#BREAKING NEWS _जनता गुस्से में है_एनकाउंटर राज में बीजेपी को मिला क़रारा जवाब, गोरखपुर और फूलपुर में हारे!

Posted by

उत्तर प्रदेश में दो सीटों पर हुए उपचुनाव में जनता ने बीजेपी को करार झटका दिया है, यहाँ मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री अपने घरों में हारे हैं, पानी की तरह पैसा बहाने के बाद भी बीजेपी अपनी हार नहीं बचा पायी

उत्तर प्रदेश की गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव के नतीजे आ गए हैं। दोनों सीटों पर बीजेपी को हार का मुंह देखना पड़ा है। फूलपुर में सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल ने बीजेपी के कौशलेंद्र पटेल को 59613 वोटों से हरा दिया है। फूलपुर यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की सीट थी। वहीं गोरखपुर में भी बीजेपी उम्मीदवार उपेंद्र शुक्ल को हाल पचानी पड़ेगी। यहां सपा के प्रवीण निषाद ने जीत दर्ज की है, बस थोड़ी ही देर में इसकी औपचारिक घोषणा होने वाली है।

UP By- Election Result 2018 LIVE UPDATE
==================
05.02PM: फूलपुर लोकसभा सीट पर समाजवादी पार्टी की बड़ी जीत। सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल ने बीजेपी के कौशलेंद्र पटेल को 59613 वोटों से हराया। सपा को 342796, बीजेपी को 283183, अतीक अहमद को 48087, कांग्रेस को 19334 वोट मिले हैं।

04.07 PM: फूलपुर में 28वें राउंड की गिनती पूरी, सपा प्रत्याशी नागेंद्र पटेल को अभी तक 305172 वोट, बीजेपी के कौशलेंद्र पटेल को 257821 वोट, अतीक अहमद को 46489 मत, कांग्रेस प्रत्याशी मनीष मिश्रा को 16788 वोट मिले हैं। सपा 47351 वोटों से आगे हैं।

उत्तर प्रदेश की गोरखपुर लोकसभा सीट मुख्यमंत्री आदित्यनाथ का गढ़ मानी जाती है। गोरखपुर की संसदीय सीट पर पिछले 26 सालों से मठाधीशों का ही कब्जा रहा है। 1991 से जहां योगी आदित्यनाथ के गुरू महंत अवेद्यनाथ सांसद रहे वहीं 1998 से इस सीट पर खुद सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कब्जा रहा है। लेकिन लोकसभा के उपचुनावों में आज महंत योगी के इस किले को सपा ने ढाह दिया है।
इसे कुछ ऐसा भी कहा जा सकता है कि गोरखपुर की संसदीय सीट पर पिछले 29 साल से गोरखनाथ मठ का एकाधिकार बना हुआ था और इसे बीजेपी का मजबूत दुर्ग कहा जाता था। 1989 से ही इस सीट पर गोरखनाथ मंदिर से जुड़ी हस्तियों का कब्जा रहा है। और इस सीट पर भगवा ध्वज फहराता रहा है। लेकिन इस बार हुए उपचुनाव में सपा के प्रवीण कुमार निषाद ने बाजी मारते हुए दिखाई दे रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद यहां से पिछले पांच बार से सांसद रहे हैं और पिछले साल मुख्यमंत्री बनने के बाद ही उन्होंने सीट से इस्तीफा दिया । योगी की इस सीट पर बीजेपी ने उपेंद्र शुक्ला को मैदान में उतारा है। बीजेपी को मात देने के लिए बसपा समर्थित सपा उम्मीदवार प्रवीण निषाद हैं जिन्होंने सुबह से ही ईवीएम की गड़बड़ी का आरोप लगाना शुरू कर दिया था।

अगर गोरखपुर लोकसभा सीट पर सिलसिलेवार नजर डालें तो पाएंगे की आजादी के बाद पहली बार 1952 में लोकसभा चुनाव हुआ तो कांग्रेस ने जीत दर्ज की और 1967 तक ये सीट कांग्रेस के पास रही।

लेकिन 1967 में हुए चौथे लोकसभा चुनाव में गोरखनाथ मंदिर से मंहत दिग्विजयनाथ ने निर्दलीय रूप में जीत दर्ज की। इसके बाद 1970 में मंहत अवैद्यनाथ ने ये सीट जीती। 1971 में कांग्रेस ने एक बार फिर वापसी की लेकिन बदलाव के बयार में 1977 में हुए चुनावों में लोकदल के हरिकेश बहादुर ने जीत दर्ज की। बता दें कि 1984 में कांग्रेस के मदन पाण्डेय ने यहां से आखिरी बार जीत दर्ज की। इसके बाद आज तक कांग्रेस पार्टी वापसी नहीं कर सकी।

बता दें कि आदित्यनाथ के गुरु महंत अवैद्यनाथ 1989,1991 और 1996 के लिए बीजेपी के उम्मीदवार के रूप में जीत दर्ज की थी ।अवैद्यनाथ की विरासत को योगी आदित्यनाथ ने संभाला और मुख्यमंत्री बनने तक वह 1998 से लगातार पांच बार यहां से सांसद बनते रहे। वह 1998, 1999, 2004, 2009 और 2014 में बीजेपी के उम्मीदवार के तौर पर जीते।

ANI UP

Verified account

@ANINewsUP
Congress candidates from #Phulpur and #Gorakhpur Lok Sabha seats have lost their deposits. #UPByPolls

|
गोरखपुर और फूलपुर में जबरदस्त वोटों से पीछे होने के बाद उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि हमें बिल्कुल भी उम्मीद नहीं थी कि बसपा के वोट भी इस तरह से सपा के खाते में चले जाएंगे।

उन्होंने कहा कि चुनाव के अंतिम परिणाम आने के बाद हम समीक्षा करेंगे । भविष्य में कांग्रेस, सपा और बसपा के साथ होने को लेकर भी हम प्लान तैयार करेंगे। साथ ही, हमारी पार्टी 2019 के लोकसभा चुनाव को जीतने के लिए रणनीति बनाएगी।

डिप्टी सीएम ने आगे कहा कि कम वोटों का असर पड़ा है। शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक में भारी संख्या में लोगों ने वोट नहीं डाले, जिसका ये नतीजा हुआ है।

We didn’t expect that BSP’s vote will be transferred to SP in such a manner. We will analyze after seeing the final results & prepare for a situation in future when BSP, SP & Congress can come together & also make our strategy for winning 2019 elections: KP Maurya, Deputy CM pic.twitter.com/XOLQrg7cG4

— ANI UP (@ANINewsUP) March 14, 2018

ANI UP

Verified account

@ANINewsUP
5m5 minutes ago
More
Polling percentage has gone down which affected the result of the two seats. We will analyse and work on the places where we lacked and will work harder & perform better in the 2019 elections: Mahendra Nath Pandey, UP BJP Chief on UP bypoll results

ANI UP

Verified account

@ANINewsUP
14m14 minutes ago
More
Behenji ka bhi bahot aashirwad tha. Ek hi vichaardhara ke sabhi parties ek huyin aur humaari jeet huyi. Jeet ka shrey Akhilesh ji, Behenji Mayawati ji aur Phulpur ki janta ko deta hoon: Nagendra Singh Patel, Samajwadi Party’s winning candidate

===========