राजस्थान प्रशासनिक सेवा के मुस्लिम अधिकारियों का तेज़ी से सेवानिवृत्त होने से घटती तादाद पर समुदाय को सोचना होगा

राजस्थान प्रशासनिक सेवा के मुस्लिम अधिकारियों का तेज़ी से सेवानिवृत्त होने से घटती तादाद पर समुदाय को सोचना होगा

Posted by

।अशफाक कायमखानी।जयपुर।
===========
आज से करीब पांच सात साल पहले राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) के मुस्लिम अधिकारियों की तादाद पचास से अधिक ऊंगलियों पर गिनी जा सकती थी। लेकिन उक्त अधिकारियों की सेवानिवृत्ति के मुकाबले नये अधिकारियों का सेवा मे आने की बहुत धीमी गति होने का परिणाम यह निकला कि अब मात्र छब्बीस अधिकारी सेवा मे कार्यरत है। जिनमे से भी तीन अधिकारी फतेह मोहम्मद , ताज मोहम्मद राठोड़ व अजीजुल हसन गौरी अगले कुछ महिनो मे सेवानिवृत्त होने वाले है।

हालांकि राजस्थान के मुस्लिम समुदाय मे शिक्षा के प्रति जाग्रति मे बडी तेजी के साथ इजाफा होना माना जा रहा है। लेकिन हायर ऐजुकेशन के साथ साथ मुकाबलाती परीक्षा पास करके अधिकारी बनने का चलन समुदाय मे काफी कम देखने को मिल रहा है। इसके विपरीत चिकित्सक व इंजीनियर बनने की तादाद जरुर बढ रही है। पर सरकार की मशीनरी मे भी अगर इंजीनियर व चिकित्सक आने की कोशिशें करे तो एक तरह से पूरानी कसर पूरी की जा सकती है। उक्त बने अधिकारियों मे से अधीकांश ने जयपुर मे नानाजी की हवेली मे संचालित कोचिंग सेंटर मे कोचिंग पाने के बाद बनना पाया जाता है। 1980-81 मे नानाजी की हवेली मे संचालित कोचिंग एक अर्शे तक चलने का शानदार परीणाम आना देखा गया। लेकिन जब से उक्त कोचिंग का बंद होना हुवा कि माने हमारे बच्चों का सलेक्ट होना ही बंद हो गया है। आज के मोजुदा हालात से दो चार हो चुके लोगो मे से सेवा निवृत्त भारतीय प्रशासनिक सेवा IAS के अधिकारी अशफाक हुसैन ने जयपुर के झोटवाड़ा हे सिविल सेवा की तैयारी करवाने के लिये ऐ एच इंस्टीट्यूट शूरु किया है। दूसरी तरफ समाजी तंजीम ने वक्फ बोर्ड से मिलकर नानाजी की हवेली मे फिर से शानदार कोचिंग पहले की तरह शुरु करने का इरादा जताया है।

मोजुदा समय मे राजस्थान मे कुल छब्बीस राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) के सेवारत अधिकारियों मे से सीधे तौर चयनितो मे असलम शैर खान, असलम मेहर, अबू सूफीयाना चोहान, अंजुम ताहिर शमा, इकबाल खान, हाकम खान, जमील अहमद कुरेशी, मोहम्मद अबू बक्र, मोहम्मद फूरकान, मोहम्मद सलीम, नसीम खान, रुबी अंसार, शाहीन अली खान, सना सिद्दिकी, शीराज अली जैदी, सत्तार खान, एवं रेवेन्यू सेवा से तरक्की पाकर राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) के अधिकारी बनने वालो मे अकील खान, अय्यूब खान, अमानुल्लाह खान, अजीजुल हसन गौरी, फतेह मोहम्मद खान, जावेद अली, सैय्यद मुकर्रम शाह, शौकत अली, ताज मोहम्मद राठोड़ व ताहिर खान का नाम आता है।

कुल मिलाकर यह है कि राजस्थान प्रशासनिक सेवा के मुस्लिम अधिकारियों की निरंतर घटती संख्या पर समुदाय को मंथन करके किसी कार्ययोजना को बनाकर उस पर अमल करने पर गम्भीरता से विचार करना चाहिए। अन्यथा परीणाम बडे घातक साबित हो सकते है।