#AsiaCup2018_बांग्लादेश ने पाक को 37 रन से शिकस्त दी, फ़ाइनल में बांग्लादेश का सामना टीम इंडिया से होगा

Posted by

मुशफिकुर रहीम (99) भले ही एक रन से शतक से चूक गए लेकिन विषम परिस्थितियों में खेली गई उनकी शानदार पारी और मुस्तफिजुर रहमान (4/43) की उम्दा गेंदबाजी के दम पर बांग्लादेश ने बुधवार को एशिया कप के करो या मरो के सुपर फोर मुकाबले में पाकिस्तान को 37 रन से शिकस्त देकर फाइनल में प्रवेश कर लिया। पाक की हार के साथ ही क्रिकेट प्रेमियों की दो चिर प्रतिद्वंद्वियों भारत-पाक के बीच एक और महामुकाबला देखने की हसरत अधूरी रह गई।


अब खिताबी मुकाबले में शुक्रवार को बांग्लादेश का सामना टीम इंडिया से होगा। बांग्लादेश से मिले 240 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी सरफराज अहमद की टीम 50 ओवर में नौ विकेट पर 202 रन ही बना पाई।

हालांकि इमाम उल हक (83) एक छोर पर डटे रहे पर शोएब मलिक (30) और आसिफ अली (31) को छोड़कर कोई भी उनका साथ नहीं दे सका। इमाम ने मलिक के साथ चौथे विकेट के लिए 67 और अली के साथ छठे विकेट के लिए 71 रन की साझेदारी निभाई। इमाम को महमूदुल्लाह ने लिटन के हाथों कैच करवाकर उनकी पारी का अंत किया।

उन्होंने अपनी पारी में 105 गेंदों का सामना कर दो चौके और एक छक्का जड़ा। अन्य कोई भी बल्लेबाज बांग्लादेश के बल्लेबाजों के साथ टिक नहीं पाया। बांग्लादेश की ओर से मुस्तफिजुर रहमान ने दो, जबकि सौम्य सरकार, मिराज और रूबेल ने एक-एक विकेट झटका।

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरा बांगलादेश एक समय 12 रन पर तीन शीर्ष विकेट गंवाकर संघर्ष कर रहा था ऐसे में रहीम ने मोहम्मद मिथुन (60) के साथ चौथे विकेट के लिए 144 रन की साझेदारी कर टीम को चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा करने में भी मदद की।

बावजूद इसके टीम पूरे ओवर नही खेल पाई और 48.5 ओवर में 239 रन पर सिमट गई। रहीम और मिथुन ने पाकिस्तान के गेंदबाजों को 29 से अधिक ओवर तक सफलता से महरूम रखा। इस जोड़ी को हसन अली ने अपनी ही गेंद पर मिथुन को कैच कर तोड़ा।

मिथुन ने अपनी पारी के दौरान 84 गेंदों का सामना कर चार चौके जड़े। इसके बाद रहीम ने महमूदुल्लाह (25) के साथ छठे विकेट के लिए 30 रन जोड़कर स्कोर 200 के करीब पहुंचाया। रहीम, शाहीन पर चौके के साथ 99 रन के निजी स्कोर पर पहुंचे लेकिन एक गेंद बाद विकेटकीपर सरफराज अहमद को कैच दे बैठे और एक रन से शतक से चूक गए।

रहीम ने अपनी पारी में 116 गेंदों का सामना कर नौ चौके लगाए। इसके बाद मेहदी हसन (12) और मशरफे मुर्तजा (13) ने स्कोर 239 तक पहुंचाया। पाकिस्तान की ओर से जुनैद खान ने चार जबकि शाहीन अफरीदी और हसन अली ने दो-दो विकेट चटकाए।

दूसरी बार खिताबी मुकाबले में आमना-सामना
भारत और बांगलदेश की टीमें दूसरी बार एशिया कप के खिताबी मुकाबले में आमने-सामने होगी। हालांकि वनडे प्रारूप में दोनों पहली बार फाइनल खेलेंगी। पिछली बार (2016) यह टी-20 प्रारूप में खेला गया था। तब भारत ने फाइनल में बांग्लादेश को उसी के घर में आठ विकेट से मात देकर पहली बार टी-20 और कुल छठी बार यह खिताब जीता था।