अफ़ग़ानिस्तान के हज़रतुल्लाह जजाइ ने मचा दिया तहलका : 62 गेंदों में खेली 162* रनों की आतिशी पारी

अफ़ग़ानिस्तान के हज़रतुल्लाह जजाइ ने मचा दिया तहलका : 62 गेंदों में खेली 162* रनों की आतिशी पारी

Posted by

आयरलैंड के खिलाफ खेले गए दूसरे टी-20 में अफगानिस्तान के सलामी बल्लेबाज हजरतुल्लाह जजाइ ने तहलका मचा दिया। उन्होंने मैदान पर रनों की बरसात कर दी। इस दौरान उन्होंने कई रिकॉर्ड्स भी तोड़ेः

देहरादून के राजीव गांधी स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में सलामी बल्लेबाज हजरतुल्लाह ने 62 गेंदों में 16 छक्कों और 11 चौकों की मदद से 162* रनों की आतिशी पारी खेली। इस दौरान उनका 261.29 का स्ट्राइक रेट रहा।

हजरतुल्लाह ने अपनी इस तूफानी के दौरान टी-20 के कई धाकड़ बल्लेबाजों के रिकॉर्ड तोड़ दिए। इस दौरान उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैक्सवेल (145*) र आरोन फिंच (156) के रिकॉर्ड को तोड़ा। टी-20 में सबसे ज्यादा व्यक्तिगत स्कोर बनाने का रिकॉर्ड फिंच (172) के ही नाम हैं, जिसे वह तोड़ नहीं पाए।

हालांकि, हजरतुल्लाह ने फिंच के एक टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच में सर्वाधिक छक्के जड़ने का रिकॉर्ड तोड़ दिया। फिंच के नाम टी-20 में 14 छक्के दर्ज था, लेकिन अब यह रिकॉर्ड हजरतुल्लाह ने 16 छक्के लगाकर तोड़ दिया।

बता दें कि आयरलैंड के खिलाफ अफगानिस्तान ने टी-20 में सर्वाधिक रन बनाने का विश्व रिकॉर्ड तोड़ दिया। देहरादून के राजीव गांधी स्टेडियम में खेले गए दूसरे टी-20 में अफगानिस्तान ने आयरलैंड के खिलाफ तीन विकेट के नुकसान पर 278 रनों का पहाड़ सा स्कोर खड़ा किया। इसके साथ ही उसने टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया।

Nadeem Pathan

@NadeemP06671293
खेल की तारीफ करता हु मैं
आयरलैंड के खिलाफ टॉस जीतकर पहले खेलने उतरी अफगान टीम ने हजरतुल्लाह जजाई की तूफानी शतकीय पारी (नाबाद 162 रन, 62 गेंद, 16 छक्के, 11 चौके) की बदौलत सनसनी फैला दी.


अनूप त्रिपाठी

@anooptripathi14
T20 क्रिकेट में एक पारी में सबसे ज्यादा रन और सबसे ज्यादा छक्के का रिकॉर्ड अपने नाम करने पर हज़रतुल्लाह जजाई को बहुत बहुत बधाई,t20 क्रिकेट में सबसे ज्यादा टीम रन,सबसे ज्यादा छक्के एक पूरी टीम से सारे रिकॉर्ड अफगानिस्तान टीम के नाम,बहुतबहुत बधाई


DilliNews7

@news7dilli
15 Oct 2018
अफगानिस्‍तान के हजरतुल्‍लाह जजाई ने एक ओवर में लगातार छह छक्‍के जड़कर इतिहास रच दिया. यह कारनामा करने वाले वह पहले अफगान और कुल छठे बल्‍लेबाज हैं.