इतिहास

उस चीज़ के लिए तुम औरत की तरह मत रोवो जिसकी हिफ़ाज़त तुमने मर्द की तरह की ही ना हो

उस चीज़ के लिए तुम औरत की तरह मत रोवो जिसकी हिफ़ाज़त तुमने मर्द की तरह की ही ना हो

23rd December 2017 at 2:08 am 0 comments

दो जनवरी 1492 को स्पेन में अंतिम मुसलमान शासकों के ग्रेनाडा साम्राज्य का अंत हुआ और पूरे देश में ईसाई शासकों का राज्य फिर से स्थापित हो गया. इसी दिन किंग फेर्डिनांड पंचम और रानी ईसाबेला प्रथम की ईसाई सेनाओं के सामने ग्रेनाडा के मूर शासकों ने घुटने टेके थे. […]

Read more ›
स्पेन…उन्हीं सलाहकारों और उल्मा के सिर काटकर शहर के चौराहों पर लटकाये गये…।।

स्पेन…उन्हीं सलाहकारों और उल्मा के सिर काटकर शहर के चौराहों पर लटकाये गये…।।

23rd December 2017 at 2:04 am 0 comments

उंदलिस (स्पेन) का आखरी बादशाह “अबू-अब्दुल्लाह” पहाड़ी पे बने अपने क़िले पर खड़ा बच्चों की तरह रो रहा था , उसकी नज़रें पहाड़ी से नीचे अलह़मरा शहर की तरफ थीं, अपनी बादशाहत के दौरान उसने इतनी ग़लतियां की थीं कि आज उसकी सल्तनत का सूर्यास्त होने वाला था और वह […]

Read more ›
बेगम शरीफ़ह हामिद अली दुनिया की टॉप 100 फ़ेमनिस्टों में शुमार हैं

बेगम शरीफ़ह हामिद अली दुनिया की टॉप 100 फ़ेमनिस्टों में शुमार हैं

23rd December 2017 at 1:58 am 0 comments

12 दिसम्बर 1883 को बड़ोदा गुजरात के एक उंचे ख़ानदान में पैदा हुई शरीफ़ह हामिद अली के वालिद का नाम जस्टिस अब्बास तैयबजी था। जो हिन्दुस्तान की जंग ए आज़ादी के अज़ीम रहनुमा थे। और वलिदा का नाम आमिना था। 1910 में शरीफ़ह हामिद अली की शादी हामिद अली से […]

Read more ›
ये वो स्मारक है जिसे भोपाल रियासत का सबसे पहला उद्योग होने का गौरव प्राप्त है

ये वो स्मारक है जिसे भोपाल रियासत का सबसे पहला उद्योग होने का गौरव प्राप्त है

23rd December 2017 at 1:55 am 0 comments

शाहजहांनाबाद का पुतली घर बस स्टैंड। इसके पास ही एक लंबी मीनार है, जिसे पुतली घर के रूप में जाना जाता है। ये वो स्मारक है जिसे भोपाल रियासत का सबसे पहला उद्योग होने का गौरव प्राप्त है, लेकिन अतिक्रमण और जिम्मेदारों की अनदेखी के चलते अब यह सिर्फ खंडहर […]

Read more ›
खगोल वैज्ञानिक और इंजिनियर_अल फ़रग़ानी!

खगोल वैज्ञानिक और इंजिनियर_अल फ़रग़ानी!

23rd December 2017 at 1:45 am 0 comments

अल फ़रग़ानी खिलाफ़ते अब्बासिया के दौर का मशहूर खगोल वैज्ञानिक और इंजिनियर हुआ करता था, उसके सम्मान में नासा ने चाँद पर मौजूद एक क्रेटर का नाम alfraganus रखा है, वो अपने दौर का एक मशहूर खगोल विज्ञानी था, उसने खगोल विज्ञानं पर जो किताब लिखी उसका नाम Kitāb fī […]

Read more ›
अबू नस्र मुहम्मद अल-फ़राबी

अबू नस्र मुहम्मद अल-फ़राबी

23rd December 2017 at 1:43 am 0 comments

अल-फराबी (872-951 ईसवी) ============ अबू नस्र मुहम्मद अल-फराबी अरबी में अल-मुअल्लीम अल-थानी के नाम से जाने जाते हैं। उन्होंने न सिर्फ अरस्तू और प्लेटो के विचारों को मध्य एसिया तक फैलाया बल्कि यूनानी दर्शन शास्त्र को संरक्षित और विकसित भी किया। उन्होंने दर्शन, गणित, संगीत और आध्यात्मविज्ञान के लिए महत्वपूर्ण […]

Read more ›
#Bihar_अब सिकंदर मंज़िल नहीं दिखती!

#Bihar_अब सिकंदर मंज़िल नहीं दिखती!

23rd December 2017 at 1:38 am 0 comments

पटना के फ़्रेज़र रोड(अब मज़हरुल हक़ रोड) से गुजरते हुए अब सिकंदर मंज़िल नहीं दिखता है। इसके आगे बनी एक इमारत ने इसे ढँक लिया है। सिकंदर मंज़िल में अब ढ़ेर सारे किरायेदारों का ठिकाना है। अब इस इमारत को देख कर यह यक़ीन कर पाना मुश्किल होगा कि इसने […]

Read more ›
ख़िलाफत़ उस्मानिया के ख़लीफ़ा अब्दुल हमीद की ग़ैरत जोश मे आयी और…

ख़िलाफत़ उस्मानिया के ख़लीफ़ा अब्दुल हमीद की ग़ैरत जोश मे आयी और…

23rd December 2017 at 1:34 am 0 comments

यह शायद अट्ठारहवीं शताब्दी के आख़िर की बात है जब फ्रांस मे एक स्टेज ड्रामे मे नबी (स.अ.व.) की शान मे नाज़ेबा कलमात कहे गये और मज़ाक उड़ाया जा रहा था.! ख़बर तुर्की पहुंची तो बेचैनी फैल गयी, ख़िलाफ़त की जानिब से ख़लिफ़ा अब्दुल हमीद II ने एहतिजाज के लिये […]

Read more ›
2015 के नोबेल प्राइज़ से सम्मानित ‘अज़ीज़ संकार’

2015 के नोबेल प्राइज़ से सम्मानित ‘अज़ीज़ संकार’

23rd December 2017 at 1:29 am 0 comments

बात करने जा रहे हैं वो इतिहास का नहीं मौजूदा दौर का हीरो है. तुर्की के सवुर ज़िले में पैदा हुए अज़ीज़ संकार का जन्म 8 सितम्बर 1946 को हुआ.उन्हें तोमस लिंडाहल और पॉल एल. मोद्रीच के साथ साझा तौर पर 2015 का नोबेल प्राइज़ (केमिस्ट्री) दिया गया. उनको उनकी […]

Read more ›
दुनिया की सबसे बडी बादशाहत के ज़वाल की दास्तान

दुनिया की सबसे बडी बादशाहत के ज़वाल की दास्तान

23rd December 2017 at 1:26 am 0 comments

नुज़हत नाज़नीन खान =========== दुनिया की सबसे बडी बादशाहत ! तुर्की की उसमानी सलतनत की ज़वाल वो तबाही की दास्तान जिस में अहम किरदार निभाने वाले सिर्फ़ और सिर्फ़ नामनिहाद मुल्ले ,कठमुल्ले और जाहिल ,ज़मीर फ़रोश इमाम थे ! इनकी मफ़ाद परस्ती ने आज के भारतिय कठमुल्लों और इमामों की […]

Read more ›