इतिहास

#भारत का इतिहास पार्ट 71 : ख़िलजी वंश के अंतिम साशक और पतन!

#भारत का इतिहास पार्ट 71 : ख़िलजी वंश के अंतिम साशक और पतन!

11th June 2018 at 4:15 am 0 comments

ग़यासुद्दीन ख़िलजी =========== ग़यासुद्दीन ख़िलजी मालवा के ख़िलजी वंश का द्वितीय सुल्तान था, जिसका शासन काल (1439-1509 ई.) शान्तिपूर्ण रहा। उसने मरने के एक वर्ष पहले ही अपने बड़े पुत्र को गद्दी पर बैठा दिया था। महमूद ख़िलजी =========== महमूद ख़िलजी मालवा के सुल्तान महमूद ग़ोरी (1432-36 ई.) का वज़ीर […]

Read more ›
#भारत का इतिहास पार्ट 70 : ख़िलजी वंश : ‘क़ुतुबुद्दीन मुबारक ख़िलजी’

#भारत का इतिहास पार्ट 70 : ख़िलजी वंश : ‘क़ुतुबुद्दीन मुबारक ख़िलजी’

11th June 2018 at 4:02 am 0 comments

क़ुतुबुद्दीन मुबारक ख़िलजी ================== क़ुतुबुद्दीन मुबारक ख़िलजी (1316-1320 ई., अंग्रेज़ी: Qutbuddin Mubarak Khalji) ख़िलजी वंश के सुल्तान अलाउद्दीन ख़िलजी का तृतीय पुत्र था। अलाउद्दीन के प्रभावशाली व्यक्तियों में से एक मलिक काफ़ूर इसका संरक्षक था। कुछ समय बाद मलिक काफ़ूर स्वयं सुल्तान बनने का सपना देखने लगा और उसने षड़यंत्र […]

Read more ›
#भारत का इतिहास पार्ट 69 : ख़िलजी वंश : ‘शिहाबुद्दीन उमर ख़िलजी’

#भारत का इतिहास पार्ट 69 : ख़िलजी वंश : ‘शिहाबुद्दीन उमर ख़िलजी’

11th June 2018 at 3:53 am 0 comments

  शिहाबुद्दीन उमर ख़िलजी ========== शिहाबुद्दीन उमर ख़िलजी अलाउद्दीन ख़िलजी का पुत्र था। मलिक काफ़ूर के कहने पर अलाउद्दीन ने अपने पुत्र ‘ख़िज़्र ख़ाँ’ को उत्तराधिकारी न बना कर अपने 5-6 वर्षीय पुत्र शिहाबुद्दीन उमर को उत्तराधिकारी नियुक्त कर दिया। अलाउद्दीन की मृत्यु के बाद काफ़ूर ने शिहाबद्दीन को सुल्तान […]

Read more ›
छह जून – 1944 का वह दिन जब हिटलर जंग हार गया

छह जून – 1944 का वह दिन जब हिटलर जंग हार गया

6th June 2018 at 11:40 pm 0 comments

Sagar_parvez ============== जितनी यह बात सही है कि जंग विचारों, शक्तियों, संसाधनों और हथियारों के टकराव की कहानी होती है, उतनी ही यह बात भी सही है कि अंततः जीत किसी एक मुल्क के प्रधान की होती है. इसी तर्ज पर कहा और माना जा सकता है कि जंग जनरलों […]

Read more ›
कार्ल मार्क्स की वो पाँच बातें, जिसने हमारी ज़िंदगी बदल दी

कार्ल मार्क्स की वो पाँच बातें, जिसने हमारी ज़िंदगी बदल दी

5th June 2018 at 11:06 pm 0 comments

आप इस वीकेंड पर क्या करना चाहेंगे? लॉन्ग ड्राइव पर जाना चाहेंगे या फिर किसी लाइब्रेरी में जाकर किताबें पढ़ेंगे? क्या आप उनलोगों में से हैं जो अन्याय, गैर-बराबरी और शोषण को खत्म होते देखना चाहते हैं? अगर हां, तो आपके लिए आज का दिन यानी 5 मई बहुत ही […]

Read more ›
अरब का शेर👇👇👇👇सद्दाम हुसैन 👇👇👇👇सद्दाम ज़िन्दा थे तो पूरा अरब महफ़ूज़ था

अरब का शेर👇👇👇👇सद्दाम हुसैन 👇👇👇👇सद्दाम ज़िन्दा थे तो पूरा अरब महफ़ूज़ था

5th June 2018 at 12:22 am 0 comments

Mohd Ahmed ================== सद्दाम हुसैन एक मर्तबा रात को इराक़ की सरहदों पर गश्त कर रहे थे। बहुत दूर एक बस्ती नज़र आई, सद्दाम ने अपने साथियों से कहा कि उस बस्ती में चलते हैं लोगों की खबर गीरी लेते हैं तो साथियों ने मना किया कि रात काफी हो […]

Read more ›
2 जून का इतिहास :: 2 जून 1963 को तुर्की के विख्यात शायर नाज़िम हिकमत का निधन हुआ

2 जून का इतिहास :: 2 जून 1963 को तुर्की के विख्यात शायर नाज़िम हिकमत का निधन हुआ

2nd June 2018 at 9:47 pm 0 comments

1979 : पोप जॉन पॉल द्वितीय की पहली घर यात्रा =========== पोप जॉन पॉल द्वितीय आज ही के दिन पोप बन कर पहली बार अपनी मातृभूमि लौटे थे वर्ष 1979 में दो जून को ही पोप जॉन पॉल द्वितीय पोप की पदवी सँभालने के बाद पहली बार अपनी मातृभूमि पोलैंड […]

Read more ›
#आज़ादी_की_एक_गुमनाम_कहानी : बुलंदशहर का ‘क़त्ले आम’ जो ‘काला आम’ हो गया

#आज़ादी_की_एक_गुमनाम_कहानी : बुलंदशहर का ‘क़त्ले आम’ जो ‘काला आम’ हो गया

31st May 2018 at 2:31 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ================= बुलंदशहर में क़त्ल ए आम जो बना काला आम ‘कत्ले आम’ लोगों की जुबान पर नहीं चढ़ा और धीरे-धीरे यह अपभ्रंश होकर ‘काला आम चौराहा’ कहा जाने लगा। बुलंदशहर में काला आम नाम का चौराहा जंग ए आज़ादी का मुख्य गवाह है, शहर के इस चौराहे ने […]

Read more ›
उन्हें मंदिर में ऊपरी वस्त्र खोलकर ही जाना होता था, देना होता था स्तन टैक्स

उन्हें मंदिर में ऊपरी वस्त्र खोलकर ही जाना होता था, देना होता था स्तन टैक्स

30th May 2018 at 2:17 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ================ नांगेली : “मंदिर में उन्हें ऊपरी वस्त्र खोलकर ही जाना होता था, देना होता था स्तन टैक्स” अपने स्तन काटकर स्तन ढकने के अपने अधिकार की लड़ाई और स्तन टैक्स के खिलाफ लड़ाई की म शाल (19 वी सदी में) जगाने वाली स्त्री नांगेली की कहानी को […]

Read more ›
”कुलसूम सयानी” भारत की एक महान महिला स्वातंत्रता सेनानी

”कुलसूम सयानी” भारत की एक महान महिला स्वातंत्रता सेनानी

30th May 2018 at 1:57 am 0 comments

Sikander Kaymkhani =================== ”कुलसूम सयानी” भारत की एक महान महिला स्वातंत्रता सेनानी 27 मई को कुलसूम सयानी का हुआ था निधन हफ़ीज़ किदवई 17 साल की उम्र में जिसने मुल्क़ की आज़ादी के ख़्वाब को अपनी आँखों में संजोया और सब कुछ छोड़ गाँधी जी के पाँव के पीछे अपने […]

Read more ›