मेरठ : जमकर हुआ पथराव, फ़ायरिंग : खूनी संघर्ष के बाद सांप्रदायिक तनाव

मेरठ : जमकर हुआ पथराव, फ़ायरिंग : खूनी संघर्ष के बाद सांप्रदायिक तनाव

Posted by

DEMO PICS

यूपी के मेरठ शहर में मामूली विवाद को लेकर खूनी संघर्ष हो गया। इस दौरान जमकर पथराव और गोलीबारी हुई, जिसमें आठ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

सरधना थाना क्षेत्र के दुर्वेशपुर गांव में रविवार को मामूली कहासुनी को लेकर अनुसूचित जाति और दूसरे समुदाय के युवक आमने-सामने आ गए। दोनों पक्षों के लोगों में संघर्ष के साथ पथराव और गोलीबारी हो गई, जिसमें एक पक्ष से पांच और दूसरे से तीन लोग घायल हो गए। एक ग्रामीण को गोली लगी। बता दें कि पुलिस फोर्स के सामने ही कुछ युवकों ने हथियार लहराए। इसके बाद पुलिस फोर्स को बढ़ता देख भीड़ तितर-बितर हो गई। पुलिस ने घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया।

पुलिस के अनुसार सरधना क्षेत्र के दुर्वेशपुर निवासी अनुसूचित जाति के अंकुर पुत्र सुरेश और समीर पुत्र रमजान के बीच चार दिन पूर्व बाइक की साइड लगने को लेकर विवाद हुआ था। दो दिन पूर्व ग्राम प्रधान एवं गण्यमान्य लोगों ने समझौता करा दिया था। अंकुर की चचेरी बहन की शनिवार को शादी थी। शादी के बाद रविवार को अंकुर अपने रिश्तेदार को खिर्वा छोड़कर लौट रहा था।

आरोप है कि इसी बीच रास्ते में समीर के पिता रमजान से कहासुनी हो गई। मामला इतना बढ़ा कि दोनों पक्षों के लोग लाठी-डंडे व धारदार हथियार लेकर आमने-सामने आ गए। यहां जमकर पथराव और कई राउंड फायरिंग हुई।

संघर्ष के दौरान अनुसूचित जाति से गंगाशरण को गोली लग गई। उधर, ग्रामीणों ने कंट्रोल रूम पर दो समुदायों के बीच संघर्ष की जानकारी दी। इस पर यूपी 100 पुलिस मौके पर पहुंची। उसके सामने भी दोनों पक्षों के लोग एक-दूसरे पर पथराव करते रहे। बाद में एसओ सरधना धर्मेंद्र राठौर और एसपी देहात राजेश कुमार मौके पर पहुंचे और लाठीचार्ज कर भीड़ को खदेड़ा।

संघर्ष में गंगाशरण पुत्र रिशाल, अंकुर पुत्र सुरेश समेत तीन लोगों के अलावा समीर पुत्र रमजान, रमजान पुत्र फकीर, शौकत पुत्र अब्दुल हकीम, बंटी पुत्र माजिद और कमरजहां पुत्री निजामुद्दीन घायल हुए। शौकत, हकीम और गंगाशरण को जिला अस्पताल भेज दिया गया।

इस मामले में एक पक्ष से अंकुर पुत्र सुरेश व दूसरे पक्ष से रमजान पुत्र फकीर ने थाने में तहरीर दी है। उधर, अलीजान पुत्र सगीर ने भी संघर्ष के दौरान घर में घुसकर 80 हजार रुपये व अन्य सामान लूटकर ले जाने की तहरीर दी।

आपस में निपटा लेंगे मामला
दुर्वेशपुर में हुआ संघर्ष पहला नहीं है। पूर्व में भी अनुसूचित जाति और दूसरे समुदाय के लोगों के बीच विवाद हो चुका है। प्रधान नसीम खां का कहना है कि कुछ शरारती तत्व सांप्रदायिक संघर्ष की सूचना फैला देते हैं। जिस कारण घटना बड़ा रूप ले लेती है। पूर्व में भी हुए विवाद मिल बैठकर निबटा लिए थे। यह महज दो पक्षों का विवाद है। गांव में शांति बनाए रखने का प्रयास किया जा रहा है।

 

source : Amar Ujala