साहित्य

सीमुर्ग़ की कहानी – पार्ट 3

सीमुर्ग़ की कहानी – पार्ट 3

11th January 2018 at 10:40 am 0 comments

हमने बताया था कि एक निर्धन व्यक्ति समुद्र में डूबकर आत्महत्या करना चाहता था, लेकिन सीमूर्ग़ ने उसकी सहायता की और उसे मछली दी जिसके पेट में हीरा और सोना भरा हुआ था। एक धोखेबाज़ व्यक्ति रास्ते में थोड़े से आटे के बदले में उससे मछली ले लिया करता था। […]

Read more ›
मलिक मुहम्मद और लंगड़े दैत्य की कहानी : पार्ट 5

मलिक मुहम्मद और लंगड़े दैत्य की कहानी : पार्ट 5

11th January 2018 at 10:38 am 0 comments

कहा जाता है कि पुराने समय में एक राजा था उसके सात पुत्र थे। 6 बेटे एक पत्नी से थे जबकि एक बेटा दूसरी पत्नी से था जिसका नाम मलिक मुहम्मद था। राजा ने अपने बेटों को सोने के पिंजड़े में बंद एक तोता लाने को कहा। छह के छह […]

Read more ›
मलिक मुहम्मद और लंगड़े दैत्य की कहानी : पार्ट 4

मलिक मुहम्मद और लंगड़े दैत्य की कहानी : पार्ट 4

7th January 2018 at 5:33 pm 0 comments

हमने आप लोगों को कहानी सुनाते हुए कहा था कि एक राजा था कि जिसके सात लड़के थे। छः बेटे एक पत्नी और दूसरा सौतेला था कि जिसका नाम मलिक मोहम्मद था। बेटे अपने बाप के सिंहासन पर बैठने के लिए सोने के पिंजरे में बंद तोते को लेने जाते […]

Read more ›
सीमुर्ग़ की कहानी – पार्ट 2

सीमुर्ग़ की कहानी – पार्ट 2

7th January 2018 at 5:29 pm 0 comments

हमने कहा था कि एक निर्धन व्यक्ति था जो अपने परिवार के साथ रहता था। काफ़ी प्रयास के बाद भी उसे कोई काम नहीं मिलता था। एक दिन जब वह निराश था और ख़ाली हाथ घर लौटना नहीं चाहता था, उसने समुद्र में कूदकर आत्महत्या का फ़ैसला किया। सीमूर्ग़ एक […]

Read more ›
अरे पगली ! बस तू भी ना !

अरे पगली ! बस तू भी ना !

7th January 2018 at 1:15 am 0 comments

Tbassum Siddiqui —————– पत्नी :– सुनो जी मुझे पाँच हज़ार रुपये दे दो पति :– नहीं है ! . . पत्नी :– तो चार हज़ार दे दो पति :– नही हैं ! . . पत्नी :– अच्छा, आज के बाद मुझे छूना भी मत, बात भी मत करना ! मेरी […]

Read more ›
*सुंदर पंक्तियां *- तो फिर .. उदासियों का .. हिसाब क्या रखें .. !!

*सुंदर पंक्तियां *- तो फिर .. उदासियों का .. हिसाब क्या रखें .. !!

7th January 2018 at 12:56 am 0 comments

Chaitali Khattar – Kanpur ================ *सुंदर पंक्तियां -* *समय की .. इस अनवरत बहती धारा में ..* *अपने चंद सालों का .. हिसाब क्या रखें .. !!* *जिंदगी ने .. दिया है जब इतना .. बेशुमार यहाँ ..* *तो फिर .. जो नहीं मिला उसका हिसाब क्या रखें .. !!* […]

Read more ›
लफ़्ज़ खो आए हैं मानी अपने, बात कह दें ख़मोशियां शायद!

लफ़्ज़ खो आए हैं मानी अपने, बात कह दें ख़मोशियां शायद!

6th January 2018 at 6:23 pm 0 comments

Dhruv Gupt ============= कुछ हवा में हैं तल्खियां शायद आंधियों में हो कुछ बयां शायद लफ़्ज़ खो आए हैं मानी अपने बात कह दें ख़मोशियां शायद अभी ज़िस्मों की आंच बाकी है आज उजड़ा है आशियां शायद उस जगह हर कोई अकेला है जिस जगह हैं बुलंदियां शायद बच्चे उलझे […]

Read more ›
आज की दुनिया की हक़ीक़त_एक मरा हुआ आदमी, एक ज़िंदा आदमी को मार रहा है!

आज की दुनिया की हक़ीक़त_एक मरा हुआ आदमी, एक ज़िंदा आदमी को मार रहा है!

6th January 2018 at 12:54 am 0 comments

RP विशाल ============== एक मरा हुआ आदमी एक ज़िंदा आदमी को मार रहा है। चीख़ रहे हैं दोनों ही- एक मारने की उत्तेजना में दूसरा मरने के ख़ौफ़ में। वह आदमी जो मार रहा है पहले ही अपने को मार चुका है। और उसके माथे पर सवार है भूत कि […]

Read more ›
श्रद्धांजलि 😢🙏जाने वो कौन सा देश जहां तुम चले गए…बहुत याद आओगी Rashmita 😢

श्रद्धांजलि 😢🙏जाने वो कौन सा देश जहां तुम चले गए…बहुत याद आओगी Rashmita 😢

5th January 2018 at 11:45 pm 0 comments

Pinky Rajpurohit ================== लिखते हुए हाथ कांप रहे हैं, रष्मीता और मेरी दोस्ती की शुरुआत न्यूज़ नेशन के शुरुआती दिनों के वक़्त हुई थी ट्रेनिंग के दौरान मेरी रूममेट भी रही। एक महीने एक साथ और न्यूज़ नेशन के दिनों की रिपोर्टिंग…. इस बीच ऑफिस में बताया गया कि रष्मीता […]

Read more ›
भयंकर शायरी…रोक दो मेरे जनाजे को अब  मुझमे जान आ रही हैं..

भयंकर शायरी…रोक दो मेरे जनाजे को अब मुझमे जान आ रही हैं..

3rd January 2018 at 4:08 pm 0 comments

Chaitali Khattar _ Kanpur =============== भयंकर शायरी रोक दो मेरे जनाजे को अब मुझमे जान आ रही हैं.. आगे से थोडा राईट ले लो दारु की दूकान आ रही हैं | “बोतल छुपा दो कफ़न में मेरे, शमशान में पिया करूंगा, जब खुदा मांगेगा हिसाब, तो पैग बना कर दिया […]

Read more ›