज़िले के ताकिपोरा गांव के रहने वाले थे। मन्नान वानी को उनके घरवाले आगे की पढ़ाई के लिए अमेरिका भेजने की तैयारी कर रहे थे और वह इसके लिए काफ़ी उत्साहित भी थे। 26 वर्षीय मन्‍नान ‘स्‍ट्रक्‍चरल एंड जिओ मोर्फोलाजिकल स्‍टडी ऑफ लोलाब वैली’ पर पीएचडी कर रहे थे। मन्‍नान को वर्ष 2016 में एक इंटरनेशनल कॉन्‍फ्रेंस में ‘वॉटर, एनवॉयरमेंट, इकोलॉजी और सोसायटी’ पर पेपर्स देने की वजह से पुरस्‍कार भी दिया जा चुका था।

उल्लेखनीय है कि कश्मीर में सक्रिय अलगाववादी गुटों से अब ऐसे युवक भी जुड़ रहे हैं जो उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं और यह एक ऐसा विषय है जिसपर भारतीय सरकार को गंभीर रूप से विचार करना पड़ेगा। इस बीच मन्नान वानी के मारे जाने की सूचना जैसे ही हंदवाड़ा और उसके आसपास के क्षेत्रों में पहुंची स्थानीय लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए उन्होंने मन्नान वानी के समर्थन में नारा लगाते हुए प्रदर्शन किए।