8 नवंबर की त्रासदी को भारत में हमेशा कलंक के रूप में देखा जाएगा : राहुल गांधी

Posted by

भारत में नोटबंदी के 2 साल पूरे होने पर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने राजधानी नई दिल्ली सहित पूरे भारत में विरोध प्रदर्शन किया।

नई दिल्ली में मोदी सरकार के इस फ़ैसले के ख़िलाफ़ कि जिसके तहत उस समय के 500 और 1000 के नोटों को चलन से बाहर कर दिया गया था, कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने रिज़र्व बैंक आफ़ इंडिया के बाहर विरोध प्रदर्शन किया और सरकार विरोधी नारे लगाए। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत, आनंद शर्मा, मुकुल वास्निक और हरियाणा के पूर्व मुख्य मंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और दूसरे नेताओं ने भी इस विरोध प्रदर्शन में भाग लिया। पुलिस ने दिल्ली में रिज़र्व बैंक के सामने प्रदर्शनकारियों को ज़्यादा देर तक प्रदर्शन करने नहीं दिया और सभी को हिरासत में लेकर संसद मार्ग पुलिस स्टेशन रवाना कर दिया, जिन्हें कुछ देर बाद रिहा कर दिया गया। अशोक गहलोत ने कहा कि नोटबंदी से देश की ग़रीब जनता और छोटे कारोबारियों को काफ़ी नुक़सान हुआ है।

उधर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए नोटबंदी को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि 8 नवंबर की त्रासदी को भारत में हमेशा कलंक के रूप में देखा जाएगा।