#डिजिटल_इंडिया! करंट से मृत युवक को ज़िंदा करने के लिए ज़मीन में गाड़ा

#डिजिटल_इंडिया! करंट से मृत युवक को ज़िंदा करने के लिए ज़मीन में गाड़ा

Posted by

Sagar_parvez

उज्जैन: समीपस्थ गांव पीपली में शुक्रवार शाम करंट से युवक की मौत के बाद शव को अंधविश्वास के चलते परिजन ने जमीन में गाड़ दिया। उनका विश्वास था कि ऐसा करने से युवक जिंदा हो जाएगा। हालांकि देर रात पुलिस और कुछ ग्रामीणों की समझाइश के बाद शव बाहर निकाल लिया गया। पोस्टमार्टम कर शव परिजन को सौंप दिया गया।

पुलिस के अनुसार गांव में शाम करीब 4.30 बजे हनुमान जन्मोत्सव मनाया जा रहा था। इस दौरान बवंडर उठा और हड़कंप मच गया, तभी 20 वर्षीय दीपक यादव पर 11 केवी लाइन का विद्युत तार गिर गया। वह करंट से बुरी तरह झुलस गया। उसे बड़नगर के अस्पताल में ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। इसके बाद परिजन शव को पीपली के दि बॉक्स ऑफिस सिनेमा के सामने ले गए और शव का मुंह बाहर रखकर शेष हिस्सा जमीन में गाड़ दिया। ऊपर से पानी और नमक छिड़क दिया गया।

ग्रामीणों का कहना था कि ऐसा करने से युवक फिर जिंदा हो जाएगा। गांव में चालीस साल पहले भी करंट लगने से सांस रुक जाने के बाद रमेश पाटीदार जिंदा हो चुका है। वह आज तक जीवित है। उसे अब रमेश करंट के नाम से जाना जाता है।