हुज़ूर पाक “ﷺ” खाने से पहले नमक क्यूँ खाते थे?

हुज़ूर पाक “ﷺ” खाने से पहले नमक क्यूँ खाते थे?

Posted by

दोस्तों अस्सलाम वालेकुम व रहमतुल्ला हे व बरकातहू

हम आज आपको नमक की वो सुन्नत बताने जा रहे है जो हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो वाले वसल्लम की ज़िन्दगी का हिस्सा है और नमक हर मुस्लिम के जीवन का हिस्सा है.दोस्तों हमें फक्र करना चाहिए कि हम उस नबी के उम्मती हैं जिनकी हर एक बात को जब वह शक की निगाह से देखते हैं और उसमें रिसर्च करते हैं तो वह उनकी बातों को सोच पाते हैं और उनकी हर एक सुन्नत में वह हर का मामला देखते हैं.

दोस्तों साइंस का कहना है कि ज्यादा नमक खाना आपकी सेहत को नुकसान पहुंचाता है और यह ब्लड प्रेशर को बढ़ा देता है लेकिन दोस्तों क्या आप जानते हैं अगर मोहम्मद सल्लल्लाहो वाले वसल्लम की सुन्नत के मुताबिक नमक का इस्तेमाल करें अगर एक लिमिटेड मात्रा में किया जाये तो 70 बीमारियों से निजात देता है दोस्तों कितनी अफसोस की बात है कि आज कोई भी जिंदा नहीं है कि वह सुन्नतों को जिंदा करें और लोगों तक पहुंचाएं.

खाना खाने से पहले जरा सा नमक खाना आपकी जिसमें क्या फायदा पहुंचाता है और मोहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम की सुन्नत के मुताबिक नमक कैसे खाना चाहिए और यह हमें ७० बीमारी से कैसे निजात आ जाता है और वह कौन सी बीमारी है दोस्तों बिला शुभ नमक एक ऐसा जुज़ है जो अल्लाह ताला ने आसमान से जमीन पर उतारा है इस को अरबी में मिल्ह और अंग्रेजी में साल्ट कहा जाता है.

नमक में है ये करामत
बहुत जमाने से नमक को जायका के लिए यूज किया जा रहा है और यह बदन बुनियादी चीजों को मजबूत बनाने में मदद करता है दोस्तों अगर हमारे जिस्म में नमक कम या ज्यादा हो जाए तो हमें हमारे जिसमें बीमारी जन्म ले लेती है.

बहुत से लोग नमक की बुराइयां करते हुए नजर आते हैं लेकिन इसमें नमक का कोई कसूर नहीं है हालाकि आज की जिंदगी में नमक का फायदा नहीं उठाया जा रहा है.

हुजुर की सुन्नत है
दोस्तों में नमक खाना हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो वसल्लम की सुन्नत है और इसको होना बिला शुभा फायदेमंद बन सकता है अगर हम अपने रोज के खाने में इसे सुन्नत के मुताबिक खाना शुरु कर दें दोस्तों हुजूर सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम का माामूल था कि अक्सर रोटी नमक के साथ खाते थे.

लेकिन ऐसे खाए
नमक खाने का मसनून तरीका ये है कि खाने से पहले और खाने के बाद नमक चख लिया जाए दोस्तो एक सहाबी से रिवायत है कि रसूलल्लाह सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने इरशाद फरमाया कि नमक खाने से पहले और खाने के बाद चक लेना चाहिए क्योंकि इसमें 70 बीमारियों से ज्यादा शिफा है.